Happy Birthday Amitabh Bachchan इन फिल्मों में अमिताभ बने डॉक्टर तो इनमें बीमार

2018-10-11T09:00:09+05:30

बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन के 76वें जन्मदिन पर उनके और उनकी फिल्में से जुडे़ कुछ अंजाने फैक्ट्स जानें यहां।

कानपुर। बॉलीवडु के महानयक अमिताभ बच्चन की 1975 में रिलीज हुई ब्लॉक बस्टर फिल्म 'शोले' आज भी टीवी पर आती है तो लोग चैनल नहीं बदलते। लोगों को फिल्म में बसंती, गब्बर, मौसी, ठाकुर, सांभा और जय-वीरू की दोस्ती आज तक याद है। याद हो कि फिल्म में अमिताभ बच्चन हर समय म्यूजिकल इंस्ट्रूमेंट माउथ ऑर्गन अपने होठों से बजाया करते थे।
पीकू में उन्हें थी ये बीमारी

8 मई, 2015 में रिलीज हुई अमिताभ बच्चन की फिल्म 'पीकू' में वो दीपिका पादुकोण के पिता का किरदार निभाते नजर आए थे। फिल्म में इरफान खान एक ट्रैवेल एंजेसी के मालिक की भूमिका में दिखे थे। सूजीत सरकार के निर्देशन में बनी इस फिल्म में अमिताभ को कब्ज से ग्रसित दिखाया गया है। इस फिल्म के लिए अमिताभ बच्चन को 2016 में बेस्ट एक्टर के नेशनल अवॉर्ड से नवाजा गया है।
इस फिल्म में अमिताभ बने डॉक्टर
12 मार्च, 1971 में रिलीज हुई फिल्म 'आनंद' में अमिताभ बच्चन डॉक्टर के किरदार में नजर आए थे। फिल्म में राजेश खन्ना ने आनंद नाम के एक व्यक्ति की भूमिका निभाई है जो कैंसर से जूझ रहा होता है। फिल्म में अमिताभ डॉक्टर भाष्कर की रोल में दिखे हैं जिन्हें आनंद अपनी जिंदगी पर एक बुक लिखने के लिए प्रेरित करते हैं।
अलादीन बॉक्स ऑफिस पर बुरी तरह पिटी
30 अक्टूबर, 2009 में रिलीज हुई अमिताभ बच्चन की फिल्म 'अलादीन' बॉक्स ऑफिस पर बुरी तरह से पिट गई। सुजॉय घोष के निर्देशन में बनी फिल्म 'अलादीन' में जैकलीन और रितेश देशमुख भी अहम भूमिका में थे। फिल्म का बजट करीब 35 करोड़ रुपये बताया गया जबकि रिपोर्ट्स के मुताबिक फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर सिर्फ 6 करोड़ रुपये की ही कमाई की।
सिलसिला में अमिताभ का फेमस डायलॉग
1981 में रिलीज हुई फिल्म 'सिलसिला' में अमिताभ बच्चन, जया बच्चन और रेखा मुख्य किरदार में थे। फिल्म की कहानी अमिताभ बच्चन की रियल लाइफ से काफी मिलती है। यश चोपडा़ के बैनर तले बनी इस फिल्म में अमिताभ का सबसे फेमस डायलॉग था, 'मैं मेरी तनहाई, अकसर ये बातें करते हैं... तुम होती तो कैरा होता... तुम ये कहती, तुम वो कहती, तुम इस बात पे हैरान होती, तुम उस बात पे कितनी हंसती... तुम होती तो ऐसा होता, तुम होती तो वैसा होता... मैं और मेरी तनहाई, अकसर ये बातें करते हैं।'
फिल्म हम में बोला था ये शानदार डायलॉग
1991 में रिलीज हुई अमिताभ बच्चन की फिल्म 'हम' में उनका एक शानदार डायलॉग आज तक उनके फैंस की जुंबा पर रहता है, 'इस दुनिया में दो तरह के कीडे़ होते हैं। एक वो जो कचरे से उठा है और दूसरा वो जो पार की गंदगी मे उठा है। कचरे वाला कीडा़ इंसान को बीमार कर देता है... मगर पाप की गंदगी का कीडा़ सारे समाज को बीमार कर देता है। कचरे के कीडे़ को मारने के लिए फ्लिट बाजार में मिलता है मगर पाप के कीडे़ को मारने वाला फ्लिट, साला, बना ही नहीं है आज तक।'
ठग्स ऑफ हिंदोस्तां में अमिताभ के डायलॉग
'ठग्स ऑफ हिंदोस्तां' के ट्रेलर में अमिताभ के दमदार डायलॉग्स ने ट्रेलर को और भी शानदार बना दिया। फिल्म में उनके कुछ फेमस डायलॉग हैं, 'ढाई दिन की दोपहरी, चांद रात अमवस क, शीशम के घोडे़ पर होके सवार आएगी शामित गुन्हेगारों की', 'आजादी है गुनाह तो कुबूल है सजा अब तो होगा वही जो है मंजूरे खुदा।' मालूम हो कि फिल्म दिवाली के मौके पर 8 अक्टूबर को रिलीज होगी।

जब को-स्टार ने बिना बताए रेखा को 5 मिनट तक किया किस, तस्वीरों में जानें ऐसे ही 10 किस्से


रिश्‍ते में अमिताभ बच्‍चन के समधी लगते हैं ऋषि कपूर, फि‍ल्‍म 'बॉबी' में की थी इस गाड़ी की सवारी



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.