सट्टा किंग ने कराई थी लईक की हत्या

2019-04-22T00:18:13+05:30

बटला हाउस के सट्टा माफिया की बेटी से थे लईक के संबंध

लईक को डरा-धमकाकर बेटी से दूर रहने की दी थी चेतावनी

गुर्गो ने सुपारी लेकर दिया लईक की हत्या को अंजाम

MEERUT। सट्टा किंग की बेटी से प्रेम संबंध युवक को भारी पड़ गए। जिसके चलते दिल्ली के सट्टा किंग ने गत 14 अप्रैल की रात दिल्ली के युवक लईक की परतापुर हाईवे पर भाड़े के शूटर्स से हत्या करा दी। सट्टा किंग ने बेटी के प्रेमी की हत्या की सुपारी शूटर्स को 10 लाख में दी थी। शनिवार को पुलिस लाइन में एसपी सिटी ने चर्चित हत्याकांड से पर्दा हटा दिया। पुलिस ने हत्या करने वाले दोनों शूटर्स को गिरफ्तार कर लिया है जबकि सट्टा किंग की तलाश में पुलिस छापेमारी कर रही है।

प्रेम संबंध में हत्या

एसपी सिटी डॉ। अखिलेश नारायण सिंह ने प्रेसवार्ता में बताया कि मवाना के गांव सठला का मूल निवासी लईक (24) पुत्र अनीस खां बटला हाउस दिल्ली में कढ़ाई का काम करता था। लईक बटला हाउस में ही सट्टा किंग ओखला निवासी तसलीम पुत्र राशिद के सट्टा कारोबार से भी जुड़ा था। कारोबारी ताल्लुक के बीच लईक और सट्टा किंग की बेटी के बीच प्रेम संबंध हो गए। जानकारी पर सट्टा किंग तसलीम ने कई बार लईक को समझाया और डराया-धमकाया भी। बावजूद इसके लईक के संबंध बरकरार रहे। एसपी सिटी ने बताया कि सट्टे का लेन-देन और बेटी के प्रेम संबंधों के चलते तसलीम ने लईक को रास्ते से हटाने का प्लान बनाया। लईक की सुपारी तसलीम ने अपने ही दो गुर्गो, नई दिल्ली जामिया नगर निवासी दानिश पुत्र मुमताज और नई दिल्ली के फ्रैंड्स कालोनी निवासी सलमान उर्फ ऐलिस उर्फ पोलाड पुत्र अलीमुद्दीन को दे दी। पुलिस के मुताबिक लईक की हत्या का सौदा 10 लाख रुपये में तय हुआ था।

सिकंदर देता रहा लोकेशन

एसपी सिटी ने कहा कि 14 अप्रैल की रात लईक अपने दोस्तों सुहैल, बाबर, कादिर व अली अब्बास निवासी बटला हाउस के साथ हापुड़ रोड पर शादी से रात तीन बजे स्विफ्ट कार से वापस दिल्ली के लिए रवाना हुए। जिसके बाद सभी पानी की बोतल खरीदने को परतापुर तिराहे पर बालाजी होटल पर रुके। शादी से होटल तक की लोकेशन दूसरी गाड़ी में चल रहा पिलखुआ निवासी मोहम्मद सिकंदर पुत्र मोहम्मद नईम फोन पर बदमाशों को दे रहा था। सुहैल व लईक गाड़ी में बैठे रहे, अन्य दोस्त होटल में गए। इसी बीच नकाबपोश बदमाशों ने लईक को गोलियों से भून डाला था।

एक तीर से दो निशाने

एसपी सिटी ने बताया कि बटला हाउस का सट्टा किंग तसलीम एक तीर से दो निशाने साधना चाहता था। तसलीम की बेटी से लईक के प्रेम संबंध थे, जबकि बटला हाउस में ही सटोरिया अनीस उसकी सल्तनत में सेंधमारी कर रहा था। कई बार दोनों का झगड़ा भी हुआ था। अनीस ने तसलीम को जान से मारने की धमकी दी थी। लईक की हत्या में अनीस को फंसा दिया जाए इसके लिए तसलीम ने दोनों शूटर्स को राजी किया। जिस पर पुलिस कस्टडी में दोनों हत्यारोपियों ने कहा कि उन्होंने अनीस के कहने पर लईक की हत्या की है। पुलिस को कहानी में झोल लगा और सख्ती से पूछताछ की तो दोनों ने स्वीकारा कि हत्या की सुपारी अनीस ने नहीं तसलीम ने दी थी। प्रेसवार्ता के दौरान इंस्पेक्टर परतापुर तपेश्वर सागर आदि मौजूद रहे।

पहचान होते ही दागे फायर

लईक की पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार उसकी गर्दन पर तमंचे से 315 और माथा व सीने पर पिस्टल से प्वाइंट 32 बोर की गोली लगी थी। पुलिस की मानें तो घटनास्थल पर हत्याकांड के दौरान करीब सात राउंड फाय¨रग हुई थी, जिसमें छह गोली पिस्टल और एक गोली तमंचे से चली थी। परतापुर इंस्पेक्टर तपेश्वर सागर ने बताया कि पिस्टल से फाय¨रग दानिश ने तो तमंचे से सलमान ने की थी। घटना के वक्त तमंचे में चली गोली का खोखा फंस जाने के कारण बदमाशों को मौके से भागना पड़ा। पुलिस ने दानिश और सलमान से पिस्टल और दो जिंदा कारतूस व तमंचा व दो जिंदा कारतूस बरामद किए हैं।

inextlive from Meerut News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.