पुलिस पब्लिक नेता सब पर बरसीं संपत

2014-02-24T07:00:01+05:30

-गुलाबी गैंग की नेता ने जमकर निकाली भड़ास

-सीनेट हाल में नारी चेतना एवं लोकतंत्र पर चला मंथन का दौर

ड्डद्यद्यड्डद्धड्डढ्डड्डस्त्र@द्बठ्ठद्ग3ह्ल.ष्श्र.द्बठ्ठ

न्रुरुन्॥न्क्चन्ष्ठ: गुलाबी गैंग जहां भी पहुंच जाता है। वहां कुछ न कुछ दिलचस्प हो ही जाता है तो इलाहाबाद यूनिवर्सिटी इससे अछूती कैसे रह जाती। वह भी जब गैंग की मुखिया ही अपने पूरे दलबल के साथ पहुंची हों। यूनिवर्सिटी के सीनेट हाल में नारी चेतना एवं लोकतंत्र सब्जेक्ट पर आर्गनाइज नेशनल सेमिनार में गुलाबी गैंग की मुखिया संपत पाल को सुनने बड़ी संख्या में स्टूडेंट्स एवं बुद्धिजीवी पहुंचे थे तो संपत पाल ने भी उन्हें निराश नहीं किया और अपनी गंवई, हिन्दी और कुछ कुछ टूटी फूटी इंग्लिश से सुनने वालों का मन मोह लिया तो आईये क्या बताते हैं कि क्या बोली इस गैंग की प्रमुख

कुछ यूं चलाया जादू

संपत पाल ने जहां महिलाओं पर होने वाले जुल्मों सितम की कई कहानियां और उससे निपटने का विवरण सुनाया तो अपने ही अंदाज में उन्होंने महिलाओं की खिंचाई भी की। बोलीं कि अधिकार मांगने से नहीं मिलता, बल्कि छिनने से मिलता है। महिला उत्पीड़न की दास्तान को सुनाते हुए उन्होंने कहा च्बिटिया पढ़ने न जाना जमाना बुरा हैच्। पुलिस, पब्लिक, नेता सहित हर तबके पर कटाक्ष करते हुए सुनाया च्आज देश भारत में कर्ज के झमेले हैंच् तो वहीं इंसान से इंसान को प्यार करने का संदेश देते हुए बोलीं च्छोटी छोटी बातों में विचार होना चाहिए, आदमी से आदमी को प्यार होना चाहिएच् संपत पाल ने स्टूडेंट्स से अपील की कि वे अधिक से अधिक शिक्षित हों और सोसाइटी में जाकर अवेयरनेस फैलाने का काम करें। उन्होंने बताया कि करेंट में उनका गैंग पांच लाख महिलाओं को अपने साथ जोड़ चुका है। युवाओं से सच के लिए आगे आकर काम करने का आह्वाहन करते हुए कहा कि जहां भी घबराहट हों उन्हें याद कर लें। गुलाबी डंडा हमेशा आपके साथ है।

विद्या, अध्ययन और अनुभव पर दिया जोर

इस दौरान चीफ गेस्ट जस्टिस अमरेश्वर प्रताप शाही ने नारी चेतना की जगह व्यक्ति चेतना पर बल दिया और विद्या, अध्ययन एवं अनुभव के वर्चस्व की चर्चा की। प्रो। प्रदीप भार्गव और प्रो। अनीता गोपेश ने भी अपनी बातें रखीं। इस अवसर पर डिफरेंट डिफरेंट डिस्ट्रिक से आए कवियों ने काव्य संध्या में अपने हुनर का जलवा बिखेरा।

inextlive from Allahabad News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.