MillennialsSpeak #RaajniTEA में बोले गोरखपुर के युवा भले ही महंगाई बढ़ जाए लेकिन देश की सुरक्षा पहले जरूरी है

2019-03-19T09:34:29+05:30

दैनिक जागरण आई नेक्स्ट और रेडियो सिटी की ओर से ऑर्गनाइज्ड राजनीटी का मंच मोहद्दीपुर स्थित कात्यायनी क्लासेज में सजा तो मिलेनियल्स ने दिल खोलकर अपनी बातें रखीं

GORAKHPUR@inext.co.in
GORAKHPUR: लोकसभा चुनाव करीब आते ही जहां जिला निर्वाचन अधिकारी की टीम पूरी मुस्तैदी के साथ काम में जुट गई है। वहीं चुनावी सरगर्मी भी बढ़ गई है। इस बार के लोकसभा चुनाव में पहली बार वोटिंग राइट्स का यूज करने को लेकर मिलेनियल्स भी बेहद एक्साइटेड नजर आ रहे हैं। दैनिक जागरण आई नेक्स्ट और रेडियो सिटी की ओर से ऑर्गनाइज्ड राजनी-टी का मंच मोहद्दीपुर स्थित कात्यायनी क्लासेज में सजा तो मिलेनियल्स ने दिल खोलकर अपनी बातें रखीं। यूथ जहां अपने वोटिंग राइट्स को लेकर बेहद एक्साइटेड नजर आए तो वहीं सरकार चुनने में देश की सुरक्षा के साथ-साथ रोजगार को अहम मुद्दा बताया।

उठे सुरक्षा व्यवस्था जैसे मुद्दे
रेडियो सिटी की ओर से कार्यक्रम का संचालन कर रहे आरजे सारांश व प्रतीक ने सबसे पहले सभी को मिलेनियल्स का मतलब समझाया। इसके बाद मिलेनियल्स ने भी खूब सवाल-जवाब किए। कात्यायनी क्लासेज में युवाओं ने वर्तमान सरकार की तमाम योजनाओं की जहां तारीफ की। वहीं इन योजनाओं को ग्राउंड लेवल पर उतारने की जरूरत पर जोर दिया। साथ ही देश की सुरक्षा, डिजीटल इंडिया, स्टार्ट अप इंडिया, मेक इन इंडिया, करप्शन, एलपीजी सब्सिडी समेत सुरक्षा व्यवस्था जैसे मुद्दों पर भी बेबाकी से अपनी बात रखी।

रोजगार की है जरूरत
चर्चा में शामिल हुए अजय मिश्रा ने कहा कि देश का विकास बेहद जरूरी है। साथ ही देश की सुरक्षा भी अहम मुद्दा है। इसी क्रम में जहां आम जनमानस को रोजगार की जरूरत है। वहीं डिजीटल इंडिया जैसे मुद्दों पर बात करने वाले जिम्मेदारों को भी गंभीर होना होगा। उज्ज्वला गैस योजना को लेकर भी मंथन किया जाए। राजेश कुमार ने कहा कि युवा बेरोजगार हैं जिन्हें रोजगार की जरूरत है। इस पर ठोस कदम उठाए जाने की जरूरत है।

तभी हो सकेगा देश का विकास

 


मुद्दों पर होने वाली चर्चा के दौरान ज्यादातर युवाओं ने यही कहा कि उन्हें बेरोजगारी से मुक्ति दिलाने वाली सरकार ही चाहिए। देश के विकास में आज के युवाओं का अहम रोल है। ऐसे में अगर पढ़े लिखे बेरोजगार युवा हाथ पर हाथ धरे बैठे रहेंगे तो फिर न तो युवा का विकास हो सकेगा और न ही देश ही आगे बढ़ेगा। इसलिए बिना किसी भ्रष्टाचार के अगर युवाओं के लिए भर्ती के रास्ते खोले जाएं तो निश्चित तौर पर मिलेनियल्स को इसका लाभ मिल सकेगा।

 

मेरी बात
विकास और सुरक्षा बेहद जरूरी है। देश की आंतरिक सुरक्षा के लिए और बेहतर काम करने की जरूरत है। विकास के लिए जैसे सड़क, बिजली व शिक्षा आदि की जरूरत है। इसके लिए सरकार की तरफ से बेहतर कार्य किए गए हैं। कहीं न कहीं इसे और बेहतर करने की जरूरत है। विकास की रफ्तार में तेजी लाने के लिए सरकार की तमाम योजनाओं के साथ-साथ इसे ग्राउंड पर लाने पर लाने की जरूरत है।
अमित चंद झा

 

कड़क मुद्दा
प्रधानमंत्री आयुष्मान योजना का आनन-फानन में शुभारंभ तो कर दिया गया है। लेकिन आज भी स्वास्थ्य विभाग इसे ग्राउंड लेवल पर लाने में पूरी तरह से असफल नजर आ रहा है। जबकि सिटी से लगाए ग्रामीण एरिया के लोगों के बीच जाने वाली आशा बहुएं भी इस योजना को लोगों तक पहुंचाने के लिए स्वास्थ्य विभाग के चक्कर लगाती नजर आती हैं। जब तक प्रशासन इस व्यवस्था को सख्ती के साथ नहीं सुधारेगा तब तक लोग इस योजना से वंचित रहेंगे।

