सारदा चिट फंड घोटाला CBI आज दूसरे दिन कमिश्नर राजीव कुमार संग पूर्व टीएमसी सांसद से भी कर सकती है पूछताछ

2019-02-10T11:48:37+05:30

सारदा चिट फंड घोटाले में सीबीआई अधिकारी कोलकाता पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार से आज रविवार को दूसरे दिन भी पूछताछ करेंगे। इसके अलावा पूर्व टीएमसी सांसद कुणाल घोष से भी पूछताछ होगी। सूत्रों की मानें तो आज सीबीआई इनका आमनासामना करा सकती है।

शिलांग (पीटीआई)।  सारदा चिट फंड घोटाले में आज सीबीआई कई राज उगलवा सकती है। सीबीआई अधिकारी शिलांग में दूसरे दिन रविवार को भी कोलकाता पुलिस कमिश्नर से पूछताछ करेंगे। इसके अलावा आज पूर्व टीएमसी सांसद कुणाल घोष शारदा भी जांच एजेंसी सीबीआई कार्यालय में पूछताछ होगी। ऐसे में में उम्मीद है कि आज इस मामले में कई परतें खुल सकती हैं।
सीबीआई ने राजीव कुमार से करीब 9 घंटे तक पूछताछ की
सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों के अनुसार शनिवार को सीबीआई के तीन वरिष्ठ अधिकारियों ने ओकलैंड में बेहद सुरक्षित स्थान पर राजीव कुमार से इस घोटाले के अहम सबूत के साथ छेड़छाड़ में उनकी कथित भूमिका को लेकर कई सवाल दागे। सुबह करीब 11 बजे शुरू हुई पूछताछ में राजीव कुमार से करीब 9 घंटे तक पूछताछ की गई। हालांकि सीबीआई द्वारा कोई ब्रीफिंग नहीं की गई।
विशेष जांच दल की अगुवाई कर रहे थे कमिश्नर राजीव कुमार
पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार के वकील बिश्वजीत देब ने बताया कि राजीव कुमार सीबीआई के साथ सहयोग कर रहे हैं। वह सुप्रीम कोर्ट के दिए हर आदेश का पालन कर रहे हैं। राजीव कुमार पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी द्वारा चिटफंड घोटाले की जांच के लिए बनाए गए विशेष जांच दल की अगुवाई कर रहे थे। बाद में इस मामले की जांच सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई को सौंपी थी।

सीबीआई कुणाल घोष द्वारा लिए इस पत्र पर जता रही भरोसा

खबरों की मानें ताे आज कुणाल घोष और राजीव कुमार का आमना-सामना हो सकता है। सीबीआई कुणाल घोष द्वारा इडी को लिखे गए 91 पन्नों के पत्र पर भरोसा कर रही है। इस पत्र में मुख्य आरोपियों- सारदा ग्रुप ऑफ कंपनीज के प्रवर्तकों सुदीप्त सेन और देबजानी मुखर्जी के कश्मीर भाग जाने के बाद इस पोंजी घोटाले की जांच के तौर तरीकों में राजीव कुमार की भूमिका बताई गई है।  
सुप्रीम कोर्ट ने राजीव को जांच में सहयोग करने का निर्देश दिया
हाल ही में सुप्रीम कोर्ट ने राजीव को सीबीआई के समक्ष पेश होने जांच में सहयोग करने का निर्देश दिया था। कोर्ट ने यह भी कहा था कि उन्हें गिरफ्तार न किया जाए। सीबीआई अधिकारी पूछताछ करने के लिए 3 फरवरी को कोलकाता में कुमार के घर गए थे, लेकिन विफल रहे। सीएम ममता बनर्जी  सीबीआई के खिलाफ धरने पर बैठ गई थी। ऐसे में सीबीआई सुप्रीम कोर्ट पहुंची थी।

CBI vs ममता बनर्जी : सुप्रीम कोर्ट ने मांगे कोलकाता कमिश्नर के खिलाफ सबूत, कल होगी सुनवाई

CBI व केंद्र सरकार के खिलाफ ममता बनर्जी का धरना जारी, राष्ट्रपति शासन को लेकर कही ये बात


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.