वनडे में इनके जैसी साझेदारी करने में रोहितविराट भी फेल ये हैं टॉप 5 पार्टनरशिप

2018-10-22T03:22:46+05:30

वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले वनडे में टीम इंडिया को बल्लेबाजों के चलते जीत मिली। रोहित शर्मा और विराट कोहली की पार्टनरशिप के आगे मेहमान गेंदबाजों की एक न चली। वैसे आपको बता दें रोहितविराट से ज्यादा बड़ी साझेदारी इन भारतीय बल्लेबाजों के नाम है।

कानपुर। भारत-वेस्टइंडीज के बीच गुवाहाटी में खेला गया पहला वनडे टीम इंडिया ने 8 विकेट से जीत लिया। भारत की इस जीत के हीरो कप्तान विराट कोहली और रोहित शर्मा रहे। जिन्होंने दूसरे विकेट के लिए 246 रनों की साझेदारी कर भारत को जीत की दहलीज पर पहुंचाया। शिखर धवन के 4 रन पर आउट हो जाने के बाद कोहली और रोहित ने पारी को संभाला। विराट ने जहां 140 रन की पारी खेली वहीं रोहित 152 रन बनाकर नाबाद रहे। कैरेबियाई गेंदबाजों ने इस जोड़ी को तोड़ने के लिए तमाम प्रयास किए मगर रोहित-विराट की जोड़ी ने शानदार बल्लेबाजी का नमूना पेश किया।

इनके नाम है सबसे बड़ी साझेदारी का रिकॉर्ड
भारत की तरफ से रोहित-कोहली ने मिलकर वनडे में पांच बार 200 या उससे ज्यादा रन की पार्टनरशिप की है, यह भी एक रिकॉर्ड है। दुनिया में किसी भी टीम के बल्लेबाजों ने यह कारनामा पांच बार नहीं किया है। हालांकि विराट-रोहित ने लक्ष्य का पीछा करते हुए पहली बार डबल सेंचुरी की पार्टनरशिप की, इससे पहले चार बार उन्होंने पहली पारी में यह कारनामा किया था। वैसे आपको बता दें भारत की तरफ से वनडे में सबसे बड़ी साझेदारी का रिकॉर्ड सचिन तेंदुलकर और राहुल द्रविड़ के नाम है।
1. सचिन तेंदुलकर-राहुल द्रविड़ (331 रन)
क्रिकइन्फो के डेटा के मुताबिक, सचिन और द्रविड़ ने 1999 में न्यूजीलैंड के खिलाफ एक मैच में दूसरे विकेट के लिए 331 रन की साझेदारी की थी। भारत की तरफ से यह वनडे क्रिकेट की सबसे बड़ी पार्टनरशिप है। तब सचिन ने नाबाद 186 और राहुल द्रविड़ ने 153 रन बनाए थे।
2. सौरव गांगुली-राहुल द्रविड़ (318 रन)
साल 1999 में वर्ल्ड कप के 21वें मैच में भारत और श्रीलंका की टीमें आमने-सामने थीं। तब पहली पारी में सौरव गांगुली और राहुल द्रविड़ ने मिलकर 318 रन बनाए थे। इसमें 183 रन गांगुली के नाम और 145 रन द्रविड़ के नाम रहे। इन दोनों दिग्गज खिलाड़ियों की शतकीय पारी की बदौलत भारत ने 373 रन बनाए थे।
3. मोहम्मद अजहरुद्दीन-अजय जडेजा (275 रन)
1998 में एक ट्राईएंगुलर सीरीज में अजहर और जडेजा ने चौथे विकेट के लिए 275 रन की पार्टनरशिप की थी। तब अजहर के बल्ले से 153 और जडेजा ने 116 रन बनाए थे। इन दोनों बल्लेाजों के शतक के चलते भारत ने 301 रन बनाए थे।
4. सौरव गांगुली-सचिन तेंदुलकर (258 रन)
साल 2001 में केन्या के खिलाफ एक मैच में ओपनिंग में आए सौरव गांगुली और सचिन तेंदुलकर ने 41 ओवर तक मैच खेल डाला। दोनों ने पहले विकेट के लिए 258 रन की साझेदारी की जिसमें गांगुली ने 111 और सचिन ने 146 रन बनाए थे। इस शतकीय पारी की बदौलत भारत ने पहली पारी में 351 रन बनाए थे।
5. एमएस धोनी-युवराज सिंह (256 रन)
पिछले साल भारत दौरे पर आई इंग्लिश टीम के खिलाफ भारतीय बल्लेबाजों ने जमकर बैटिंग की थी। वनडे सीरीज का दूसरा मैच कटक में खेला गया। जहां धोनी और युवराज ने ताबड़तोड़ बैटिंग कर चौथे विकेट के लिए 256 रन जोड़ दिए। तब युवराज ने 150 और धोनी ने 134 रन बनाए थे। इन दोनों धुरंधर बल्लेबाजों की शतकीय पारी की बदौलत भारत 381 रन बनाने में कामयाब रहा था।
Ind vs Wi : एक ही मैच में रोहित-कोहली ने मिलकर बना दिए ये 10 रिकॉर्ड
कोहली-रोहित ने मिलकर 50 सेकेंड में मार दिए 11 छक्के, जानिए कैसे


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.