300 से अधिक खुले मैनहोल बढ़ा रहे हैं जनता का दर्द

2019-03-29T06:00:14+05:30

110 नगर निगम के कुल वार्ड

40-50 फीसद मैनहोल की हालत खस्ता

25-30 फीसद मैनहोल में ढक्कन नहीं

2 से ढाई हजार के करीब खर्च एक मैनहोल के मेंटीनेंस में

- हर वार्ड में खुले मैनहोल की समस्या, जनता परेशान

- 30 फीसदी मैनहोल में ढक्कन नहीं, हो सकता है हादसा

LUCKNOW: एक तरफ जहां शहर सरकार की ओर से वार्डो में विकास को लेकर बड़े-बड़े दावे किए जाते हैं, लेकिन हकीकत यह है कि वार्डो की गलियों में टूटे मैनहोल इस दावे की सच्चाई की हकीकत बयां कर रहे हैं। आलम यह है कि टूटे मैनहोल जनता के लिए मुसीबत का सबब साबित हो रहे हैं। वार्ड पार्षदों की ओर से कई बार इस संबंध में शिकायत भी दर्ज कराई गई लेकिन नतीजा सिफर रहा।

सामान्य निधि फिर भी स्थिति खराब

कुछ समय पहले निगम प्रशासन की ओर से सामान्य निधि को समाप्त कर दिया गया था। इसके बाद सवाल उठने लगे थे कि टूटे मैनहोल का मेंटीनेंस कैसे होगा। हाल में ही आयोजित सदन में एक बार फिर से सामान्य निधि के अस्तित्व को हरी झंडी दे दी गई। इसके बाद कुछ स्थिति तो सुधरी, लेकिन अधिकतर वार्डो में अभी टूटे मैनहोल की समस्या सामने आ रही है।

पुराने वार्डो में स्थिति ज्यादा खराब

वैसे तो लगभग सभी वार्डो में टूटे मैनहोल की समस्या है, लेकिन शहर के पुराने वार्डो में यह समस्या ज्यादा गंभीर है। अगर एक-एक वार्ड की बात की जाए तो टूटे या क्षतिग्रस्त मैनहोल का आंकड़ा 25 से 30 फीसदी का है जबकि कई वार्डो में यह प्रतिशत 40 तक भी है। जिससे जनता को परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

जलभराव की समस्या

जर्जर मैनहोल का मेंटीनेंस न होने से बारिश के दौरान जनता को जलभराव का सामना करना पड़ता है। इतना ही नहीं सामान्य दिनों में भी कई इलाकों में जलभराव की समस्या सामने आती है। इतना ही नहीं खुले मैनहोल में जानवरों व लोगों के गिरने के मामले भी सामने आते रहते हैं।

बोले पार्षद

मैंने वार्ड विकास निधि की धनराशि से चालीस से अधिक मैनहोल दुरुस्त करवाए हैं। इसके बाद भी 15 से 20 मैनहोल जर्जर हालत में हैं। इस तरफ ध्यान दिया जाना चाहिए।

ममता चौधरी, पार्षद

अपनी निधि से मुख्य मार्गो पर खुले मैनहोल तो ढकवा दिए हैं, लेकिन गलियों में स्थिति अभी खराब है। शिकायतों के बावजूद जलसंस्थान ध्यान नहीं दे रहा है।

सैय्यद यावर हुसैन रेशू, पार्षद

मेरे वार्ड में भी जर्जर मैनहोल की समस्या है। जिसकी वजह से जनता को खासी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। जल्द से जल्द मेंटीनेंस शुरू कराया जाना चाहिए।

सुशील तिवारी पम्मी, पार्षद

बोले जिम्मेदार

अगर किसी भी वार्ड में टूटे या खुले मैनहोल की समस्या है, तो तत्काल इस समस्या को दूर कराया जाएगा। जिससे जनता को परेशानी न हो।

डॉ। इंद्रमणि त्रिपाठी, नगर आयुक्त

inextlive from Lucknow News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.