अब टिहरी में साहसिक खेलों की मिलेगी बेहतरीन ट्रेनिंग

2018-11-20T06:00:59+05:30

-केंद्र सरकार के मान्यता प्राप्त संस्था के साथ राज्य सरकार का एमओयू साइन

देहरादून, टिहरी जिले में स्थित राजीव गांधी राष्ट्रीय साहसिक अकादमी में तमाम वाटर स्पो‌र्ट्स एक्टिविटीज के संचालन के लिए एनआईडब्लूएस के साथ राज्य सरकार ने एमओयू साइन किया। एनआईडब्ल्यूएस केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय का मान्यता प्राप्त संस्थान है। एमओयू के अनुसार एनआईडब्ल्यूएस के सुप्रशिक्षित इंस्ट्रक्टरों द्वारा राजीव गांधी सहायक अकादमी टिहरी में आगामी सत्र में वॉटर स्पो‌र्ट्स आयोजित किए जाएंगे।

::वाटर स्पो‌र्ट्स एक्टिविटीज की ट्रेनिंग:::

-स्कीइंग

-जेट स्कीइंग पैरासेलिंग

-विंड सर्फिंग

-लाइफ सेविंग टेक्नीक्स

-स्कूबा डाइविंग की ट्रेनिंग

-मोटरबोट के इंजन की मरम्मत

-वाटर रेस्क्यू ऑपरेशन

रोजगार के मिलेंगे अवसर

राज्य पर्यटन सचिव दिलीप जावलकर ने जानकारी देते हुए बताया कि टिहरी को एक आदर्श वाटर स्पो‌र्ट्स डेस्टिनेशन बनाने की दिशा में किया गया एमओयू महत्वपूर्ण कदम है। कहा, स्थानीय युवाओं को टिहरी स्थित राजीव गांधी साहसिक अकादमी में वाटर स्कीइंग, रिमोट कंट्रोल पावर बोट नियंत्रण, जेट स्कीइंग, पैरासेलिंग, विंड सर्फिंग आदि खेलों की ट्रेनिंग योग्य प्रशिक्षकों द्वारा दिया जाएगा। जिससे स्थानीय रोजगार में वृद्धि होगी। ऐसा हो जाने के पश्चात टिहरी में पर्यटन गतिविधियों का संचालन और अधिक सक्षमता से किया जा सकेगा। पर्यटन सचिव ने बताया कि इसके अतिरिक्त अकादमी में वाटर स्पो‌र्ट्स ट्रेनरों के भी कोर्स चलाए जाएंगे। जिससे भविष्य में वह राज्य के भीतर ही आने वाली पीढि़यों को इस विधा में प्रशिक्षित कर सकें।

-----------

युवाओं का होगा स्किल डेवलेपमेंट

बताया गया है कि एनआईडब्लूएस वाटर स्पो‌र्ट्स की ट्रेनिंग देने वाली अग्रणी संस्था में से एक है, विभिन्न वाटर स्पो‌र्ट्स के लिए आवश्यक पाठ्यक्त्रम का संचालन करती है। साथ ही जीवन रक्षक तकनीकों की भी ट्रेनिंग प्रदान करती है। एनआईडब्ल्यूएस के द्वारा रिवर गाइड, ट्रेनर, लाइफगार्ड आदि की ट्रेनिंग भी करवाया जाती है। राज्य में वाटर स्पो‌र्ट्स की उच्चस्तरीय ट्रेनिंग प्राप्त होने की दशा में राज्य के युवाओं के स्किल डेवलेपमेंट में मददगार होगा।

----------

सुविधाएं यूटीडीबी से मुहैया होंगी

एमओयू के अनुसार एनआईडब्ल्यूएस द्वारा विभिन्न पाठ्यक्त्रमों के लिए आवश्यक ट्रेनर, फैकल्टी व ट्रेनिंग स्टाफ उपलब्ध कराया जाएगा। ट्रेनिंग अवधि में वाटर स्पो‌र्ट्स की विभिन्न विधाओं से संबंधित लिखित एवं प्रैक्टिकल ट्रेनिंग चयनित अभ्यर्थियों को उपलब्ध कराया जाएगा। ट्रेनिंग गतिविधियों के संचालन के लिए आवश्यक व्यवस्थाएं उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद द्वारा दी जाएंगी।

inextlive from Dehradun News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.