पानी न मिलने पर जीवनी मंडी वाटरव‌र्क्स में नारेबाजी

2019-06-07T06:01:06+05:30

- पार्षद ने जलकल के अधिशासी अभियंता पर लगाया अभद्र व्यवहार का आरोप

- पानी ने आने से आक्रोशित लोगों ने किया प्रदर्शन

आगरा। बालाजीपुरम वार्ड 41 के तीन ब्लॉकों में ढाई साल से पानी न आने पर गुरुवार दोपहर लोगों का गुस्सा फूट पड़ा। बड़ी संख्या में पुरुष व महिलाएं जीवनी मंडी वाटरव‌र्क्स पहुंची। जल संस्थान के अफसरों के खिलाफ नारेबाजी की। इस दौरान पार्षद ने अधिशासी अभियंता राजेंद्र आर्य पर अभद्र व्यवहार करने का आरोप लगाया। हालांकि बाद ने अधिशासी अभियंता ने समस्या निराकरण का भरोसा दिलाया। तब जाकर लोगों का आक्रोश शांत हो सका।

शिकायतों के बाद भी नहीं हो पा रहा निस्तारण

बालाजीपुरम के ए ब्लॉक को छोड़ बाकी के तीन ब्लॉक में पानी नहीं आ रहा है। क्षेत्रीय लोग डेढ़ दर्जन से अधिक शिकायतें कर चुके हैं। उसके बाद भी निस्तारण नहीं हो पा रहा है। गुरुवार दोपहर पार्षद राहुल चौधरी की अगुवाई में दर्जनों पुरुष और महिलाएं वाटरव‌र्क्स पहुंची। महिलाओं ने अफसरों के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी। इससे विभाग का कामकाज ठप हो गया। महिलाओं ने कई कमरों में ताला बंद करने का प्रयास किया। जल संस्थान के कर्मचारियों ने किसी तरीके से स्थिति को संभाला। लोगों ने जोन प्रथम के अधिशासी अभियंता राजेंद्र आर्य को घेर लिया। पार्षद ने बताया कि जल्द लाइन ठीक नहीं हुई तो आंदोलन किया जाएगा। घेराव करने वालों में सत्यदेव शर्मा, राजकुमार, घनश्याम, राजेंद्र सिकरवार, महेंद्र सिंह, नरेश वर्मा शामिल रहे।

दर्जनभर क्षेत्रों में नहीं आया पानी

गुरुवार को दर्जनभर क्षेत्रों में पानी नहीं आया। इससे लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा। प्रमुख क्षेत्रों में काला महल, गधापाड़ा, रामबाग, दयालबाग का कुछ हिस्सा, न्यू शाहगंज, बालूगंज, आवास विकास सेक्टर छह से आठ शामिल हैं।

पानी का प्रेशर रहा कमजोर

गुरुवार को लोहामंडी, जगदीशपुरा, कमलानगर क्षेत्रों में पानी का प्रेशर कमजोर रहा। लोगों ने इसकी शिकायत नगर निगम के अफसरों से की।

480 फीट पर टिका जलस्तर

यमुना नदी का जलस्तर 480 फीट पर टिका हुआ है। यह न्यूनतम जलस्तर है। अगर जलस्तर इससे कम होता है तो इससे शहर के एक चौथाई क्षेत्र में जलापूर्ति ठप हो जाएगी।

पानी का प्रेशर बढ़ाने से डर रहा है जल संस्थान

राइजिंग लाइन में लीकेज के चलते जल संस्थान अब एमबीबीआर और सिकंदरा प्लांट से पानी का प्रेशर बढ़ाने से डर रहा है। वर्तमान में 75 एमएलडी गंगाजल और 70 एमएलडी यमुना जल की आपूर्ति हो रही है।

inextlive from Agra News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.