वर्ल्ड कप से पहले फ्लाॅप हुई रोहितधवन की जोड़ी पिछले 3 सालों से नहीं की इतनी खराब बल्लेबाजी

2019-03-09T11:36:18+05:30

भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया के बीच चल रही वनडे सीरीज में भारतीय ओपनर्स का अभी तक प्रदर्शन काफी खराब रहा है। रोहितधवन की जोड़ी ने जहां पिछले साल खूब रन बरसाए थे। वहीं इस बार उनके बल्लों से रन नहीं निकल रहे।

कानपुर। भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया के बीच पांच मैचों की वनडे सीरीज का तीसरा मैच शुक्रवार को रांची में खेला गया। मेहमान कंगारुओं ने ये मैच 32 रन से जीत लिया। इसी के साथ ऑस्ट्रेलिया ने सीरीज में 1-2 से वापसी कर ली है। रांची में भारत की हार की बड़ी वजह भारतीय ओपनर्स का खराब प्रदर्शन रहा। ऑस्ट्रेलिया ने जब भारत को जीत के लिए 314 रन का लक्ष्य दिया तो सभी को रोहित-धवन की जोड़ी से एक अच्छी शुरुआत की उम्मीद थी मगर ऐसा हो न सका। रोहित जहां 14 रन बनाकर आउट हुए वहीं धवन एक रन पर पवेलियन लौट गए। इस सीरीज में लगातार तीसरा मौका है जब रोहित-धवन की जोड़ी फ्लाप रही। भारत ने पहले दो वनडे जरूर जीते मगर वो गेंदबाजों के दम पर। ऐसे में रोहित-धवन की फाॅर्म भारतीय टीम मैनेजमेंट के लिए किसी चिंता से कम नहीं। इस सीरीज में दोनों का रिकाॅर्ड देखें तो हिटमैन के बल्ले से तीन मैचों में कुल 51 रन आए वहीं गब्बर सिर्फ 21 रन बना पाए।
2019 में कर रहे सबसे खराब बल्लेबाजी
भारतीय ओपनर्स के लिए साल 2019 कुछ बेहतर नहीं गुजर रहा। इस साल टीम इंडिया के ओपनर्स पिछले तीन सालों के मुकाबले सबसे फिसड्डी साबित हो रहे। क्रिकइन्फो पर उपलब्ध जानकारी के मुताबिक, रोहित-धवन ने इस साल भारत के लिए कुल 11 वनडे खेले हैं जिसमें इस जोड़ी ने सिर्फ 31 की औसत से रन बनाए। इस दौरान इनके बल्ले से सिर्फ एक शतक निकला वो भी रोहित ने जनवरी में ही ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बनाया था। धवन ने इस साल तो एक भी सेंचुरी नहीं लगाई।
धवन ने 17 पारी पहले लगाया था वनडे शतक
भारत के लिए रोहित से ज्यादा धवन की फाॅर्म चिंता का विषय है। दरअसल शिखर बाएं हाथ के बल्लेबाज हैं और टीम इंडिया आपेनिंग जोड़ी में दाएं-बाएं का काबिंनेशन बनाए रखना चाहती है। अब जब वर्ल्ड कप नजदीक आ रहा ऐसे में टीम इंडिया के गब्बर का आउट ऑफ फार्म होना खतरे की घंटी है। आपको बता दें शिखर ने वनडे में 17 पारियों से कोई शतक नहीं लगाया है। क्रिकइन्फो के डेटा के मुताबिक, सितंबर 2018 में एशिया कप में पाकिस्तान के खिलाफ धवन के बल्ले से 114 रन निकले थे, उसके बाद से वह कोई सेंचुरी नहीं लगा पाए। यही नहीं पिछली छह पारियों से उन्होंने अर्धशतक भी नहीं लगाया।

धोनी के चलते 8 साल तक टीम से बाहर रहा था ये खिलाड़ी

Ind vs Aus : आर्मी वाली टोपी पहनकर मैदान में क्यों उतरे भारतीय क्रिकेटर, जानें और कितने मैच खेलेंगे ऐसे ही


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.