नेशनल कबड्डी प्लेयर उड़ाता था आई फोन

2019-04-03T06:00:58+05:30

- अमेजोन कंपनी को साथियों के साथ लगाया दो करोड़ का चुना

- ऑनलाइन करते थे बुकिंग कोरियर ब्वॉयज को धोखा देकर बाक्स देते थे बदल

LUCKNOW: नेशनल कबड्डी प्लेयर अमेजोन कंपनी से ऑनलाइन आई फोन बुक करता था और फिर कोरियर ब्वॉय को धोखा देकर बॉक्स उड़ा देता था। सेम बॉक्स कोरियर ब्वॉय को थमा देता था। बॉक्स खोलने पर उसमें कभी चाय पत्ती का बॉक्स तो कभी साबुन का पैकेट निकलता था। अमेजोन कंपनी को गैंग ने करीब दो करोड़ रुपये का चूना लगाया है। कंपनी से मिली शिकायत पर गैंग को साइबर सेल टीम ने दबोचा है। टीम ने राजस्थान के नेशनल कबड्डी प्लेयर और एक सिविल इंजीनियर समेत तीन को गिरफ्तार किया है। उनके पास से आई फोन समेत अमेजोन कंपनी के पैकिंग का सामान भी बरामद हुआ है।

ओटीपी नहीं करते थे शेयर

गंज सीओ अभय कुमार मिश्रा ने बताया कि हजरतगंज थाने में अमेजोन कंपनी ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि ठगों का एक गैंग ऑनलाइन आई फोन बुक करता है और डिलीवरी के दौरान बताए गए पते की जगह डिलीवरी ब्वॉय को रोड पर बुलाता है। डिलीवरी ब्वॉय के पहुंचने पर शातिर फोन रिसीव कर लेते हैं और पेमेंट देने के बहाने डिलीवरी ब्वॉय को उलझा कर रखते हैं। जब प्रोडेक्ट का कोड ओटीपी के लिए भेजा जाता था तो उस दौरान डिलीवरी लेने वाला शातिर ठग ओटीपी शेयर नहीं करता था। बहाना बनाकर डिलीवरी के लिए लाए गए आई फोन वापस कर देते थे। डिलीवरी ब्वॉय भी सील पैकेज समझ उन्हें वापस लेकर चला जाता था और आर्डर ऑनलाइन कैंसिल हो जाता था।

अमेजोन कंपनी ने दर्ज कराई की रिपोर्ट

कंपनी में जब प्रोडेक्ट पहुंचा था तो खोलने पर उसमें उतने ही वेट का सामान निकला था जबकि आई फोन गायब हो जाता था। सामान में कभी चाय पत्ती का बॉक्स, साबुन का पैकेज होता था। लगातार 90 हजार कीमत के कई फोन गायब होने पर अमेजोन कंपनी ने मामले की शिकायत पुलिस से की। ज्यादातर घटनाएं हजरतगंज थाना क्षेत्र के आस-पास होने के चलते कंपनी ने हजरतगंज थाने में एफआईआर दर्ज कराई।

राजस्थान से आकर करते थे वारदात

आईटी एक्ट में दर्ज केस की जांच साइबर सेल टीम को सौंपी गई। साइबर सेल नोडल इंचार्ज अभय कुमार मिश्र ने नेतृत्व में टीम ने ऑनलाइन बुकिंग करके मोबाइल फोन उड़ाने वाले गैंग को पकड़ लिया। पकड़े गए आरोपी जयपुर के सांगानेर बालाजी तिरूपति निवासी धारा सिंह, बस्सी जयपुर निवासी राजकुमार मीना उर्फ राहुल मीना और प्रहलाद सिंह बताए जा रहे हैं। पुलिस ने उनके पास से विभिन्न कंपनी के 19 मोबाइल, स्कार्पियो गाड़ी, एप्पल कंपनी के फर्जी पैकेट 81 एक्टीवेट सिम समेत कई सामान बरामद किया है। सीओ अभय मिश्र ने बताया कि युवक राजस्थान से आकर वारदात को अंजाम देते थे।

नेशनल कबड्डी प्लेयर है शातिर दिमाग

पकड़ा गया राजकुमार सिंह उर्फ राहुल मीना कबड्डी का नेशनल जूनियर प्लेयर है। राजकुमार नेशनल गेम की तैयारी रहा था। उसका कहना है कि नेशनल की तैयारी और गेम में इंट्री करने के लिए उसे पैसों की जरूरत थी। जिसके चलते वह साथियों के साथ ऑनलाइन बुकिंग कर आई फोन उड़ाता था। यह फोन सील पैक होने के चलते राजस्थान में एक लाख का फोन 80 से 70 हजार रुपये में बिक जाते थे। इन लोगों ने लखनऊ में करीब कंपनी को दो करोड़ों रुपये का चूना लगाया था। राजकुमार के साथ पकड़ा गया धारा सिंह पॉलीटेक्निक से सिविल इंजीनियरिंग का डिप्लोमा कर चुका है जबकि प्रहलाद बीए का छात्र है।

ऐसे करते थे धोखाधड़ी

सीओ अभय कुमार मिश्र ने बताया कि कोरियर ब्कॅय बुकिंग का आर्डर देने के लिए उनके मोबाइल नंबर पर संपर्क करता था। फोन पर बात करके शातिर उसे रजिस्टर्ड एड्रेस की जगह आस-पास रोड पर बुलाते थे। कार में सवार तीनों युवकों में एक युवक गाड़ी से उतरता था और पैकेज रिसीव करके उसे गाड़ी में रख देता था। इसके बाद पैमेंट करने का बहाना बनाकर नोट गिनने लगता था। इस दौरान ओटीपी मंगवाने का इंतजार किया जाता था। तभी गाड़ी में बैठे उसके साथी पैकेट को सफाई से काटकर मोबाइल निकाल लेते थे और पैकेज में चाय की पत्ती का बॉक्स रखकर उसे कंपनी के टेप से सील कर देते थे। ताकि डिलीवरी ब्वॉय का ध्यान न जा सके।

inextlive from Lucknow News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.