नक्सलियों ने वन विभाग के तीन बिल्डिंग को उड़ाया

2019-04-13T06:00:08+05:30

द्दह्रश्वरुयश्वक्त्रन् : झारखंड में लोकसभा चुनाव से पूर्व नक्सलियों ने अपनी उपस्थिति दर्ज कराते हुए बड़ी घटना को अंजाम दिया है। सूबे के पश्चिमी सिंहभूम जिले के गोइलकेरा थाना क्षेत्र अंतर्गत कुइड़ा गांव में नक्सलियों ने आईईडी विस्फोट कर वन विभाग के तीन भवनों को ध्वस्त कर दिया। इनमें से दो भवन निर्माणाधीन थे और निर्माण कार्य अंतिम चरण में था। वहीं विभाग के एक पुराने क्वार्टर को भी नक्सलियों ने विस्फोट कर उड़ा दिया। संतरा वन प्रक्षेत्र के कुईड़ा बीट में भवनों का निर्माण कैम्पा योजना के तहत किया जा रहा था। इसकी लागत करीब 60 लाख रूपये है।

धमाके से थर्राया इलाका

जानकारी के अनुसार गुरूवार की देर रात करीब 10.30 बजे गांव के लोग आईपीएल मैच देख रहे थे। उसी दौरान एक तेज धमाके से सभी लोग बुरी तरह सहम गए। बताया जा रहा है कि 20 से 25 की संख्या में हथियारबंद नक्सलियों ने घटना को अंजाम देने के बाद माओवादी जिन्दाबाद के नारे लगाए। साथ ही इलाके को वोट बहिष्कार के पोस्टरों से पाट दिया। कुइड़ा में वनरक्षियों के लिए विभाग द्वारा दो मंजिला क्वार्टर और कार्यालय का निर्माण कराया जा रहा था।

डॉग स्क्वायड टीम के साथ पहुंची पुलिस

कुइड़ा में नक्सली घटना के बाद शुक्रवार को दोपहर करीब 12 बजे जिले के पुलिस अधीक्षक सुरेन्द्र झा, सीआरपीएफ के कमांडेंट प्रेमचंद गुप्ता, अभियान एसपी मनीष रमण समेत कई पुलिस अधिकारी घटनास्थल पर पहुंचे। पुलिस ने डॉग स्क्वॉयड के साथ तीनों भवनों का मुआयना किया। मेटल डिटेक्टर से भवनों की गहन जांच की गई।

दहशत फैलाने का प्रयास

पुलिस अधीक्षक चन्दन झा ने कहा कि लोकसभा चुनाव में दहशत फैलाने के लिए नक्सलियों ने इस घटना को अंजाम देकर कायराना हरकत की है। लेकिन इससे चुनाव पर कोई असर नहीं पड़ेगा। जिले के सभी क्षेत्रों में शांतिपूर्ण ढंग से चुनाव संपन्न कराया जाएगा। माओवादियों ने इस विस्फोट में आईईडी बमों का इस्तेमाल किया है।

सिलेंडर में प्लांट किया गया था बम

भवन के अंदर से पांच किलोग्राम के दो घरेलू गैस सिलेंडर बरामद किए गए हैं। बमों को सिलेंडर में प्लांट कर बि¨ल्डग के मेन स्ट्रक्चर और बीम के नीचे लगाया गया था। विस्फोट के साथ ही भवन पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया।

बि¨ल्डग अब किसी काम की नहीं

घटना के बाद कोल्हान के डीएफओ अभिषेक भूषण भी मातहतों के साथ कुइड़ा पहुंचे। विस्फोट से ध्वस्त हुए भवनों की हालत देखने के बाद उन्होंने कहा कि ये बि¨ल्डग अब किसी काम की नहीं। भवन पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गए हैं। उन्होंने कहा कि नक्सलियों की ओर से निर्माण के एवज में किसी तरह की लेवी की मांग या धमकी किसी को भी नहीं दी गई थी। वन विभाग के भवनों को क्यों निशाना बनाया गया, यह जांच का विषय है।

पोस्टरों में वनर्किमयों को चेताया

नक्सलियों द्वारा कुइड़ा में वन विभाग के साइन बोर्ड, पेड़ों, झीलरूवां स्कूल के बाहर कई जगहों पर बैनर व पोस्टर लगाए दिए गए। सडकों पर पर्चे व नक्सली साहित्य फेंके गए। वोट बहिष्कार के पोस्टर व पर्चे के अलावा पोस्टरों में वनर्किमयों को भी चेतावनी दी गई है।

पहले भी वारदात को अंजाम दे चुके हैं नक्सली

-2014 के चुनाव के दौरान नक्सलियों ने साप्ताहिक हाट में आग के हवाले कर दिया था

- कदमडीहा पंचायत के पूर्व मुखिया जयपाल सिंह पुरती की नक्सलियों ने उनके घर के बाहर हत्या कर दी थी।

-गितिलपी चौराहे पर नक्सलियों ने पुलिस मुखबिरी के आरोप में दो युवकों को मौत के घाट उतार दिया था।

- पुलिस के चौकीदार बरायबीर निवासी शिबू की भी नक्सलियों द्वारा हत्या कर दी गई थी।

inextlive from Jamshedpur News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.