मलिंगा की नोबाॅल सहित अंपायरों ने IPL इतिहास में की हैं ये 5 बड़ी गलती

2019-03-29T12:19:03+05:30

आईपीएल 2019 में गुरुवार को आरसीबी और मुंबई के बीच खेला गया मैच काफी विवादित रहा। ये मैच मुंबई ने छह रन से जीता और आरसीबी की हार का जिम्मेदार अंपायर को माना जा रहा। जिन्होंने मलिंगा की गेंद को नोबाॅल नहीं दिया।

कानपुर। इंडियन प्रीमियर लीग के 12वें सीजन का सातवां मैच गुरुवार को मुंबई बनाम बैंगलोर के बीच खेला गया। विराट कोहली की टीम आरसीबी को इस मैच में छह रन से नजदीकी हार झेलनी पड़ी। अब इस हार का जिम्मेदार अंपायर को माना जा रहा। दरअसल आखिरी गेंद पर आरसीबी को जीत के लिए 7 रन चाहिए थे और गेंदबाजी लसिथ मलिंगा कर रहे थे। मलिंगा ने आखिरी गेंद डाॅट फेंकी मगर रिप्ले में पता चला कि उनका पैर क्रीज से बाहर था। अंपायर को इसे नो-बाॅल देना चाहिए था मगर उन्होंने ध्यान नहीं दिया। जिसके चलते बैंगलोर को छह रन से मैच हारना पड़ा।

गलत रिप्ले पर हो गया निर्णय
क्रिकेट मैच में सिर्फ ऑन फील्ड अंपायर ही नहीं थर्ड अंपायर भी गलती कर जाते हैं। ऐसा ही एक अनोखी गलती पिछले साल मुंबई इंडियसं बनाम राॅयल चैलेंजर्स बैंगलोर के मैच में दिखी थी। दरअसल जसप्रीत बुमराह ने आरसीबी के बल्लेबाज उमेश यादव का विकेट लिया था मगर अंपायर यह जाना चाहते थे कि बुमराह का पैर क्रीज के बाहर तो नहीं गया। इसके लिए थर्ड अंपायर की मदद ली गई, मगर थर्ड अंपायर ने जब रिप्ले देखा तो पता चला कि बुमराह ने नो बाॅन नहीं फेंकी और उमेश को आउट दिया गया। मगर बाद में मालूम हुआ कि थर्ड अंपायर ने जो रिप्ले देखा था वो किसी और गेंद का था जब उमेश नाॅन स्ट्राइक एंड पर थे। यानी कि थर्ड अंपायर ने गलत रिप्ले देखकर निर्णय कर दिया था।

जबरदस्ती दी गई नो-बाॅल

गेंदबाज द्वारा नो बाॅल को लेकर अक्सर विवाद रहता है। पिछले सीजन में मुंबई इंडियंस और कोलकाता नाइट राइडर्स के बीच खेले गए मैच में ऐसा ही कुछ सामने आया था। दरअसल मैच के 16वें अोवर में केकेआर के गेंदबाज सैम करन की गेंद को अंपायर केएन अनंतपद्मनभन ने नो बाॅल दे दिया, जबकि रिप्ले में साफ देखा गया था कि करन का पैर क्रीज के अंदर था। बाद में केकेआर के कप्तान ने अंपायर से फैसला बदलने का कहा, मगर उन्होंने किसी की न सुनी।

आउट को दिया गया नाॅटआउट

आईपीएल के 11वें सीजन में मुंबई बनाम बैंगलोर के बीच अंपायरों की गलती के चलते आउट बल्लेबाज को नाॅटआउट दिया गया था। दरअसल आरसीबी के गेंदबाज क्रिस वोक्स मुंबई बल्लेबाज हार्दिक पांड्या के खिलाफ गेंदबाजी कर रहे थे। वोक्स की एक गेंद पांड्या के बल्ले का बाहरी किनारा लेते हुए कीपर के दस्तानों में चली गई। आरसीबी ने आउट की अपील की और अंपायर ने उंगली भी उठा दी। मगर हार्दिक ने डीआरएस ले लिया, इसके बाद रिप्ले में पता चला कि हार्दिक के बल्ले में एज लगा है, बावजूद थर्ड अंपायर ने नाॅट आउट दे दिया। इस फैसले से आरसीबी कप्तान विराट कोहली भी हैरान रह गए।

बल्लेबाज ने दो बार ले ली स्ट्राइक

आईपीएल 2017 के दसवें मुकाबले में मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में ऐसा ही एक विवादित मैच खेला गया। इस दौरान मुंबई इंडियंस और सनराइजर्स हैदराबाद की टीमें आमने-सामने थी। जिसमें मुंबई इंडियंस ने सनराइजर्स हैदराबाद को चार विकेट से हरा दिया। मैच में हार जीत का होना कोई बड़ी बात नहीं है, लेकिन मैच में मैदानी अंपायरों की गलती चर्चा का विषय बन गई थी। मैच के दौरान हैदराबाद के कप्तान डेविड वार्नर ने पहले मुंबई के खिलाफ छठे ओवर की अंतिम गेंद में थर्ड मैन बाउंड्री पर चौका जड़ा। इसके बाद मिचेल मैक्लेघन के अगले ओवर की पहली गेंद पर वार्नर ने फिर स्ट्राइक ले लिया। अंपायरों ने इस बात पर ध्यान नहीं दिया।

IPL 2019 : जानें किस गेंदबाज ने डेब्यू मैच में फेंका सबसे महंगा पहला ओवर


IPL में सिक्सर किंग बने युवराज सिंह, 12 साल पहले इस जिद के चलते ठोंके थे 6 गेंदों पर 6 छक्के



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.