जानें कितने भारतीय खिलाड़ी नहीं चाहते वर्ल्ड कप में भारतपाक मुकाबला

2019-02-21T11:45:01+05:30

इंग्लैंड में होने वाले वर्ल्ड कप में भारतपाकिस्तान मैच को लेकर विवाद बढ़ता जा रहा है। पुलवामा आतंकी हमले के बाद कई भारतीय खिलाड़ी ऐसे हैं जो पाकिस्तान को टूर्नामेंट से ही बाहर करने की बात कह रहे। वहीं कुछ मैच न खेलने की वकालत कर रहे।

नई दिल्ली (पीटीआई)। 16 जून को भारत बनाम पाकिस्तान के बीच वर्ल्ड कप मैच खेला जाना है। ये मैच होगा या नहीं, इसको लेकर अभी तक संशय है। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड यानी बीसीसीआई शुक्रवार को बैठक कर इस पर फैसला लेगी। दरअसल पुलवामा आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान की हर तरफ आलोचना हो रही है। ऐसे में अब भारतीय क्रिकेटरों ने वर्ल्ड कप में पाकिस्तान के साथ मैच न होने की वकालत की है। इस कड़ी में हरभजन सिंह से लेकर सौरव गांगुली अैार चेतन चौहान तक का नाम शामिल है।
गांगुली ने कहा - एक मैच न खेलने से नहीं पड़ेगा फर्क
पूर्व भारतीय क्रिकेटर और कप्तान सौरव गांगुली ने बुधवार को एक निजी चैनल कार्यक्रम में पाकिस्तान के साथ किसी तरह के रिश्ते न रखने की बात कही। दादा ने कहा, 'भारत को वर्ल्ड कप में पाकिस्तान के खिलाफ नहीं खेलना चाहिए। इस बार वर्ल्ड कप में 10 टीमें हिस्सा ले रही हैं और प्रत्येक टीम एक-दूसरे के खिलाफ एक बार खेलेगी। मुझे लगता है कि भारत अगर एक मैच नहीं खेलेगा तो कोई बड़ा मसला नहीं होगा।' गांगुली ने आगे यह भी कहा, 'आईसीसी के लिए भारत के बिना वर्ल्ड कप खेलना काफी मुश्किल है लेकिन आपको पता है कि भारत के पास इतनी ताकत है वह आईसीसी पर दबाव बना सकती है।'
चेतन चौहान चाहते हैं वर्ल्ड कप से बाहर हो पाकिस्तान
पूर्व भारतीय ओपनर बल्लेबाज चेतन चौहान भी वर्ल्ड कप में भारत-पाक मुकाबला नहीं देखना चाहते। चेतन ने तो यहां तक कह दिया कि पाकिस्तान को टूर्नामेंट से बाहर कर देना चाहिए। चौहान ने बुधवार को कहा, 'वर्ल्ड कप में एक मैच न खेलने का हमारे पास कोई ऑप्शन नहीं है। या तो हम पूरा वर्ल्ड कप छोड़ दें या फिर सारे मैच खेले। हालांकि आईसीसी के ग्लोबल स्पाॅसंरशिप पर नजर डालें तो 60 से 70 परसेंट मार्केट भारत का है। ऐसे में बीसीसीआई इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल पर पाकिस्तान को ही वर्ल्ड कप से बाहर करने का दबाव बना सकती है।' उत्तर प्रदेश के खेल मंत्री चेतन चौहान ने आगे कहा, 'यकीन मानिए पाकिस्तान के बिना वर्ल्ड कप का आयोजन हो सकता है मगर भारत के बिना नहीं।'
भज्जी ने कहा था- देश पहले, खेल बाद में
16 जून को मैनचेस्टर में होने वाले भारत-पाक मैच में टीम इंडिया नहीं खेलती है तो उसे अंक गंवाने पड़ेंगे, मगर भारतीय टीम इतनी मजबूत है कि वे वर्ल्ड कप जीत सकते हैं। बता दें हरभजन ने ये बयान इसलिए दिया क्योंकि पिछले हफ्ते जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ जवानों के काफिले पर आतंकियों ने हमला कर दिया था जिसमें हमारे जवान शहीद हो गए थे। 38 साल के भारतीय गेंदबाज हरभजन सोमवार को एक कार्यक्रम में शिरकत कर रहे थे। वहां उन्होंने कहा, 'यह काफी मुश्किल घड़ी है। आतंकियों ने हमारे जवानों पर हमला किया है जोकि अविश्वसनीय और पूरी तरह से गलत है। सरकार को अब कड़े कदम उठाने होंगे। जब बात क्रिकेट की आती है मुझे नहीं लगता कि उनसे कोई संबंध रखने चाहिए, वरना वो ऐसे ही करते रहेंगे। मुझे नहीं लगता कि भारत को वर्ल्ड कप में पाकिस्तान के खिलाफ खेलना चाहिए। देश पहले आता है खेल बाद में।'
वर्ल्ड कप : भारत-पाक मैच देखने के लिए 4 लाख लोग लाइन में, स्टेडियम में सीटें सिर्फ 25 हजार
जब भारत-पाक के बीच चल रहा था युद्घ, मैदान पर खेल रहे थे वर्ल्ड कप मैच


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.