पटना शहाबुद्दीन के राइट हैंड को थाने से 20 कदम की दूरी पर मार दी गोली

2018-09-22T01:14:45+05:30

वारदात को अंजाम देने के बाद आराम से फरार भी हो गए। दिनदहाड़े हुई वारदात से इलाके में दहशत का माहौल है। बताया जाता है कि एक बाइक पर सवार दो अपराधी काफी देर से रेकी कर रहे थे।

patna@inext.co.in
PATNA : अपराधियों में पटना पुलिस का अब खौफ नहीं रहा। अपराधी इतने बेलगाम हो गए हैं कि कोतवाली थाना से महज 20 कदम की दूरी पर ही शुक्रवार को दिनदहाड़े शहाबुद्दीन के शूटर और राइट हैंड तबरेज आलम को गोलियों से छलनी कर मौत की नींद सुला दिया। वारदात को अंजाम देने के बाद आराम से फरार भी हो गए। दिनदहाड़े हुई वारदात से इलाके में दहशत का माहौल है। बताया जाता है कि एक बाइक पर सवार दो अपराधी काफी देर से रेकी कर रहे थे। तबरेज आलम जैसे ही कोतवली थाने के पीछे अपनी गाड़ी में बैठने के लिए आया तभी अपराधियों ने उस पर गोलियों की बौछार कर दी।
नाम बदलकर रह रहा था पटना में
सूत्रों ने बताया कि तबरेज नाम बदलकर पटना के अनिसाबाद में रहता था। वह जहानाबाद का रहने वाला है। सिवान के पूर्व सांसद शहाबुद्दीन का शार्प शूटर था। घटनास्थल पर पहुंचे एसएसपी मनु महाराज ने कहा कि अपराधियों का क्लू मिल गया है। पुलिस जल्द ही अपराधियों को गिरफ्तार कर लेगी।
गोली लगते ही गिर पड़ा
प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक तबरेज सफारी गाड़ी की तरफ बढ़ रहा था तभी बाइक सवार अपराधियों ने उस पर फायरिंग कर दी। गोली लगते ही वह गिर पड़ा। पीएमसीएच ले जाते समय रास्ते में ही उसने दम तोड़ दिया। एसएसपी ने कहा कि इलाके में लगे सीसीटीवी को खंगाला जा रहा है। पुलिस ने गोलियों का खोखा बरामद किया गया है। आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है।
नमाज पढऩे आया था तबरेज
तबरेज आलम कभी शाहबुद्दीन का शार्प शूटर हुआ करता था। बिहार से लेकर झारखंड और वेस्ट बंगाल में इसने हत्या, किडनैपिंग और रंगदारी से लेकर बैंक डकैती तक की वारदातों को ये अंजाम दे चुका था। शुक्रवार को तबरेज कोतवाली थाना के ठीक पीछे व्हाइट कलर की अपनी सफारी गाड़ी को पार्क कर नमाज पढऩे गया था। वह जैसे ही अपनी गाड़ी के पास आया और गेट खोलकर अंदर बैठने जा रहा था कि म्यूजियम के साइड से एक ग्लैमर बाइक पर बैठे दो अपराधी आए और एक-एक कर लगातार तीन गोली पहले सामने से मारी। जब तबरेज रोड पर गिर गया तो फिर चौथी गोली पीछे से पीठ पर मार दी।
कई थानों की पुलिस पहुंची
घटना के बाद अपराधी अदिति कम्यूनिटी हॉल के रास्ते फ्रेजर रोड की तरफ भाग निकले। वारदात की जानकारी मिलते ही खुद एसएसपी मनु महाराज, सिटी एसपी सेंट्रल अमरकेश दारपीनेनी और एएसपी ऑपरेशन अनिल कुमार सिंह कई थानों के थानेदार मौके पर पहुंचे। खुद एसएसपी ने सफारी गाड़ी के अंदर से कई डॉक्यूमेंट्स बरामद किए।
तीन दिन पहले मिली थी धमकी
तबरेज की वाइफ शमा परवीन ने पुलिस को बताया कि तीन दिन पहले उसके पति को जान से मारने की धमकी दी गई थी। फुलवारी शरीफ के नौसा में एक ही जमीन के प्लॉट पर तबरेज के अलावा डब्लू मुखिया, फारूख आजम और अंजार खान के गुट ने अपना दावा ठोक रखा था। सभी उस जमीन पर अपार्टमेंट बनवा रहे थे। जिस पर तबरेज ने आपत्ति जताई थी।
पुलिस को दी चुनौती
मुहर्रम के मौके पर पटना पुलिस की कड़ी चौकसी को अपराधियों ने चैलेंज करते हुए हत्या के इस वारदात को अंजाम दिया। जिस तरीके से इस वारदात को अंजाम दिया गया है, उससे ये पता चलता है कि अपराधी काफी टाइम से मो। तबरेज के गतिविधियों पर कड़ी नजर रख रहे थे और लगातार रेकी कर रहे थे। रेकी के बाद ही प्लान बनाकर कोतवाली थाना के पीछे की जगह को अपराधियों ने चुना। वारदात स्थल के ठीक सामने इंडेन गैस एजेंसी है।
लंबी है क्राइम हिस्ट्र
तबरेज की बहुत बड़ी और स्ट्रांग काइम हिस्ट्री रही है। साल 2001 में इसने पटना के ही डॉक्टर रमेश चंद्र की किडनैपिंग की थी। साल 2001 में ही इसने धनबाद के निरसा में विधायक की गोली मारकर हत्या की थी। इसके बाद साल 2003 में इसने अश्वनी गुप्ता को किडनैप किया था।
वासेपुर से भी रहा है नाता
29 जनवरी 2004 को धनबाद के वासेपुर में फहीम खान के घर पर एके 47 से हमला किया गया था, उसमें भी तबरेज शामिल था। फहीम के घर पर हमला कर भागने के दौरान इनका पुलिस से इनकाउंटर हुआ था, जिसमे तबरेज का एक साथी सुल्तान अहमद मारा गया था।

35,000ft ऊंचे आकाश में किया प्‍यार का इजहार, केंद्रीय मंत्री करेंगे इस एयर होस्‍टेस से शादी

जानें क्‍यों केंद्रीय मंत्री ने केजरीवाल के लिए गाया, सांसों को सांसों में ढलने दो जरा...


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.