शेल्टर होम से लड़कियों को भगाने का कर रहा था प्लान मेन मौके पर पुलिस ने किया गिरफ्तार

2018-08-11T12:55:57+05:30

खिड़की काटने के लिए दी थी आरी। युवक को गिरफ्तार कर लिया गया है।

patna@inext.co.in
PATNA: राजीव नगर के 90 फीट में स्थित एक बालिका गृह के लड़कियों को भगाने की कोशिश नाकाम हो गई है। पुलिस ने एक युवक को गिरफ्तार कर लिया है। मामले की जांच पड़ताल की जा रही है और इसमें आईजी से लेकर अन्य पुलिस अफसर भी गंभीर हैं। पुलिस का दावा है कि इस मामले का पूरा सच बहुत जल्द सामने आ जाएगा।
ऐसे बनाई थी योजना
राजीव नगर के 90 फीट इलाके में चल रहे आसरा होम के बगल में ही रामनगीना सिंह उर्फ बनारसी का घर है। बनारसी के घर की खिड़की के बगल में ही आसरा होम की भी खिड़की थी। बनारसी ने लड़की को खिड़की काटने के लिए आरी भी दी थी। इस आरी से खिड़की को काफी हद तक काट भी डाला गया था, लेकिन जब कोशिश सफल नहीं हुई तो बनारसी ने ही लड़की के भागने की बात कहकर इलाके में हल्ला कर दिया था और पुलिस पहुंच गई। आसरा होम से लड़की के भागने के प्रयास की खबर मिलते ही पुलिस गंभीर हो गई। खुद आईजी नैय्यर हसनैन खान ने मामले की पूरी जांच करने का निर्देश एसएसपी मनु महाराज को दिया। इसके बाद सिटी एसपी के आदेश पर डीएसपी मनोज कुमार सुधांशु ने राजीव नगर थाना की पुलिस के साथ जांच पड़ताल कर घटना का खुलासा कर दिया। डीएसपी ने बताया कि रामनगीना सिंह उर्फ बनारसी को अरेस्ट कर लिया है। उसपर लड़की से छेडख़ानी और गन्दी नियत से प्रलोभन देकर भगाने के प्रयास की पुष्टि हुई है।
पुलिस की जांच में सच आया सामने
* घटना की जानकारी सबसे पहले आसरा होम के मकान मालिक डॉ सुरेंद्र प्रसाद यादव को मिली।
* जब वह पहुंचे तो उन्होंने खिड़की का ग्रिल कटा हुआ देखा था।
* उन्होंने एनजीओ की ट्रेजरर को फोन कर इसकी जानकारी दी।
* रामनगीना सिंह उर्फ बनारसी पर साल 2017 में जमीन कब्जाने और रंगदारी का एक मामला भी दर्ज है।
* 50 वर्षीय बनारसी घर में अकेले ही रहता है।
* वह काफी दिनों से लड़की को भगाने की कोशिश में लगा था।
* कई बार वह लड़की को आम लीची देकर भी फुसलाने की कोशिश की थी।
* अनुमाया ह्यूमन रिसोर्सेज फाउंडेशन नाम की एनजीओ इसका संचालन करती है।
* एनजीओ के सचिव चरिंतन कुमार के अनुसार आसरा होम मेंटली डिसेबल महिलाओं-बच्चों के लिए हैं।
* होम में 75 महिलाएं और बच्चे रह रहे हैं।
घटना की जानकारी मिलते ही जांच पड़ताल शुरू कर दी गई है। मामले में बनारसी से पूछताछ चल रही है।
मनोज कुमार सुधांशु, डीएसपी, पटना

साइबर हमला : फौजी के खाते से उड़ा लिए 9.47 लाख

UIDAI हेल्पलाइन नंबर के स्मार्टफोन में आॅटो सेव होने पर गूगल की सफार्इ नहीं उतर रही गले, उठ रहे ये सवाल


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.