झुलसाती गर्मी में प्यास बुझाना हुआ महंगा

2019-05-23T06:00:04+05:30

इतने आरओ प्लांट

12 से ज्यादा आरओ वाटर प्लांट चल रहे हैं केवल रसूलाबाद एरिया में।

60 आरओ वाटर प्लांट हैं तकरीबन सलोरी, छोटा बघाड़ा, बड़ा बघाड़ा और कटरा में।

500 से अधिक आरओ प्लांट इस समय चल रहे हैं पूरे शहर में

20 लीटर आरओ पानी होता है एक कैन के अंदर

ऐसे लगा रहे चूना

-10 से 20 लाख लीटर पानी का पर-डे हो रहा है बिजनेस।

-बदले में नगर निगम के जलकल विभाग को नहीं मिल रही है कोई धनराशि।

-कई आरओ वाटर प्लांट का नगर निगम में नहीं है कोई रजिस्ट्रेशन।

-कई फर्मो ने जीएसटी नंबर भी अभी तक नहीं लिया।

-प्लांट के लिए जलकल विभाग से अलग से नहीं लिया है कोई कनेक्शन।

-आवासीय कनेक्शन पर ही हो रहा है बिजनेस।

ऐसे चल रहा बिजनेस

10 रुपए करीब आती है एक केन पानी को तैयार करने में लागत।

08 रुपए का खर्च आता है आदमी रखकर लोगों के घर और दुकान तक पहुंचाने में।

20 रुपए में एक केन आमतौर पर बेचा जाता है।

05 रुपए तक की बचत होती है प्रति केन

35 रुपए तक डिमांड बढ़ने पर कर दिया गया है आरओ वाटर का दाम

500 आरओ वाटर प्लांट अगर 100 कैन भी पर डे कर रहे सप्लाई तो 10 लाख लीटर पानी का हो रहा है बिजनेस

--------------

-20 रुपए का कैन बिक रहा 30 से 40 रुपए में

-आरओ प्लांट संचालकों ने शुरू की मनमानी

-बदबूदार और गंदा पानी सप्लाई होने से पब्लिक महंगा पानी खरीदने को मजबूर

balaji.kesharwani@inext.co.in

PRAYAGRAJ: गर्मी बढ़ने के साथ शहर में प्यास बुझाने के इंतजाम कमतर होते जा रहे हैं। 44-45 डिग्री सेल्सियस तापमान में शहर में पानी की सप्लाई ढंग से नहीं हो रही है। जलकल को टैक्स चुकाने के बावजूद पब्लिक खरीदकर पानी पीने को मजबूर है। वहीं आरओ प्लांट संचालकों की मनमानी भी गर्मी में शहरवासियों का दम निकाल रही है। मौसम में तल्खी देखते ही आरओ प्लांट संचालकों ने पानी का दाम बढ़ा दिया है। इन सबसे लोगों का गुस्सा भी भड़कने लगा है और मारपीट की घटनाएं बढ़ने लगी हैं।

केस-1

गर्मी बढ़ी तो उबलने लगा गुस्सा

तेलियरगंज में पिछले कई साल से आरओ वाटर का रेट 20-25 रुपए प्रति केन चल रहा था। लेकिन पिछले कुछ दिनों से आरओ प्लांट संचालकों ने महंगाई का हवाला देते हुए रेट बढ़ाकर 30-35 रुपए प्रति केन कर दिया गया। तेलियरगंज व आस-पास के इलाकों में रहने वाले स्टूडेंट्स ने आरओ वाटर का रेट बढ़ाए जाने का विरोध किया।

केस-2

कर दी पिटाई

मंगलवार को एक आरओ वाटर प्लांट का कर्मचारी पानी की सप्लाई देने पहुंचा। वहां स्थानीय लोगों के साथ ही कुछ छात्रों ने युवक को पकड़ लिया। उससे वाटर कैन भी छीन लिया। गाली-गलौज करने के साथ ही मारने की धमकी भी दी। कहा कि पानी का रेट कम किया जाए, नहीं तो प्लांट को बंद करा दिया जाएगा। छात्रों की धमकी से आरओ वाटर प्लांट संचालकों में खलबली मच गई। आक्रोशित आरओ प्लांट संचालकों ने वाटर की सप्लाई ही बंद कर दी। अधिकारियों के आश्वासन पर वाटर सप्लाई शुरू कर दी गई।

वर्जन-

20 रुपए कैन में लागत नहीं निकल पा रही। इसलिए 10 रुपए बढ़ाते हुए 30 रुपए रेट किया गया है। इससे ज्यादा किसी से नहीं लिया जा रहा है। अगर कोई कर्मचारी इससे ज्यादा पैसा लेता है तो उसकी शिकायत की जा सकती है।

-विशाल कुमार

आरओ वाटर प्लांट संचालक

आरओ वाटर प्लांट चलाने में खर्च है। इसलिए रेट बढ़ाया गया है। बाहर से पढ़ाई करने के लिए आए आर्थिक कमजोर छात्रों को 20 रुपए में भी पानी दिया जा रहा है। इसके लिए उन्हें प्लांट बुलाया जा रहा है, ताकि सप्लाई का खर्च बच जाए।

-शैलेश प्रजापति

आरओ वाटर प्लांट संचालक

आरओ प्लांट संचालकों को कॉमर्शियल कनेक्शन देने के साथ उनसे कॉमर्शियल टैक्स वसूलने की प्रक्रिया चल रही है। चुनाव बाद इसमें तेजी लाई जाएगी। पानी की बर्बादी नहीं होने दी जाएगी। जिन इलाकों में वाटर सप्लाई की शिकायत आ रही है, उसे दूर किया जा रहा है।

-राधेश्याम सक्सेना

जीएम, जलकल

inextlive from Allahabad News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.