पाक करे आतंकियों से वैसा ही सलूक जैसा 9/11 के बाद अलकायदा के साथ हुआ यूएस

2018-11-15T03:51:06+05:30

अमेरिका ने अपने आधिकारिक बयान में कहा है कि पाकिस्तान हक्कानी नेटवर्क और लश्करएतैयबा जैसे आतंकियों के साथ ठीक वैसा ही सलूक करे जैसा कि यूएस ने 9/11 हमले के बाद अलकायदा आतंकी ग्रुप के साथ किया था।

वाशिंगटन (पीटीआई)। अमेरिका के एक बड़े अधिकारी ने कहा कि पाकिस्तान को आतंकवाद के खिलाफ और सख्ती करने की जरूरत है और ट्रंप प्रशासन चाहता है कि इस्लामाबाद हक्कानी नेटवर्क और लश्कर-ए-तैयबा जैसे आतंकी सगठनों से वैसा ही सलूक करे जैसा कि अमेरिका ने 9/11 हमले के बाद अलकायदा ग्रुप के साथ किया था। आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई लड़ने वाली अमेरिकी एजेंसी के एक बड़े अधिकारी नाथन अलेक्जेंडर सेल्स ने एक समारोह को संबोधित करते हुए कहा, 'अमेरिका दुनिया में आतंकवाद का समर्थन करने वालों को लेकर बहुत चिंतीत है।'

पाक नहीं कर रहा अपना काम

सेल्स ने बुधवार को कहा, 'हमने पाकिस्तानी सरकार से आतंकवाद को लेकर बातचीत की है, हमने उनसे कहा है कि हम चाहते हैं कि पाकिस्तान भी आतंकी संगठनों के साथ वैसा ही सलूक करे जैसा कि यूएस ने 9/11 हमले के बाद अलकायदा आतंकी ग्रुप के साथ किया था।' बता दें कि पाकिस्तान द्वारा आतंकियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई नहीं किये जाने के बाद अमेरिका की ओर से ऐसा बयान आया है। अमेरिकी सांसदों का आरोप है कि पाकिस्तान आतंकवादी समूहों के खिलाफ सख्ती से पेश नहीं आ रहा है। एक अमेरिकी सांसद टेड पो ने कहा, 'मुझे लगता है कि पाकिस्तान अपना काम ठीक से नहीं कर रहा है क्योंकि आतंकवादी पाकिस्तान से अफगानिस्तान में आते हैं, हमला करते हैं और फिर वापस सीमा पार चले जाते हैं। मुझे लगता है कि वे वर्षों से ऐसा कर रहे हैं।'

आतंकियों में कोई कमी नहीं

पो ने कहा कि आतंकवाद से लड़ने के लिए अमेरिका हर साल पाकिस्तान को लाखों डॉलर देता है लेकिन फिर भी आतंकियों में कोई कमी नजर नहीं आती है। उन्होंने आरोप लगते हुए कहा कि पाकिस्तान अपने देश में आतंकवादियों को पनाह देता है, जो आये दिन अफगानिस्तान समेत अन्य देशों में खतरनाक हमले को अंजाम देते हैं। बता दें कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पिछले साल अगस्त में अपनी दक्षिण एशिया रणनीति का ऐलान करते हुए पाकिस्तान को कड़े लहजे में चेतावनी दी थी। उन्होंने कहा था कि अगर पाकिस्तान आतंकवादी समूहों को पनाहगाह मुहैया कराना जारी रखता है तो उसे इसके परिणाम भुगतने होंगे। ट्रंप के इस सख्त रवैया के बाद पाकिस्तान में कुछ दिनों तक सकारात्मक संकेत देखने को मिले लेकिन धीरे धीरे हालात फिर वैसे बनते नजर आए।

अमेरिका ने जताई चिंता, कहा पाकिस्तान अभी भी आतंकवादियों के लिए बना हुआ है स्वर्ग

अमेरिका द्वारा उठाये गए आतंकवाद के मुद्दे पर भड़का पाकिस्तान


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.