एमपीवीएम के श्रेयस ने किया जिला टॉप

2019-05-03T06:00:04+05:30

-रिजल्ट निकलने के साथ ही डिस्ट्रिक्ट के स्कूलों में टापर खोजने की लगी रही होड़

-महर्षि पतंजलि के श्रेयस कुमार सिंह ने 490 अंक के साथ हासिल किया शीर्ष स्थान

prayagraraj@inext.co.in

PRAYAGRAJ: सीबीएसई 12वीं के नतीजे आते ही सिटी के स्कूलों में टॉपर्स खोजने की होड़ मच गई। रिजल्ट जारी होते ही सभी स्कूलों द्वारा अपने-अपने टॉपर्स को डिस्ट्रिक्ट टॉपर्स की दौड़ शमिल कराने की होड़ मची रही। बाद में सीबीएसई की ओर से डिस्ट्रिक्ट टॉपर्स के नाम एनाउंस किए गए। इसमें महर्षि पतंजलि विद्या मंदिर के श्रेयस कुमार सिंह ने बाजी मारी। श्रेयस ने जिले में सबसे अधिक 490 अंकों के साथ डिस्ट्रिक्ट टॉपर्स का ताज हासिल किया। जबकि दूसरी पोजीशन एमवी कान्वेंट स्कूल, सुलेमसराय के प्रिया सिंह ने 489 अंकों के साथ हासिल की। तीसरे स्थान की बात करें तो डिस्ट्रिक्ट में तीसरे स्थान भी स्वाती कुमारी रही। आर्मी पब्लिक स्कूल न्यू कैंट की स्वाती ने 487 अंक हासिल किए। यहां भी डिस्ट्रिक्ट के टॉप पोजीशन में ग‌र्ल्स का रुतबा कायम रहा। चौथे स्थान पर इलाहाबाद पब्लिक स्कूल के उत्कर्ष राय 486 अंकों के साथ रहे।

डिस्ट्रिक्ट पोजीशन में जमकर हुई शेयरिंग

डिस्ट्रिक्ट में पोजीशन शेयरिंग भी हुई। जिले में पांचवी पोजीशन को तीन अलग-अलग स्कूलों के स्टूडेंट्स ने आपस में शेयर किया। इसमें 485 अंकों के साथ टैगोर पब्लिक स्कूल के फैराज अहमद सिद्दीकी, आर्मी पब्लिक स्कूल न्यू कैंट के सूर्या और इलाहाबाद पब्लिक स्कूल सूबेदारगंज के शुभांकरी राय रहीं। वहीं अगर छठवीं पोजिशन की बात करें तो यहां भी वाईएमसीए सेंटेनरी स्कूल एंड कॉलेज की दीक्षा मित्तल और एयर फोर्स स्कूल बम्हरौली की दीपांशी खत्री ने 484 अंकों के साथ छठवीं पोजीशन शेयर की। सातवीं पोजीशन पर केन्द्रीय विद्यालय एयरफोर्स मनौरी की वंशिका प्राजपति और टैगोर पब्लिक स्कूल के सैयद अली ने 483 अंकों के साथ पोजीशन शेयर की। दूसरे स्कूलों में भी स्टूडेंट्स का प्रदर्शन बोर्ड परीक्षाओं के दौरान शानदार रहा। इस दौरान बड़ी संख्या में स्कूलों का रिजल्ट 100 प्रतिशत रहा।

बॉक्स

सरप्राइज रहा रिजल्ट

PRAYAGRAJ: इस बार सीबीएसई के 12वीं के रिजल्ट की सबसे खास बात रही इसका सरप्राइजिंग फैक्टर। गुरुवार सुबह तक किसी को भी इस बात की भनक तक नहीं थी कि आज सीबीएसई 12वीं का रिजल्ट आने वाला है। दोपहर में अचानक न्यूज चैनल्स पर जब इस बाबत खबर आई तो पैरेंट्स और स्टूडेंट्स रिजल्ट चेक करने में जुट गए। रिजल्ट जानने के लिए कुछ लोग साइबर कैफे की तरफ भागे तो कुछ लोगों ने अपने मोबाइल पर ही रिजल्ट चेक किया। वहीं जिनके पैरेंट्स ऑफिसेज में थे, उन्होंने वहीं पर रिजल्ट चेक कर लिया।

गोपनीय रखना था रिजल्ट

रिजल्ट की घोषणा गोपनीय रखने के पीछे सीबीएसई की खास स्ट्रैटजी थी। सीबीएसई के इलाहाबाद रीजन के अधिकारियों के मुताबिक बुधवार को पूरी रात इसकी तैयारी की जाती रही। प्लान यही बनाया गया था कि रिजल्ट डिक्लेयर होने के बाद ही लोगों को इस बारे में सूचना मिलेगी।

inextlive from Allahabad News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.