कर्नाटक के नाटक में गिरा बाजार कोरिया तनाव से भी डिगा एशियार्इ बाजार का भरोसा

2018-05-16T09:06:16+05:30

उत्तर कोरिया के वार्ता रद करने आैर कर्नाटक में सरकार के गठन को लेकर असमंजस का असर बाजार पर भी देखने को मिला। एक आेर एशियार्इ बाजार नुकसान के साथ बंद हुए वहीं दबाव में घरेलू शेयर बाजार पर भी नुकसान के साथ बंद हुए।

बीएसई सेंसेक्स 156 अंक और एनएसई निफ्टी 61 अंक लुढ़का
मुंबई (पीटीआर्इ)। कर्नाटक में चुनाव नतीजों के बाद बनी अनिश्चितता की स्थिति और कोरियाई प्रायद्वीप में बढ़ते तनाव से निवेशकों का भरोसा डगमगाया है। बुधवार को लगातार दूसरे दिन प्रमुख शेयर बाजारों में गिरावट आई। बीएसई का सेंसेक्स 156.06 अंक लुढ़ककर 35387.88 पर बंद हुआ। बीते दिन बड़ी उठापटक के बाद सेंसेक्स 13 अंक गिरकर बंद हुआ था। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी भी 60.75 अंक गिरकर 10741.10 पर बंद हुआ। कर्नाटक में त्रिशंकु नतीजों के बाद सरकार बनाने के लिए चल रहे जोड़-तोड़ से निवेशकों में भ्रम का माहौल है।
उत्तर कोरिया के रुख से एशियार्इ बाजार गिरे
उत्तर कोरिया ने अचानक दक्षिण कोरिया के साथ प्रस्तावित उच्चस्तरीय वार्ता को रद कर दिया है। उसने अमेरिका के साथ बहुप्रतीक्षित वार्ता से भी पीछे हटने की धमकी दी है। इससे कोरियाई प्रायद्वीप में फिर अनिश्चितता की स्थिति बन रही है। इसका असर प्रमुख एशियाई बाजारों पर देखने को मिला। जापान का निक्केई 0.44 प्रतिशत, चीन का शंघाई कंपोजिट 0.71 प्रतिशत और हांगकांग का हेंग सेंग 0.13 प्रतिशत गिरकर बंद हुआ। प्रमुख यूरोपीय शेयर बाजार भी गिरावट में कारोबार कर रहे थे
उपभोग आधारित शेयरों में दिखी तेजी
इसका सीधा असर घरेलू शेयर बाजारों पर दिखा। दूसरी ओर, अप्रैल में भारत का व्यापार घाटा बढ़कर 13.7 अरब डॉलर के स्तर पर पहुंच गया। इसने भी निवेशकों की धारणा को कमजोर किया। जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के रिसर्च हेड विनोद नायर ने कहा, 'ग्रामीण बाजार में खर्च बढ़ने से उपभोग आधारित शेयरों में तेजी देखी गई।' 3.28 प्रतिशत की गिरावट के साथ आइसीआइसीआइ बैंक सेंसेक्स का टॉप लूजर रहा। सेंसेक्स की 30 में से 19 कंपनियों के शेयर गिरावट में रहे, जबकि 11 के शेयरों में फायदा हुआ।
बैंकिंग इंडेक्स में 1.17 प्रतिशत गिरावट
बुधवार को बैंकिंग शेयरों में तेज गिरावट देखने को मिली। एक दिन पहले तिमाही नतीजे घोषित करने वाले पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) के शेयर 12.15 प्रतिशत टूट गए। पीएनबी को बीती तिमाही में 13,416.91 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ। दूसरी ओर, बीते वित्त वर्ष की चौथी तिमाही (जनवरी-मार्च) में 2,195.12 करोड़ का घाटा उठाने वाले सिंडिकेट बैंक के शेयर 12.30 प्रतिशत गिरकर बंद हुए। सेंसेक्स की 30 कंपनियों में शुमार आइसीआइसीआइ बैंक और एसबीआइ के शेयरों में क्रमश: 3.28 प्रतिशत और 2.19 प्रतिशत की गिरावट आई। बैंकिंग इंडेक्स 1.17 प्रतिशत गिरावट में रहा।
बाजार में गिरावट का दौर, जानें एसआईपी का क्‍या करें
लांग टर्म कैपिटल गेन टैक्‍स : म्‍यूचुअल फंड का रिटर्न कितना होगा प्रभावित, समझें पूरी गणित


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.