Pulwama Terror Attack गम गुस्सा और बदले की चाहत सदन से सड़क तक शहीदों की याद में आंखें हुई नम

2019-02-16T09:29:50+05:30

जम्मू कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए फिदायीन हमले के बाद जवानों की मौत ने पूरे प्रदेश में सबको झकझोर कर रख दिया।

- शहीदों को श्रद्धांजलि देकर विधानसभा की कार्यवाही स्थगित
- पूरे प्रदेश में यूपी पुलिस ने दो मिनट का मौन रखकर दी श्रद्धांजलि
- सड़कों पर आई जनता, निकले कैंडल मार्च, फूंका पाक का पुतला

lucknow@inext.co.in
LUCKNOW: शुक्रवार को सदन से लेकर सड़कों तक सीआरपीएफ के जवानों के शहीद होने पर लोग गम में डूबे नजर आए। विधानसभा की कार्यवाही शहीदों को याद करने के बाद स्थगित कर दी गयी तो दफ्तरों में भी कामकाज के बजाय लोग पाकिस्तान की इस कायराना हरकत की निंदा करते और आतंकियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई करने की वकालत करते दिखे। अधिवक्ताओं ने सुबह राजभवन घेर कर आतंकवाद का पुतला जलाया तो शाम को अलग-अलग राजनैतिक दलों, संगठनों के हजारों लोग नम आंखों के साथ हाथों में मोमबत्ती लेकर देश के सपूतों को श्रद्धांजलि देने निकल पड़े।

सदन में रहा शोक का माहौल

शुक्रवार को विधानसभा की कार्यवाही शुरू होने पर संसदीय कार्यमंत्री सुरेश खन्ना ने पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आतंकी हमले में जवानों के शहीद होने की सूचना दी जिसके बाद पूरा सदन शोक में डूब गया। विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित के अनुरोध पर सारे सदस्यों ने दो मिनट का मौन धारण कर जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित की। वहीं दूसरी ओर विधान परिषद में भी प्रश्न प्रहर शुरू होते ही नेता प्रतिपक्ष अहमद हसन ने आतंकी हमले में सीआरपीएफ  के शहीद हुये करीब 44 जवानों के प्रति सदन में शोक संवेदना व्यक्त करने की इच्छा व्यक्त की जिस पर सभी सदस्यों ने सहमति प्रदान की। तत्पश्चात तमाम सदस्यों ने शोक संवेदना व्यक्त करते हुये इस आतंकी घटना की निंदा की। अंत में सभापति रमेश यादव ने भी शोक संवेदना व्यक्त करने के साथ आतंकी घटना की निंदा की तथा घायल सैनिकों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना की। सदन ने कुछ क्षण मौन धारण कर शहीद सैनिकों के प्रति श्रद्धांजलि अर्पित की।
 
पूरे प्रदेश में पुलिसकर्मियों ने रखा मौन
पुलवामा कांड के बाद डीजीपी ओपी सिंह ने प्रदेश के सभी पुलिसकर्मियों को सुबह 10।30 बजे पुलिस थाने, कार्यालय आदि में एकत्र होकर दो मिनट का मौन रखने की अपील की जिसके बाद पुलिसकर्मियों ने शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की। डीजीपी मुख्यालय में भी शोक सभा का आयोजन किया गया। सचिवालय, निदेशालयों के अलावा पूरे प्रदेश में तमाम सरकारी और प्राइवेट दफ्तरों में शहीदों की याद में लोग शोक में डूबे रहे। राजनैतिक दलों के दफ्तरों में भी शहीदों को याद किया गया और पाकिस्तान की जमकर भत्र्सना की गयी। राजधानी में दोपहर तीन बजे आधे घंटे के लिए सारे पेट्रोल पंप बंद रखकर शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की गयी। जल निगम में कर्मचारी संगठन ने धरना व आंदोलन भी स्थगित कर दिया और शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की। इस फेहरिस्त में पत्रकार संगठन भी शामिल रहे और उन्होंने जीपीओ स्थित गांधी प्रतिमा पर एकत्र होकर श्रद्धांजलि अर्पित करने के साथ पाकिस्तान को करारा जवाब देने की मांग की।
Pulwama Terror Attack: शहीदों के परिवार की मदद को योगी सरकार ने बढ़ाए हाथ, कुछ अन्य ऐलान जल्द

Pulwama Terror Attack: शहीदों में कश्‍मीर से कन्‍याकुमारी तक के जवान शामिल, दिल्‍ली पहुंचे जवानों के पार्थिव शरीर


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.