No Budget No Work Order

2012-07-10T02:03:03+05:30

Meeurt वार्ड7 के उपचुनाव को लेकर कैंट बोर्ड की स्पेशल मीटिंग में जीओसी उस वक्त नाराज हो गए जब उन्हें पता लगा कि बजट न होने पर भी वर्क ऑर्डर पास कर दिए उन्होंने स्पष्ट किया कि रुपया नहीं तो वर्क ऑर्डर भी नहीं मीटिंग में सीएबी इंटर कॉलेज पानी और नालों की सफाई का मुद्दा भी छाया रहा

क्यों दिया वर्क ऑर्डर?
जब वार्ड तीन की मेंबर बीना वाधवा ने चूड़ी वाली पुलिया का निर्माण न होने के बारे में बताया तो जीओसी ने सेक्शन हेड से कारण पूछा। पता लगा कि बजट नहीं है। जीओसी सख्त लहजे में बोले, बजट नहीं था तो वर्क ऑर्डर ही क्यों दिया? अन्य मेंबर्स ने भी अपने वार्डों की कमोवेश यही स्थिति बताई। ठेकेदार को काम पूरा करने के लिए कोई एक्सटेंशन नहीं दी जाएगी। समय पर काम पूरा न करने पर ठेकेदार जुर्माना लगाया जाएगा।
सीएबी से लेकर स्ट्रीट लाइट्स तक
- वार्ड-5 के मेंबर दिनेश गोयल ने सीएबी इंटर कॉलेज में पास हुए कार्यों के न होने बारे में बताया।
- जगमोहन शाकाल ने शांति फॉर्म हाउस से कैंट स्टेशन तक की स्ट्रीट लाइट्स खराब होने और मेहताब और मंदिर मार्ग पर हाई मास्क लाइट न लगने की बात कही।
- वार्ड-2 के मेंबर अजमल कमाल ने 80 अस्थाई सफाई कर्मियों की समय सीमा बढ़ाने को कहा, जिसे मान लिया गया है।
तीन दिन नहीं सात दिन
रहेगी बोर्ड की सुविधा
सावन के महीने में कांवड़ भक्तों के लिए कैंट क्षेत्र में 13 से 19 जुलाई तक सुविधाएं दी जाएंगी। बोर्ड ने इसके लिए 70 हजार रुपए का बजट पास किया है। साथ में कांवडिय़ों के लिए सर्वत्र चौक और दर्शन एकेडमी के मैदान को सही करने के आदेश दिए गए।
सीएबी का निरीक्षण किया
मेंबर के कहने पर जीओसी ने सीएबी इंटर कॉलेज का निरीक्षण किया। उन्होंने वहां कंप्यूटर रूम और क्लास रूम को देखा। उसके बाद वहां से वह लालकुर्ती की ओर गए। जहां उन्होंने लालकुर्ती चौक पर लगने वाली पैठ पर लगने वाली 70 दुकानों को शेड लगाने की इजाजत दे दी।
एनओसी पर रक्षा मंत्रालय सख्त
मीटिंग में प्रॉपर्टी को बेचने एवं खरीदने के लिए एनओसी जारी करने की बात एक बार फिर से उठी। जिस पर जोओसी ने स्पष्ट कर दिया कि एनओसी पर रक्षा मंत्रालय काफी सख्त हो गया है। मध्य कमान और स्टेशन कमांडर के अधिकार काफी सीमित कर दिए हैं। एनओसी के आवेदन अब सीधे रक्षा मंत्रालय में ही जाएंगे। ये प्रोसीजर सुकना घोटाले के बाद हुआ है.
उपचुनाव कार्यक्रम की घोषणा
स्पेशल मीटिंग कर वार्ड सात के उप चुनाव का कार्यक्रम पास किया गया, जिसमें मतदाता सूची में नाम दाखिल करने से लेकर मतगणना तक की डेट फाइनल कर दी गई हैं.
मतदाता सूची में नाम दाखिल करने की तिथि - 19 जुलाई
सूची में नाम दर्ज करने पर आपत्ति की अंतिम तिथि - 22 जुलाई
आपत्तियों पर सुनवाई - 24 जुलाई
अंतिम मतदाता सूची का प्रकाशन - 30 जुलाई
नामांकन पत्र दाखिल करने की तिथि - 31 जुलाई (सुबह 11 से 3 बजे तक)
नामांकन वापसी - 2 से 5 अगस्त तक
चुनाव चिह्न का आवंटन - 2 से 5 अगस्त
मतदान - 26 अगस्त (सुबह आठ से शाम पांच बजे तक)
मतगणना - 27 अगस्त
पोलिंग बूथ - 4 (नेहरू मेमोरियल स्कूल, केवी सिख लाइन, लाल बहादुर शास्त्री स्कूल, सीबी प्राइमरी स्कूल)



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.