BCCI ने यह कर दिया तो शिखर धवन ठीक होने के बाद भी वर्ल्डकप नहीं खेल पाएंगे

2019-06-13T12:24:23+05:30

आईसीसी वर्ल्डकप 2019 में टीम इंडिया के ओपनर शिखर धवन की जगह टीम में रिषभ पंत को रखने की बात चल रही है। पंत इंग्लैंड के लिए रवाना भी हो गए। मगर टीम मैनेजमेंट और सलेक्शन कमेटी पंत को लेकर एकमत नहीं हो पा रहे। जानिए क्या है असली मामला

नाॅटिंघम (पीटीआई)। आईसीसी वर्ल्डकप 2019 में चोटिल शिखर धवन की जगह टीम में कौन शामिल होगा, इसको लेकर सलेक्शन कमेटी ने रिषभ पंत का नाम सुझाया है। पंत इसके लिए इंग्लैंड रवाना भी हो गए, मगर पंत यहां कवर के तौर पर शामिल होंगे या रिप्लेसमेंट लेंगे। इसको लेकर भारतीय टीम मैनेजमेंट और सलेक्शन कमेटी के बीच मतभेद है। न्यूजीलैंड मैच से पहले टीम इंडिया के असिस्टेंट कोच संजय बांगड़ ने बताया, शिखर धवन भारतीय टीम के सबसे उपयोगी खिलाड़ी हैं। कोहली और शास्त्री चाहते हैं कि वह 6 जुलाई तक इंतजार करेंगे ताकि धवन फिट हो सकें।
एक बार रिप्लेसमेंट हुआ तो वापस नहीं आ पाएंगे शिखर

धवन के लिए भारतीय टीम मैनेजमेंट इसलिए भी इंतजार कर रहा क्योंकि एक बार शिखर को पंत से रिप्लेस कर दिया गया तो धवन अगर ठीक भी हो गए, फिर भी वर्ल्डकप नहीं खेल सकेंगे। ये आईसीसी का नियम है। ऐसे में कप्तान कोहली फिलहाल अपने 15 सदस्यों के साथ ही मैच खेलना चाहेंगे। भारतीय क्रिकेट टीम के तीन सलेक्टर एमएसके प्रसाद, देवांग गांधी और सरनदीप सिंह फिलहाल इंग्लैंड में ही हैं। सलेक्टर्स चाहते हैं वो रिषभ पंत को बतौर रिप्लेसमेंट एनाउंस करें मगर टीम मैनेजमेंट से बात करके। कोच संजय बांगड़ की मानें तो, पंत मध्यक्रम में बैटिंग कर सकते हैं और साथ ही वो लेफ्ट हैंडेड हैं। पंत को पहले ही हम स्टैंट बाई में रखे हैं। ऐसे में भारतीय टीम मैनेजमेंट सिचुएशन के हिसाब से उनका इस्तेमाल करेगी।

ICC World Cup 2019 : Ind vs NZ नहीं पूरा हो पाएगा भारत बनाम न्यूजीलैंड मैच, बारिश डालेगी खलल


इंग्लैंड में दोगुनी बारिश से रद हो रहे वर्ल्डकप मैच, ICC ने बताया क्यों नहीं रख सकते रिजर्व डे

धवन के बाएं अंगूठे में लगी है चोट
बाएं हाथ के ओपनर बल्लेबाज शिखर धवन पिछले मैच में कंगारुओं के खिलाफ चोटिल हो गए थे। तेज ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज पैट कमिंस की एक गेंद शिखर के ग्लव्स में आकर लगी जिससे उनके बाएं हाथ का अंगूठा चोटिल हो गए। ये चोट इतनी गंभीर थी कि धवन काफी परेशान हो गए। बाद में फिजियो ने धवन का दर्द दूर करने की कोशिश की। चोट के बावजूद शिखर ने इस मैच में शानदार शतक लगाया था हालांकि वह फील्डिंग करने नहीं आ सके थे। उनकी जगह जडेजा ने पूरे 50 ओवर क्षेत्ररक्षण किया था।



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.