हैदराबाद पकड़े गए निजाम के म्यूजियम से सोने की टिफिन चुराने वाले चोर उसी में खाते थे खाना

2018-09-11T07:01:36+05:30

हैदराबाद पुलिस ने निजाम के म्यूजियम से चोरी हुई सोने की टिफिन बॉक्स बरामद कर लिया है। पुलिस ने मंगलवार को इस मामले में दो चोरों को गिरफ्तार किया है।

हैदराबाद (पीटीआई)। हैदराबाद पुलिस ने मंगलवार को दो हिस्ट्री-शीटरों को गिरफ्तार कर, उनके पास से निजाम के म्यूजियम से चोरी हुई सोने की टिफिन बॉक्स बरामद कर लिया है। पुलिस ने चोरों के पास से सोने की इस टिफिन बॉक्स के अलावा एक कीमती कप, हीरे और पन्ने से सजी एक तश्तरी और चम्चम भी बरामद किये हैं। बता दें कि ये सारी संपत्ति हैदराबाद के सातवें निजाम की थी। दोनों चोरों की पहचान 23 वर्षीय मोहम्मद गौस पाशा और 24 वर्षीय मोहम्मद मुबीन के रूप में हुई है।

मुबीन ने की थी प्लानिंग

हैदराबाद के पुलिस कमिश्नर अंजनि कुमार ने इस बड़ी चोरी का खुलासा करते हुए बताया, 'चोरी करने से पहले दोनों ने करीब डेढ़ महीनें तक निजाम के म्यूजियम की रेकी की थी। ताकि यहां लगे सीसीटीवी में वो कैद नहीं हो पाएं क्योंकि परिसर के अंदर लगे सीसीटीवी में सिर्फ तीस दिन का डेटा सेव रहता है। दोनों चोर बचपन के दोस्त हैं और कई बार इस तरह की वारदातों को अंजाम दे चुके हैं।' उन्होंने बताया कि, 'दोनों म्यूजिययम के अंदर एक वेंटिलेटर से घुसे थे। जिसकी रेकी उन्होंने चार-पांच दिन पहले ही कर ली थी। सोने और हीरे जड़े हुए बर्तन चुराने की पूरी प्लानिंग मुबीन ने की थी।
सैलानी बनकर घुसे थे म्यूजियम में
पुलिस ने बताया कि मुबीन चोरी होने से ठीक 45 दिन पहले म्यूजियम में एक सैलानी बनकर गया था। उस समय उसने वहां की पूरी लचर सुरक्षा व्यवस्था देखी ली थी। इसके बाद मुबीन ने मोहम्मद को भी अपने इस प्लान में शामिल किया और फिर दोनों ने मिलकर निजाम की करोड़ों की बर्तन चुरा ली। वारदात को अंजाम देने के लिए उन्होंने दस मीटर लंबी रस्सी पर तीस गांठ बांधी। मुबीन ने जहां रस्सी पकड़ी हुई थी, वहीं मोहम्मद गौस अंदर दाखिल हुआ और कपड़ों की अलमारी का ताला तोड़ा और निजाम का बेशकीमती सामान चुरा लिया।
विदेश में बेचना चाहते थे टिफिन
चोरी करने के बाद भी दोनों वहां से नहीं भागे। दोनों ने पहले कपड़े बदले और फिर पुलिस को गुमराह करने के लिए म्यूजियम के इर्द गिर्द घूमते रहे। ताकि पुलिस को ये लगे कि इन्होंने चोरी नहीं किया है। पुलिस ने बताया कि बेशकीमती टिफिन ब़ॉक्स और दूसरे कीमती सामान को चोरी करने के बाद दोनों बस से मुंबई चले गए, जहां वे कई दिनों तक पांच सितारा होटल में रूके। भले ही निजाम ने करोड़ों के इस टिफिन में कभी खाना नहीं खाया हो लेकिन मुंबई में दोनों ने इस टिफिन में खाना भी खाया। मुंबई में चोरों ने टिफिन को इंटरनेशनल मार्केट में बेचने की कोशिश की लेकिन कामयाब नहीं हो पाए। फिर दोनों वापस हैदराबाद लौट गए।

इमरान खान ने केरल बाढ़ पीड़ितों के लिए की दुआ, मदद को बढ़ाया हाथ

भारतीय गाना गुनगुनाने के लिए पाकिस्तानी एयरपोर्ट पर महिला कर्मचारी को मिला दंड


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.