मतगणना स्थल पर प्रतिबंधित रहेगा मोबाइल

2019-05-16T06:00:48+05:30

डीएम ने राजनैतिक दल के प्रतिनिधियों को समझायी मतगणना की प्रकिया

MEERUT। जिला निर्वाचन अधिकारी/डीएम अनिल ढींगरा ने बुधवार को लोकसभा सामान्य निर्वाचन 2019 की मतगणना के संबंध में राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों के साथ एक बैठक की। बैठक में डीएम ने काउंटिंग के दौरान बरती जाने वाली सावधानियों की जानकारी दी साथ ही बताया कि परिसर में मोबाइल फोन प्रतिबंधित रहेगा।

8 बजे से शुरू होगी मतगणना

कलक्ट्रेट स्थित बचत भवन सभागार में डीएम ने बताया कि प्रात: 8 बजे से शुरू किया जाएगा। उन्होंने सभी अधिकारियों से कहा कि वह मतगणना के दिन प्रात: 6:30 पहुंचकर उन्हें सौपे गये दायित्वों को कुशलता से निर्वहन करें। मतगणना स्थल पर प्रात: 7 बजे प्रत्याशी व उनके निर्वाचन अभिकर्ताओं की उपस्थिति में स्ट्रांग रूम को खोला जाएगा। जनपद में धारा 144 प्रभावी है इसलिए मतगणना के परिणामों के बाद विजय जलूस पूर्ण प्रतिबंधित रहेगा। पास से ही मतगणना स्थल पर प्रवेश मिलेगा।

होगी वीडियोग्राफी

डीएम ने बताया कि भारत निर्वाचन आयोग के निर्देश पर मतगणना प्रारंभ करने से पूर्व ईवीएम स्ट्रांग रूम को आरओ, एआरओ, प्रत्याशियों निर्वाचन अभिकर्ताओं एवं भारत निर्वाचन आयोग के प्रेक्षक उपस्थिति में खोला जाएगा और इस प्रक्रिया की वीडियोग्राफी कराई जाएगी। डाक मतपत्रों को ट्रेजरी में सुरक्षित रखा गया है जिनको 23 मई की प्रात: सुरक्षाबलों एवं पार्टी प्रतिनिधियों के साथ मतगणना स्थल पर पहुंचाया जाएगा। मतगणना स्थल पर मतगणना संबंधी हर कार्य की वीडियोग्राफी करायी जाएगी। और हर विधानसभा के पाडांल व मतगणना स्थल के प्रवेशद्वार पर सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे।

चप्पे-चप्पे पर रहेगी नजर

एसएसपी नितिन तिवारी ने मतगणना के दौरान सुरक्षा व्यवस्था की विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि सुरक्षा की दृष्टि से तीन स्तरीय सुरक्षा व्यवस्था की गयी है। जो मतगणना स्थल पर पैनी नजर रखेगी। इस दौरान डीएम ने शंकाओं का समाधान भी किया। इस अवसर पर एडीएम प्रशासन रामचंद्र, न्यायिक प्रवीण अग्रवाल, एसपी ट्रैफिक संजीव वाजपेयी, नगर मजिस्ट्रेट संजय पाण्डेय आदि मौजूद थे।

आयोग ने दिए निर्देश

इससे पूर्व भारत निर्वाचन आयोग के निर्देश पर राज्य निर्वाचन आयोग ने प्रदेश के जनपदों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से मतगणना संबंधी निर्देशों को साझा किया। एनआईसी के कांफ्रेंस हॉल में डीएम के नेतृत्व में सभी प्रशासनिक अधिकारियों ने वीडियो कांफ्रेंस में हिस्सा लिया। मतगणना केंद्र पर सुरक्षा, काउंटिंग प्रक्रिया, पोस्टल बैलेट, परिणाम घोषणा के संबंध में विस्तृत देने के साथ-साथ राज्य निर्वाचन आयोग ने रिजल्ट अपलोड करने की प्रक्रिया को दोहराया। बता दें कि आज से मतगणनाकर्मियों को ट्रेनिंग दी जाएगी।

inextlive from Meerut News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.