अंधेरे वाले घरों को कागजों में रौशन होने का मिला सौभाग्य

2018-11-14T06:00:11+05:30

सैकड़ों लोगों को सिर्फ कागजों में दे दिए गए बिजली कनेक्शन

-बिल आने से परेशान उपभोक्ता कार्यालय के लगा रहे चक्कर

BAREILLY: केस 1-

करगैना के रहने वाले रामसेवक ने मार्च में बिजली कनेक्शन के लिए आवेदन किया। बिजली कर्मियों ने उन्हें एक माह में मीटर लगाने और तार खींचने का आश्वसन दिया। आठ माह बीत जाने के बाद बिजली से घर तो रौशन नहीं हुआ। हां, 1710 रुपये का बिल जरूर आ गया।

केस 2-

चौबारी निवासी रत्‍‌नाकर कुमार ने भी अप्रैल में सौभाग्य योजना के तहत कनेक्शन लिया था। बताते हैं आज तक न मीटर लगा है और न केबल और बोर्ड मिला है। इसके बावजूद 1530 रुपया बिल आ गया। पावर हाउस कई बार गया, लेकिन समस्या का समाधान नहीं हुआ।

केस 3-

करेली निवासी शकील अहमद ने मई में कनेक्शन लिया। इनके मोहल्ले में इसके साथ 40 अन्य लोगों ने भी कनेक्शन लिया। इन्होंने बताया कि एलटी लाइन लगाने की बात कही गई थी। कुछ दूर तक पोल भी लगाया गया है, लेकिन आज तक एलटी लाइन नहीं लगी। इसके बावजूद छह माह का बिल आ गया है।

बरेली:

ये तीन किस्से तो महज बानगी भर हैं। सौभाग्य योजना जरिए सैकड़ों कनेक्शन होल्डर ऐसे हैं, जिनके घर कागजों में ही रौशन हो रहे हैं। असल में उन्हें अभी तक बिजली विभाग कनेक्शन तक नहीं दे सका है। अलबत्ता, 1500 से 1700 रुपए का बिजली का बिल जरूर भेज रहा है, जिससे उनकी परेशानी बढ़ गई है। अब वह बिल माफ कराने के लिए अफसरों के चक्कर जरूर काट रहे हैं।

नंबर बढ़ाने के लिए बांटे कनेक्शन

बिजली विभाग ने सौभाग्य योजना के तहत नंबर बढ़ाने के लिए कनेक्शन बांट दिये। यही वजह है कि अभी तक तमाम नए कनेक्शन होल्डर्स के घर बिजली की आपूर्ति शुरू नहीं हो पायी है। जबकि, कनेक्शन मिलते ही बिजली आपूर्ति किए जाने का प्रावधान है। सनद 1 लाख 52 हजार 371 घरों को कनेक्शन दिए जाने का लक्ष्य है, जिसमें से 78 हजार के करीब कनेक्शन अधिकारियों ने बांटा है।

348 गांव में अभी नहीं पहुंचा है बिजली का तार-

बिजली विभाग को वित्तीय वर्ष 2018-19 में 1 लाख 52 हजार लोगों को सौभाग्य योजना के तहत कनेक्शन देने का लक्ष्य मिला है। विभागीय आंकड़ों की मानें तो अब तक 78 हजार कनेक्शन दिए जा चुके हैं, लेकिन अभी तक जिले के 348 गांव में बिजली की एलटी लाइट ही नहीं पहुंची है। वहीं 150 गांव में एचटी लाइन भी नहीं पहुंची है।

तो अगले साल मिल पाएगा बिजली

बिजली विभाग ने जिन लोगों के घरों को कनेक्शन दिया है, उनके यहां बिजली आपूर्ति अब अगले साल ही संभव होता नजर आ रहा है। क्योंकि अफसरों का कहना है कि सौभाग्य योजना के तहत बड़ी संख्या में कनेक्शन दिए जा रहे हैं। इस वजह से इक्विपमेंट की आपूर्ति नहीं हो पा रही है, जिसके चलते हर घर तक बिजली पहुंचाने में दिक्कत हो रही है।

वर्जन-

बिजली का प्रयोग किए बिना जिस उपभोक्ता पास बिल जा रहा है। उसे परेशान होने की जरूरत नहीं है। उनका बिल माफ कर दिया जाएगा। जब उनके मोहल्ले में एलटी की सप्लाई शुरू हो जाएगी और मीटर जुड़ जाएगा उसके बाद से उनसे बिल लिया जाएगा।

एसके सक्सेना,चीफ इंजीनियर, बरेली

अधीक्षण अभियंता मो। तारिक वारसी से सवाल और उनके जवाब

सवाल-नया कनेक्शन लेने के कितने दिनों बाद केबल जोड़ दिया जाता है।

जवाब-कनेक्शन लेने के तुरंत बाद आपूर्ति की जाती है। अगर किसी कारण से बिजली वहां नहीं पहुंची है तो उसे जल्द पहुंचाने का प्रयास किया जाता है।

सवाल-बीते आठ माह से उपभोक्ताओं को क्यों नहीं मिल पा रही बिजली

जवाब-काम अधिक और सामान के अभाव में बिजली की सप्लाई बाधित हो रही है। जल्द ही इसे सुधारा जाएगा।

सवाल-जब पोल और एलटी की सप्लाई नहीं है तो क्यों दिया गया कनेक्शन

जवाब-कुछ ही स्थानों पर ऐसा हुआ है, लेकिन लोग बिजली का उपयोग कर रहे। कुछ लोग बचे हैं, जिनको जल्द ही बिजली उपलब्ध करा दी जाएगी।

सवाल-अभी कितने दिन लगेगा गावों तक एलटी पहुंचने में

जवाब- दिसम्बर तक पहुंच जाएगा

inextlive from Bareilly News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.