 

सतमोला खाओ, कुछ भी पचाओ
आज की डेट में नेताओं की भरमार हो चुकी है। सोशल मीडिया पर खुद को बेहतर साबित करने की होड़ सी मची हुई है। कोई विकास कार्य की दुहाई देता नजर आता है तो कोई बड़े-बड़े दावे करता हुआ दिखाई देता है। लेकिन ग्राउंड लेवल पर जब तक यह नेता अपने कार्य को नहीं लाएंगे तब तक यह समस्या बरकरार रहेगी। जो पब्लिक हित में काम करेगा, वोट उसी को जाना चाहिए। क्योंकि अब पब्लिक के पास मौका आ गया है कि वे अपने वोटिंग राइट्स का इस्तेमाल कर मुंह तोड़ जवाब दें। तब जाकर सोशल मीडिया वाले नेताओं के बड़े-बड़े दावों की बोलती बंद हो जाएगी।

सबसे बड़ा मुद्दा आज की डेट में बेरोजगारी का है। जब तक इस देश से बेरोजगारी समाप्त नहीं होगी। तब तक इस देश के युवा बेरोजगार घूमते रहेंगे। मेरा वोट उसी को जाएगा जो वैकेंसी निकालेगा और उस पर समय से भर्ती करवाएगा। इसके लिए पूरा प्रयास करना होगा। तभी युवाओं को इसका लाभ मिल सकेगा।

पीयुष कुमार

 

देखिए सिस्टम में सुधार की जरूरत है। क्योंकि विकास कार्य तो हो रहे हैं लेकिन जिस प्रकार से होने चाहिए वैसा नहीं हो रहा है। कहीं न कहीं जिम्मेदार अफसर इसमें लापरवाही दिखाते हैं। लेकिन सरकार की जितनी भी योजनाएं विकास से जुड़ी हुई है उन्हें ग्राउंड लेवल पर उतारने की जरूरत है। तभी जाकर इसका फायदा जनता तक पहुंच सकेगा।

मनीष

 

वर्तमान सरकार ने काम तो अच्छे किए, लेकिन महिलाओं की सुरक्षा के लिए और सख्त कदम उठाने की जरूरत है। कहीं न कहीं आज भी महिलाएं खुद को असुरक्षित महसूस करती हैं। जो महिलाओं की सुरक्षा की बात करेगा उसे ही मेरा वोट जाएगा।
मनोरमा

 

सर्वप्रथम देश है। देश में विकास जरूरी है। विकास के साथ युवाओं को रोजगार बेहद जरूरी है। इसलिए जो भी सरकार आए वह इस दिशा में ठोस कदम उठाए। क्योंकि रोजगार एक बड़ा मुद्दा है। भ्रष्टाचार जहां है उसे भी दूर किया जाना चाहिए।

नेहा राय

 

आज की सबसे बड़ी समस्या है बेरोजगारी। मेरा वोट उसी को जाएगा जो रोजगार की बात करेगा। वैकेंसी निकालेगा। उसे समय पर पूरा करवाएगा। तभी जाकर युवाओं का वोट हासिल हो सकेगा। इन सभी बातों पर कहीं न कहीं ध्यान देना होगा।

प्रभाकर

 

महंगाई से ज्यादा जरूरी है कि हमारे देश की सुरक्षा व्यवस्था मजबूत हो। इसके लिए सरकार को ठोस कदम उठाने ही चाहिए। रहा सवाल युवाओं के रोजगार का तो मेरा वोट उसकी को जाएगा जो वैकेंसी भी लगाएगा। क्योंकि युवा ही देश का भविष्य हैं

हर्ष

 

महंगाई आज भी पहले जैसी ही है। मेरा वोट उसी को जाएगा जो सरकार महंगाई को काबू में कर सके। क्योंकि महंगाई के लिए सरकार की तरफ से कई पहल नहीं की गई। जबकि पेट्रोल और डीजल के दाम में अगर कमी हुई होती तो इसका फायदा खाद्य वस्तुओं पर जरूर पड़ता लेकिन ऐसा हुआ नहीं। कहीं न कहीं सरकार को इस दिशा में काम करना होगा।

सुनीता जायसवाल

 

प्रधानमंत्री आयुष्मान योजना जिस मकसद के लिए शुरूआत की गई है वह निश्चित तौर पर सराहनीय है। लेकिन इस योजना का लाभ ग्राउंड लेवल पर नहीं पहुंच पाया है। इसके लिए जिम्मेदार अफसरों को सख्त होने की जरूरत है। तभी जाकर इस योजना का लाभ लोगों को मिल सकेगा।

योगेश


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.