बरेली जंक्शन डिजिटली लॉक

2019-04-15T06:00:15+05:30

-जंक्शन पर पैसेंजर्स की सुविधा के लिए लगाई गई कार्ड स्वाइप मशीन भी खराब

-टिकट वेंडिंग मशीनों से भी नकद रुपए देने के बाद ही मिल रहा टिकट

============

200-ट्रेनें अप-डाउन लाइन पर है

20-हजार से अधिक जनरल टिकट की होती है डेली बिक्री

700-टिकट की करीब होती है डेली बुकिंग

5-रिजर्वेशन टिकट काउंटर हैं जंक्शन पर

3-जनरल टिकट बिक्री के कांउटर हैं

5-ऑटोमेटिक टिकट वेंडिंग मशीन लगी हैं

2-टिकट वेंडिंग मशीनें प्लेटफार्म दो और तीन पर लगने को रखी हैं

-----------------

बरेली:

बरेली जंक्शन पर डिजिटल पेमेंट की शासन की मुहिम पूरी तरह दम तोड़ चुकी है। टिकट खरीदने के लिए पहुंच रहे यात्रियों को कैशलेस टिकट नहीं मिल रहे हैं और यहां लगा एटीएम भी अक्सर कैशलेस हो जाता है। ऐसे में अगर आप अपने एटीएम कार्ड के जरिए डिजिटल पेमेंट लेना चाहेंगे तो भी नहीं मिलेगा। ऐसे में रेलवे की कैशलेस सुविधा से पैसेंजर्स प्रॉब्लम में फंस रहे हैं। मजबूरन वह शहर आते हैं और किसी एटीएम से कैश निकलते हैं तब कहीं जाकर वह यात्रा के लिए टिकट खरीद पा रहे हैं।

टिकट रिजर्वेशन के लिए भी कैश पेमेंट

जंक्शन पर रिजर्वेशन टिकट के लिए 5 काउंटर हैं, लेकिन इसमें से सिर्फ दो काउंटर पर रिजर्वेशन टिकट बुक किए जाते हैं। बाकी तीन काउंटर तो अक्सर बंद रहते हैं। बाकी दोनों काउंटर पर टिकट बुकिंग के लिए डिजिटल पेमेंट की कोई व्यवस्था नहीं है। ऐसे में टिकट की बुकिंग कराने के लिए कैश पेमेंट ही करना होता है।

स्वाइप मशीनें भी खराब

जंक्शन पर जनरल टिकट की बिक्री के लिए तीन काउंटर हैं। यहां करीब एक साल पहले डिजिटल पेमेंट की व्यवस्था के लिए दो स्वाइप मशीनें दी गई थीं। पैसेंजर्स ने स्वाइप मशीन के जरिए डिजिटल पेमेंट करके टिकट लेना भी शुरू कर दिया, लेकिन शुरूआत में एक-दो हफ्ता चलने के बाद ही स्वाइप मशीनें बंद हो गई। ऐसे में अब कैश कैरी न करने वाले पैसेंजर्स को टिकट विंडो पर पहुंचने के बाद डिजिटल पेमेंट न होने के चलते परेशान होना पड़ता है।

टिकट वेंडिंग मशीन भी धोखा

पैसेंजर्स को जनरल टिकट लेने के लिए लाइन में न लगना पड़े इसके लिए रेलवे ने जंक्शन पर पांच टिकट वेंडिंग मशीने लगाई थी। जिसमें से तीन मशीनें देखने में तो चालू हैं लेकिन जब कोई पैसेंजर्स टिकट निकलने की कोशिश करता है तो उसके अकाउंट से रुपए तो कट जाते हैं लेकिन टिकट नहीं निकलता। रीजन टिकट वेंडिंग मशीनों के सुपरविजन में लगाए गए इम्पलाई टिकट वेंडिंग मशीन में टिकट का रोल ही नहीं लगाते हैं। जिस कारण रुपए तो कटते हैं लेकिन टिकट नहीं निकलते हैं। पैसेंजर शिकायत लेकर रेलवे के अधिकारियों के पास जाते हैं लेकिन समस्या का समाधान न होने पर उन्हें फिर कैश पेमेंट करके ही टिकट लेना पड़ता है।

सभी जगह कैश पेमेंट

जंक्शन पर तीन टिकट वेंडिंग मशीनें धोखा दे रही हैं तो दो मशीनों को ऑपरेट करने के लिए ऑपरेटर बैठते हैं। वह मशीन से टिकट तो निकाल देते हैं लेकिन वह भी कैश पेमेंट लेने के बाद ही टिकट निकाल कर दे रहे हैं।

======================

अफसर का वर्जन अपडेट होगा

-जंक्शन पर कार्ड स्वाइप मशीन जल्दी में ही खराब हुई है। इसी कारण कारण नकद कैसे लेना पड़ रहा है। मशीन ठीक होने के बाद कैशलेस टिकट की व्यवस्था रहेगी।

काकरकसा

----------------

-टिकट लेने के लिए जंक्शन पर नकद रुपए ही मांगे जाते हैं। एटीएम पर गया तो वहां रुपए नहीं निकले, ऐसे में काफी परेशानी हुई। कलेक्ट्रेट के पास आकर एटीएम से रुपए निकाले तब कहीं जाकर टिकट मिला।

अखिलेश

----

टिकट लेने के लिए काउंटर पर गया तो बताया कि एटीएम कार्ड स्वाइप कर टिकट नहीं मिलेगा। मशीन खराब है। टिकट वेंडिंग मशीन पर भी बगैर नकद रुपए दिए टिकट नहीं मिला।

मोहित

inextlive from Bareilly News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.