शिल्पा शेट्टी और गोविंदा को हाईकोर्ट से राहत एक चुम्मा तू मुझको उधार दे दे पर था विवाद

2019-01-31T01:01:30+05:30

1996 में रिलीज हुई फिल्म छोटे सरकार के सॉन्ग एक चुम्मा तू मुझको उधार दे दे बदले में यूपीबिहार ले ले पर था विवाद।

Shilpa Shetty Govinda Gets Relief From Jharkhand High Court
शिल्पा शेट्टी और गोविंदा को हाईकोर्ट से राहत, 'एक चुम्मा तू मुझको उधार दे दे' पर था विवाद
मुंबई (ब्यूरो): फिल्म एक्ट्रेस शिल्पा शेट्टी और एक्टर गोविंदा को झारखंड हाईकोर्ट से बड़ी राहत मिली। उनके खिलाफ पाकुड़ की जिला अदालत में चल रही कार्रवाई पर हाईकोर्ट ने रोक लगा दी है। दोनों की याचिका पर सुनवाई करते हुए जस्टिस एस चंद्रशेखर की अदालत ने निचली अदालत की कार्रवाई पर रोक लगा दी और मामले की सुनवाई मार्च में होने के आदेश दिए हैं। 
जानिए क्या है मामला बता दें कि 1996 में रिलीज हुई फिल्म छोटे सरकार के सॉन्ग एक चुम्मा तू मुझको उधार दे दे, बदले में यूपी-बिहार ले ले...को अपमानजनक बताते हुए बाल मुकुंद तिवारी नाम के शख्स ने शिकायत दर्ज की थी। जिसके बाद कोर्ट ने दोनों को समन जारी किया था।  दोनों कोर्ट में हाजिर नहीं हुए, तो उनके खिलाफ वांरट जारी कर दिया था। इस आदेश को एक्टर्स ने हाईकोर्ट में चुनौती दी और अदालत की कार्रवाई को निरस्त करने का आग्रह किया था।

मुंबई (ब्यूरो): फिल्म एक्ट्रेस शिल्पा शेट्टी और एक्टर गोविंदा को झारखंड हाईकोर्ट से बड़ी राहत मिली। उनके खिलाफ पाकुड़ की जिला अदालत में चल रही कार्रवाई पर हाईकोर्ट ने रोक लगा दी है। दोनों की याचिका पर सुनवाई करते हुए जस्टिस एस चंद्रशेखर की अदालत ने निचली अदालत की कार्रवाई पर रोक लगा दी और मामले की सुनवाई मार्च में होने के आदेश दिए हैं। 

जानिए क्या है मामला

बता दें कि 1996 में रिलीज हुई फिल्म छोटे सरकार के सॉन्ग एक चुम्मा तू मुझको उधार दे दे, बदले में यूपी-बिहार ले ले...को अपमानजनक बताते हुए बाल मुकुंद तिवारी नाम के शख्स ने शिकायत दर्ज की थी। जिसके बाद कोर्ट ने दोनों को समन जारी किया था। दोनों कोर्ट में हाजिर नहीं हुए, तो उनके खिलाफ वांरट जारी कर दिया था। इस आदेश को एक्टर्स ने हाईकोर्ट में चुनौती दी और अदालत की कार्रवाई को निरस्त करने का आग्रह किया था।

अपनी पहली मोहŽब्बत और पहले ब्रेकअप पर बोलीं शिल्पा शेट्टी

आलिया ने दोगुनी कीमत देकर यहां खरीदा फ्लैट, जानें डबल रकम देने की वजह


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.