पश्चिम सिंहभूम पियून की गला रेतकर हत्या

2018-08-29T02:19:10+05:30

JAGANNATHPUR: पश्चिम सिंहभूम के जगन्नाथपुर थाना क्षेत्र के डीपासाई आदिवासी टोला स्थित जगन्नाथपुर बीईईओ ऑफिस में कार्यरत पियून सुशील पुरती की अज्ञात नकाबपोश अपराधियों ने धारदार बांकिया (कटारी) से गर्दन पर रेत व चाकू से गोद कर हत्या कर दी। अपराधियों ने इस हत्याकांड को सोमवार की मध्य रात्रि के बाद अंजाम दिया। घटना की सूचना पाते ही जगन्नाथपुर थाना प्रभारी मधुसुदन मोदक व सहायक अवर निरीक्षक उमेश यादव ने घटना स्थल पहुंच कर शव को अपने कब्जे में ले लिया। यह हत्या जमीन विवाद व पैसे का लेन देन को लेकर होने की बात सामने आ रही है.

बनाई हत्या की योजना

बताया जा रहा है कि अपराधियों नें डीपासाई आदिवासी टोला स्थित सुशील पुरती के मकान के इर्द गिर्द घूम कर सोमवार की रात ग्यारह बजे मुआयना किया। उस समय सुशील के परिजनच्व बच्चों ने उन तीन लोगों को घूमते देखा था। सुशील की पत्नीच्व बच्चों नें इसकी जानकारी उसे दी थी, लेकिन उसने परिवार वालों की बात पर ध्यान नहीं दिया और सहजता में लेकर छोड़ दिया। इधर जैसे ही रात हुई अपराधियों ने सुशील के घर की खिड़कियों से टार्च जला- जला कर देखा। बाद में अपराधियों ने घटना को अंजाम देने के लिए करीब तीन घंटे तक प्रतिक्षा कर हत्या करने की योजना बनाई। रात के करीब तीन बजे तीन अपराधी अपने हाथ में बांकिया व चाकू लेकर सुशील पुरती के घर पर आ घमके और दरवाजा खटखटाने लगे। उस समय पत्नी व चार वर्ष के पुत्र मनीष पुरती ने उसे दरवाजा खोलने से मना किया, लेकिन पुत्र की बात नहीं मानी और दरवाजा खोलने के लिए चला गया। तब तक अपराधी दरवाजे को तोड़कर घर के अंदर प्रवेश कर गये। शुरू कर दी मारपीट

घर में घुसते ही नकाबपोश अपराधियों ने मारपीट शुरू कर दी। इस बीच बचाव में पत्नी भी अपराधियों से जुझी, लेकिन अपराधी सुशील को घर से खींचकर बाहर ले गये और बांकिया से गले पर वारकर हत्या कर दी। इसके बाद अपराधियों ने सीने पर चाकू से गोद- गोद कर मार डाला। सुशील आखिरी सांस तक अपराधियों से लड़ने की हिम्मत जुटाता रहा। गले पर वार करने के कारण सुशील उसी स्थान पर गिर गया और घटनास्थल पर ही उसकी मौत हो गई। इसके बाद अपराधी मौके पर से फरार हो गए। इधर, घटना को लेकर रोते- बिलखते परिजनों की आवाज सुनकर स्थानीय लोग वहां पहुंचे। इसके बाद भतीजे की मारुति कार पर लाद कर सुशील को अस्पताल लाया गया। वहां उसे मृत घोषित कर दिया गया.

पुलिस मामले में पुराने जमीन विवाद को लेकर भी जांच कर रही है। जिस निर्ममता के साथ घटना को अंजाम दिया गया है मामला किसी न किसी पुरानी रंजिश का ही प्रतीत हो रहा है। जमीन की रंजिश सरबाई गांव के महाजन पुरती के साथ होने की बात सामने आयी है। हालांकि, जांच पूरी होने व अपराधियों के पकड़े जाने के बाद ही सही तथ्यों का पता चलेगा.

- मधुसूदन मोदक, थाना प्रभारी, जगन्नाथपुर

inextlive from Jamshedpur News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.