48 घंटे पहले सील हो जाएगा नेपाल बार्डर

2019-05-17T06:00:37+05:30

- पांच हजार से अधिक टूरिस्ट वाहनों के प्रवेश करने की संभावना

- जांच के बाद विदेशी नागरिक और बीमार लोगों की होगी आवाजाही

द्दह्रक्त्रन्य॥क्कक्त्र:

लोकसभा चुनाव के 48 घंटे पहले नेपाल बार्डर से आवाजाही बंद हो जाएगी। महराजगंज जिले से सटी सीमाओं को पूरी तरह से सील कर दिया जाएगा। इस दौरान सिर्फ तीसरे देश के नागरिकों और बीमार लोगों को आवागमन की अनुमति होगी। लेकिन इसके लिए कोई न कोई प्रूफ दिखाना होगा। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि संदिग्धों की आवाजाही रोकने के लिए बार्डर को जगह-जगह सील कर जांच पड़ताल की जाएगी। बार्डर पर बैरियर बनाकर जांच-पड़ताल शुरू करा दी गई है। उधर, इसका फायदा उठाते हुए करीब पांच हजार से अधिक वाहनों का भड़सार कराकर ड्राइवर नेपाल में ठहरने की तैयारी कर चुके हैं।

थर्ड कंट्री टूरिस्ट कर सकेंगे इंट्री, बीमारों को देंगे राहत

लोकसभा चुनाव में संदिग्ध गतिविधियों को देखते हुए नेपाल बार्डर को सील कर दिया जाता है। लोकसभा चुनाव को देखते हुए इस बार भी यह प्रक्रिया लागू रहेगी। इंडिया और नेपाल के पुलिस-प्रशासनिक अधिकारियों के बीच पूर्व में हुई बैठक में यह निर्णय लिया जा चुका था। नेपाल से आने वाली नदियों पर बने पुलों, झूलों और जंगलों में भी सुरक्षा बलों की मौजूदगी रहेगी। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि इस दौरान थर्ड कंट्री टूरिस्ट को आवाजाही की अनुमति दी जा सकेगी। लेकिन इसके लिए पुख्ता दस्तावेज दिखाने होंगे। गंभीर रूप से बीमार लोगों को आवाजाही, एबुलेंस सहित अन्य इमरजेंसी सेवाओं के वाहन चलते रहे। इस दौरान सिर्फ कामार्शियल गाडि़यों की आवाजाही पर पूरी तरह से रोक रहेगी। शुक्रवार रात बार्डर बंद होने के बाद आवाजाही पर प्रतिबंध लग जाएगा।

31 जगहों पर पैरामिलेट्री फोर्स करेगी सघन चेकिंग

पुलिस अधिकारियों का कहना है कि इस दौरान 31 जगहों पर विशेष रूप से चेकिंग का इंतजाम किया गया है। पैरामिलेट्री फोर्स लगाकर जांच की जिम्मेदारी सौंपी गई है। पैरामिलेट्री फोर्स के साथ लोकल पुलिस भी रहेगी। बैरियर से गुजरने वाले हर वाहन और व्यक्ति की सघन जांच के बाद जाने दिया जाएगा। वाहनों की पूरी तरह से तलाशी ली जाएगी। ताकि तस्करी का कोई सामान, संदिग्ध वस्तु लेकर कोई व्यक्ति इंडिया में प्रवेश न कर सकें। उधर, बार्डर सील होने की जानकारी मिलने पर टैक्सी में चलने वाले वाहनों सहित करीब पांच हजार वाहनों का भड़सार करा लिया गया है। ताकि इलेक्शन के दौरान नेपाल में टूरिस्ट से बढ़ाई कमाई कर सकें।

यह की गई है तैयारी

सोनौली बार्डर से गोरखपुर से होकर नेपाल सर्वाधिक आवाजाही होती है।

17 मई की रात 10 बजे से 19 को मतदान खत्म होने से बार्डर सील रहेगा।

टूरिस्ट, पेशेंट और बारात जा रहे लोगों को परिचय पत्र दिखाकर आवागमन करना होगा।

कमार्शियल वाहनों सहित अन्य छोटे और बड़े वाहनों की आवाजाही पर पूरी तरह से रोक रहेगी।

मरीज लेकर जा रहे एबुलेंस को विशेष परिस्थितियों में बार्डर पार करने की अनुमति मिलेगी।

नेपाल से इंडिया आने वाले रास्तों पर 31 नई जगहों पर बैरियर बनाकर सुरक्षा दस्ता तैनात किया गया है।

लोकल पब्लिक की आवाजाही पर भी बैरियर पर सघन जांच की जाएगी। शक होने पर पुलिस पूछताछ करेगी।

कोट

शुक्रवार रात महराजगंज जिले से लगी नेपाल की सीमा को सील कर दिया जाएगा। कुल 31 जगहों पर बैरियर बनाए गए हैं, जहां पैरामिलेट्री फोर्स और लोकल पुलिस की तैनाती की गई है। एंबुलेंस और फॉरेनर टूरिस्ट को जांच के बाद प्रवेश की अनुमति मिल सकेगी।

रोहित सिंह सजवान, एसपी महराजगंज

नेपाल के अधिकारियों संग मीटिंग में बार्डर की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर बैठक की जा चुकी है। बार्डर पर तैनात सुरक्षा एजेंसियां पूरी तरह से अलर्ट मोड में हैं। बैरियर बनाकर चेकिंग शुरू करा दी गई है।

जय नारायण सिंह, आईजी गोरखपुर

inextlive from Gorakhpur News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.