पटना पब्लिक ने बदमाशों को मार डाला

2018-09-08T12:06:23+05:30

- बेगूसराय में दोपहर की घटना, क्लास से छात्रा को घसीटकर ले जा रहे थे तीन बदमाश

patna@inext.co.in
PATNA
: दोपहर करीब 12 बजे स्कूल से छात्रा का अपहरण कर भाग रहे तीन अपराधियों को ग्रामीणों ने दबोच लिया और पीटकर मार डाला। गांव के लोग छात्रा के अपहरण को उसके साथ अनहोनी की आशंका से जोड़ रहे हैं। हालांकि, पुलिस अभी तक किसी नतीजे पर नहीं पहुंची है। पुलिस इसे भीड़ की हसा मान रही है.

गोलियां हो गई खत्म

छौड़ाही ओपी क्षेत्र के नारायणपीपर गांव के धर्मशाला चौक स्थित नवसृजित प्राथमिक विद्यालय की प्रभारी प्रधानाध्यापिका निभा कुमारी ने बताया कि तीनों अपराधी पांचवीं की छात्रा को अगवा कर ले जा रहे थे। छात्रा क्लास में बैठी थी कि हाथ में पिस्टल लहराते तीनों घुसे और छात्रा का हाथ पकड़कर उसे घसीटकर ले जाने लगे। छात्रा के चिल्लाने पर सहपाठियों ने आवाज लगाई। क्लास में भगदड़ मच गई। दौड़ी आई शिक्षिकाओं ने भी विरोध किया। इस पर अपराधी भड़क गए और हथियार लहरा कर सभी को शांत रहने की धमकी देने लगे। अपराधी तब तक छात्रा को पकड़े हुए स्कूल से बाहर नहीं निकल सके थे। भीड़ को आते देख, तीनों गोली चलाने लगे। 4- 5 राउंड हवाई और बेतरतीब फायर के बाद उनकी गोलियां खत्म हो गई। इसके बाद भीड़ तीनों पर टूट पड़ी। डंडे, ईंट व लोहे के रॉड से तीनों का सिर और शरीर कूच डाला। इधर, प्रधानाध्यापिका ने तत्काल छौड़ाही पुलिस को घटना की सूचना दी। 20 मिनट बाद पुलिस पहुंची। इससे पहले ही अपराधी मुकेश दम तोड़ चुका था। अन्य दो अपराधी श्याम सिंह उर्फ बौना और उसका बहनोई हीरा सिंह की मौत इलाज के लिए ले जाने के दौरान हो गई। बौना कुंभी निवासी था तथा हीरा समस्तीपुर के रोसड़ा थाना क्षेत्र का रहने वाला था.

जेल से निकलते ही मुकेश पहुंचा था स्कूल

छौड़ाही ओपी क्षेत्र के नारायणपीपर गांव के गोरिया धर्मशाला के निकट भीड़ के हाथों मारे गए तीन में से दो अपराधी चेरिया बरियारपुर थाना क्षेत्र के कुंभी गांव के थे। एक कुख्यात अपराधी नागमणि महतो का बड़ा भाई मुकेश महतो है। दूसरा श्याम सिंह उर्फ बौना सिंह था। तीसरा अपराधी बौना का बहनोई रोसड़ा निवासी हीरा सिंह बताया जा रहा है। मुकेश महतो का लंबा आपराधिक इतिहास रहा है। दोनों भाई मुकेश और नागमणि महतो जेल से बाहर निकलते ही आतंक फैलाने के लिए ताबड़तोड़ आपराधिक घटनाओं को अंजाम देने लगते थे। मुकेश चार दिन पहले ही जेल से छूटा था। शुक्रवार को एक बच्ची का अपहरण करने बौना सिंह और हीरा सिंह के साथ नारायणपीपर गांव पहुंच गया था। जहां वह भीड़ के हत्थे चढ़ गया। मुकेश पर पहले से हत्या, आ‌र्म्स एक्ट और दुष्कर्म के कई मामले मुकेश महतो पर पूर्व से दर्जन भर संगीन मामले दर्ज हैं। पुलिस मामले की जांच में जुट गई है.

ग्रामीण होंगे गिरफ्तार : एसपी

एसपी आदित्य कुमार ने बताया कि बच्ची काअपहरण कर भाग रहे तीन अपराधियों को ग्रामीणों ने पीटकर मार डाला है। भीड़ को कानून हाथ में लेने की इजाजत नहीं दी जा सकती। हमला करने वाले ग्रामीणों की पहचान कर उन्हें गिरफ्तार किया जाएगा.

inextlive from Patna News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.