पैरालाइज्ड पेशेंट की पहले से होगी बेहतर देखभाल

2018-06-09T06:01:14+05:30

- शुआट्स के छात्रों ने बनाया है डिजाइन

- मरीज की पल्स दर, ईसीजी व हार्ट बीट का संचरण डिसप्ले पर होगा प्रदर्शित

ALLAHABAD: शुआट्स नैनी के एसआईटी इंस्टीट्यूट के इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग के चार छात्रों के समूह (आदित्य सिंह बिष्ट, सैफ असलम, शुभम तिवारी, अभिषेक दास) ने बेहतर स्वास्थ्य देखभाल के लिए एक प्रणाली तैयार करने और अस्पताल में आंशिक रूप से लकवाग्रस्त मरीजों की जरूरी आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए डिजाइन का निर्माण किया है। यह डिजाइन इलेक्ट्रॉनिक्स और संचार इंजीनियरिंग के संकाय सलाहकार इंजीनियर मुकेश कुमार की देखरेख में तैयार किया गया है।

यूपी काउंसिल ने भी की है सराहना

यह डिजाइन मरीज की पल्स दर, ईसीजी, हार्ट बीट के संचरण को डिस्पले पर अवगत कराने में सक्षम है। इससे लकवाग्रस्त रोगी के देखभाल के लिए तकनीकी आधारित युग में मदद मिलेगी। छात्रों के इस मॉडल की विज्ञान और प्रौद्योगिकी यूपी काउंसिल द्वारा प्रायोजित कार्यक्रम में सराहना भी की जा चुकी है। डीन डॉ। दीपक लाल, प्रोफेसर एके जायसवाल, डॉ। आर पौलुस समेत सभी संकाय सदस्यों ने यूपीसीएसटी लखनऊ में समिति के समक्ष उपस्थित होने, इस तरह के अभिनव विचार को समझने और वैचारिक प्रोटोटाइप को कुशलता से तैयार करने के लिए छात्रों को बधाई दी और उनके उज्जवल व बेहतर भविष्य की कामना की।

inextlive from Allahabad News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.