सड़क पर 300 जवानों की फौज फिर भी स्नेचर्स काट रहे मौज

2019-06-03T06:00:11+05:30

रांची:सिटी की सड़कों पर हर दिन 300 से अधिक पुलिसकर्मियों की फौज तैनात रहती है। केवल गश्त के लिए रांची पुलिस के 290 जवान हर दिन मुस्तैद रहते हैं। इसके बावजूद राजधानी में आपराधिक घटनाएं रुकने का नाम नहीं ले रही हैं। आंकड़े गवाह हैं कि पुलिस की तैनाती और सीसी कैमरों के एक्टिव रहने के बाद भी एक के बाद एक घटना को अंजाम देकर पुलिस को खुलेआम चुनौती दी जा रही है। रांची में अपराधी बेखौफ होकर लूट, छिनतई, हत्या, दुष्कर्म व चोरी की वारदात कर आसानी से निकल भाग रहे हैं और पुलिस को इसकी भनक तक नहीं लग पा रही है।

खुलेआम महिलाओं से स्नैचिंग

राजधानी रांची में बाइकर्स गैंग ताबड़तोड़ छिनतई की घटनाएं कर रहे हैं। अमूमन हर दिन बाइकर्स गैंग के अपराधी आम लोगों को अपना निशाना बना रहे हैं। छिनतई की घटनाओं में बढ़ोतरी से जहां शहर के लोग खुद को अनसेफ फील कर रहे हैं। वहीं पुलिस ऐसे अपराधियों पर नकेल कसने में नाकाम है। ज्यादातर छिनतई के मामलों में शामिल अपराधी पकड़े नहीं जा सके हैं। भुक्तभोगियों द्वारा थाने में रिपोर्ट दर्ज कराने के बाद भी पुलिस की तफ्तीश जांच से आगे नहीं बढ़ पा रही है।

हत्या के मामलों में भी इजाफा

झारखंड पुलिस के आंकड़ों पर नजर डालें तो जनवरी से लेकर मार्च तक राजधानी रांची में हत्या 43, लूट 20, चोरी 665 और दुष्कर्म की 36 घटनाएं हुई हैं। आपसी विवाद और अवैध संबंध में भी हत्या की घटनाएं बढ़ी हैं। बीते एक महीने के आंकड़ों के मुताबिक शहर में जमीन विवाद से ज्यादा आपसी विवाद और अवैध संबंध को लेकर हत्याएं हुई हैं।

नाबालिग लड़कियां महफूज नही

रांची में इन दिनों नाबालिग लड़कियां बिल्कुल भी महफूज नहीं हैं। हाल के दिनों में दुष्कर्म की जितनी भी घटनाएं हुई हैं, उसमें सबसे ज्यादा नाबालिग लड़कियों को ही दुष्किर्मियों ने निशाना बनाया है। कहीं रास्ते चलते लड़की को अगवा करके तो कहीं घर में घुसकर नाबालिग लड़कियों के साथ रेप की वारदात को अंजाम दिया जा रहा है।

हॉट स्पाट पर नहीं हो रहा काम

बता दें कि एसएसपी के निर्देश पर 15 थाना क्षेत्रों में लूट, छिनतई व क्राइम की अन्य घटनाओं को रोकने के लिए हॉट स्पॉट चिन्हित किए गए थे। ऐसे जगहों पर अलग से पुलिस बल की तैनाती भी की गई है। टाइगर मोबाइल को लगातार गश्त करने का निर्देश भी दिया गया है। इसके बावजूद अपराध रोकने में पुलिस नाकाम है। अपराधी कहीं भी किसी भी घटना को अंजाम देकर आसानी से फरार हो जा रहे हैं।

क्राइम में युवाओं की दखल अधिक

पूरे रांची में अपराध की हो रही वारदातों में युवाओं की दखल ज्यादा सामने आई है। इधर बीच हुई आपराधिक घटनाओं के खुलासों में यह साफ भी हो गया है कि उनमें युवाओं की संलिप्तता में लगातार इजाफा हो रहा है। शहर में हत्या, लूट व छिनैती की हो रही अधिकतर मामलों में युवा ही शामिल पाये जा रहे हैं।

inextlive from Ranchi News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.