खाली सीटों के साथ दौड़ रही पिंक बसें

2019-04-17T06:00:41+05:30

अवध और राप्तीनगर डिपो की बसें वाराणसी से चलाई जा रही हैं

नहीं मिल रही पैसेंजर्स, सिर्फ महिलाओं को है सफर की अनुमति

नारी सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए शासन की ओर से शुरू रोडवेज की पिंक बस को यात्री ही नहीं मिल रहे। बनारस से लखनऊ और गोरखपुर के बीच चलने वाली बस की सीटें खाली रह रही हैं। किसी दिन तीन तो किसी दिन छह महिलाएं ही सफर कर रही हैं। बस में पुरुष यात्रियों को यात्रा की अनुमति नहीं है। यदि उसके साथ महिला है तो वह सफर कर सकता है।

सात दिन में 100 यात्री भी नहीं

एक सप्ताह पूर्व शुरू पिंक बस सेवा को धार नहीं मिल पा रही है। हाल ये है कि सप्ताहभर में दोनों बसों को 100 यात्री भी नहीं मिले हैं। कारण ये बताया जा रहा है कि जानकारी के अभाव में यह स्थिति आई है।

शाम को लखनऊ, रात में गोरखपुर

उत्तर प्रदेश परिवहन निगम की रोडवेज पिंक बस की टाइमिंग सेट है। अवध डिपो से चलने वाली पिंक स्पेशल बस बनारस कैंट बस अड्डा से रोज शाम 4 बजे लखनऊ के लिए रवाना हो रही है जो रात नौ से दस बजे तक लखनऊ पहुंचा दे रही है। राप्तीनगर डिपो की बस कैंट से रोज रात साढ़े दस बजे खुल कर दूसरे दिन सुबह लगभग पांच बजे तक गोरखपुर पहुंच रही है।

सिक्योरिटी के खास इंतजाम

पिंक बस में महिलाओं की सुरक्षा के लिए 10 पैनिक बटन लगाए गए हैं। दोनों साइड 5-5 पैनिक बटन हैं। बस में आगे और पीछे दोनों तरफ सीसीटीवी कैमरा भी लगा है। इससे बस में होने वाली हर गतिविधि पर निगम के कंट्रोल रूम से नजर रखी जा रही है। कैमरों को डायल 100 से भी लिंक किया गया है।

सेव हो जाएगी वीडियो क्लिप

पिंक बस में सफर कर रही महिला जैसे ही पैनिक बटन दबाएगी तुरंत बस के अंदर की 60 सेकेंड की वीडियो क्लिप डायल 100 के पास ऑटो सेव हो जाएगी। यह क्लिप बटन दबाने से 60 सेकंड पहले की होगी। क्लिप को देखकर तत्काल दोषी के खिलाफ एक्शन लिया जाएगा।

नहीं होती थी कार्रवाई

कई बार रोडवेज बसों में महिलाओं के साथ अभद्रता की घटनाएं होती थीं। महिलाएं शिकायत करती थी तो उनसे सबूत मांगा जाता था, जो उनके पास नहीं होता था। ऐसे में आरोपी आसानी से बच जाते थे। पिंक बस में ऐसा नहीं होगा। पैनिक बटन दबाते ही न केवल शिकायत दर्ज होगी, बल्कि सबूत भी डायल 100 में सेव हो जाएगा।

एक नजर

02

पिंक बस बनारस से चल रही

40

सीटर है एक पिंक बस

10

पैनिक बटन लगे हैं बस में

60

सेकेंड में इमरजेंसी वीडियो भी बना सकती है

08

अप्रैल से शुरू है बस सेवा

100

महिला पैसेंजर्स भी पूरे नहीं हो पाए

पिंक बस के प्रचार प्रसार को लेकर मंथन चल रहा है। बहुत जल्द इसका व्यापक पैमाने पर प्रचार प्रसार किया जाएगा। सभी बस स्टेशन सहित अन्य बसों में पिंक बस के पैंफलेट चस्पा किया जाएगा।

केके शर्मा, आरएम

inextlive from Varanasi News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.