गोरखपुर ट्रिपल मर्डर में तीन मृतकों सहित 12 पर एफआईआर

2018-12-23T02:12:08+05:30

खजनी एरिया के सहसपुर उर्फ कुंवरजोत टोले के तिहरे हत्याकांड में पुलिस ने कार्रवाई शुरू कर दी है

-पुलिस ने पांच आरोपियों को किया अरेस्ट, अन्य की तलाश

-मोहल्ले में दिनभर पसरा रहा सन्नाटा, पुलिस-पीएसी रही तैनात

Gorakhpur@inext.co.in
GORAKHPUR: खजनी एरिया के सहसपुर उर्फ कुंवरजोत टोले के तिहरे हत्याकांड में पुलिस ने कार्रवाई शुरू कर दी है. दोनों पक्षों की तहरीर पर पुलिस ने 12 नामजद सहित केस दर्ज कर पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया है. अभियुक्तों की नामजदगी में घटना के शिकार तीन व्यक्तियों का नाम शामिल होने से हड़कंप मचा है. पुलिस का कहना है कि तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज किया गया है. विवेचना के दौरान मृत व्यक्तियों का नाम हटा दिया जाएगा. घटना को देखते हुए शनिवार को भी फोर्स तैनात रही.

मकान के विवाद में गई थी तीन की जान
सहसपुर उर्फ कुंवरजोत निवासी दुर्गा सिंह और मुंशी उर्फ राममनोहर यादव के परिवार के बीच भूमि विवाद चल रहा था. मकान और भूमि पर कब्जे को लेकर शुक्रवार शाम दोनों पक्ष भिड़ गए. घटना में दुर्गा सिंह, उनकी पत्नी कमलावती की मौत हो गई. आरोप है कि मुंशी पक्ष के लोगों के हमले में दोनों की जान गई. इससे गुस्साए दूसरे पक्ष के लोगों ने मुंशी को पीटकर मौत के घाट उतार दिया. इस मामले में पुलिस ने दुर्गा सिंह के बेटे प्रदीप की सूचना पर राम मनोहर उर्फ मुंशी यादव, विकास यादव, विशाल यादव, राजू यादव, रेखा यादव, मुकेश यादव, सुरेंद्र और एक अन्य के खिलाफ केस दर्ज किया.

पांच अभियुक्तों को किया अरेस्ट, अन्य की तलाश
घटना में दोनों पक्षों के शामिल होने की वजह से पुलिस ने मुंशी यादव के बेटे विकास की तहरीर पर दुर्गा सिंह, कमलावती, बबलू सिंह, गुड्डन सिंह, प्रिंस सिंह, दुर्गा सिंह की दो पुत्रवधुओं के खिलाफ मर्डर और बलवा सहित कई धाराओं में मुकदमा दर्ज किया. शुक्रवार को पुलिस ने दुर्गा के बेटे प्रदीप कुमार, भतीजे प्रिंस, मुंशी के बेटे विकास, भतीजे राजू उर्फ संतोष और मुकेश को अरेस्ट कर लिया है. कुछ अन्य लोगों को हिरासत में लेकर पुलिस पूछताछ क रही है.

वादी बने अभियुक्त, मृतकों पर एफआईआर
भूमि विवाद के मामले में लापरवाही बरतने वाली खजनी पुलिस की तेजी से भी परेशानी बढ़ गई है. तीन हत्याओं के मामले में पुलिस ने अभियुक्तों को वादी बना दिया है. दोनों पक्षों की तरफ मुकदमों के वादी प्रदीप और विकास भी अभियुक्त है. इसके अलावा पुलिस ने तीन मृतकों को भी मुल्जिम बना दिया है. घटना में दुर्गा सिंह, उनकी पत्नी कमलावती और दूसरे पक्ष के मुंशी उर्फ राम मनोहर को भी एफआईआर में मुल्जिम बना दिया गया. घटना से बौखलाई पुलिस ने परिवार की महिलाओं को भी मुल्जिम बना दिया है. खजनी पुलिस का कहना है कि तहरीर के आधार पर केस दर्ज किया गया है. विवेचना में गड़बड़ी को दुरुस्त किया जाएगा.


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.