मध्य प्रदेश में तोते खा रहे अफीम बेचारे किसान हैं परेशान

2019-02-28T06:46:27+05:30

मध्य प्रदेश में किसान तोते से परेशान हैं। उनका कहना है कि नशेड़ी तोते उनकी उगाई हुई अफीम को खा जा रहे हैं।

कानपुर। मध्य प्रदेश में किसानों को पहले बारिश की समस्या से जूझना पड़ा और अब उन्हें तोतों ने परेशानी में डाल दिया है। एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक, मध्य प्रदेश के नीमच क्षेत्र में अफीम की फसल पक गई है, जिसमें से इन दिनों अफीम निकालने का काम चल रहा है। नीमच जिले में किसानों का कहना है कि नशेड़ी तोते उनकी फसल को खाकर, प्रोडक्ट की संख्या लगातार कम कर रहे हैं, जिसके चलते उन्हें भारी नुकसान का सामना करना पड़ रहा है। एएनआई से बात करते हुए नंदकिशोर नाम के एक किसान ने कहा, 'तोते की समस्या को लेकर हम कई बार जिला के बड़े अधिकारियों से शिकायत कर चुके हैं लेकिन हमारी कोई नहीं सुनता है।

Neemuch: Opium farmers complain that the parrots in the area have been destroying their crops;a farmer says,"we beat drums & burst firecrackers to scare them away. We keep a watch on them in night as well. Don't know if they've got addicted to it or something else".#MadhyaPradesh pic.twitter.com/Z3G4Z3oxWF

— ANI (@ANI) February 25, 2019


30 से 40 बार चुराते हैं अफीम

उन्होंने बताया, 'अफीम के एक फ्लावर में कम से कम 20 से 25 ग्राम अफीम निकलती है, ऐसे में ये नशेड़ी तोते दिन भर में 30 से 40 बार अफीम चुराते हैं। जिसके चलते हमें बहुत नुकसान उठाना पड़ता है। उन्होंने कहा कि अफीम खाने वाले ये तोते इतने तेज हैं कि सुबह से लेकर शाम तक अफीम के ऊपर घूमते रहते हैं और जैसे ही मौका मिलता है, वह बहुत तेजी से अफीम को तोड़कर उसे अपनी चोंच में दबाकर उड़ जाते हैं और मजे से खाते हैं। एक तरह से यह तोते अफीम निकालने में एक्सपर्ट हो गए हैं। नंद किशोर ने कहा कि वह पक्षियों को डराने के लिए पटाखें और तेज आवाज वाली चीजों का इस्तेमाल तो करते हैं लेकिन इससे उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता है।

 

तीनों सेनाएं शाम 5 बजे करेंगी प्रेस कांफ्रेंस

पाकिस्तान के झूठ से उठा पर्दा, तस्वीरों में देखें F16 के मलबे की जांच करते पाक सैनिक


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.