आईआईटी सीजन 6 में देश भर के स्‍टूडेंट्स ने परखी अपनी काबिलियत मिली सही दिशा

2018-08-20T03:47:17+05:30

दैनिक जागरण आई नेक्स्ट इंडियन इंटेलिजेंस टेस्ट सीजन6 का ओपन सेंटर टेस्ट रविवार 19 अगस्‍त को देश भर के 18 शहरों में आयोजित हुआ। 100 सवालों के इस टेस्ट में हुई दिमागी कसरत स्टूडेंट्स को अपने टैलेंट के आंकलन का मौका मिला। ओपन सेंटर टेस्ट के पेपर को मल्टीपल इंटेलिजेंस और स्कॉलिस्टिक एप्‍टीट्यूट मॉड्यूल में बांटा गया था।

kanpur@inext.co.in
KANPUR: दैनिक जागरण आई नेक्स्ट का इंडियन इंटेलिजेंस टेस्ट सीजन-6 के ओपन सेंटर टेस्ट का आयोजन कानपुर के पीएसआईटी समेत देश के तमाम शहरों में एक साथ कंडक्‍ट हुआ। खुद की काबिलियत परखने और करियर की राह दिखाने वाले इस टेस्ट में हजारों स्टूडेंट्स शामिल हुए। ओपन सेंटर टेस्ट में क्लास-5 से 12वीं तक के स्टूडेंट्स शामिल हुए जोकि आसपास के कई जिलों से भी आए थे। स्टूडेंट्स की इंटेलिजेंस परखने के लिए इस पेपर को मल्टीपल इंटेलिजेंस व स्कॉलिस्टिक एप्‍टीट्यूट में बांटा गया था। जिसमें कुल 100 सवालों के जवाब स्टूडेंट्स को अपनी ओएमआर शीट में भरने थे। टेस्ट में साइंस, ह्यूमैनिटीज और कॉमस तीनों स्ट्रीम के स्टूडेंट्स शामिल हुए। टेस्ट देकर निकले स्टूडेंट्स ने बातचीत में बताया कि टेस्ट देकर अपनी क्षमता का आंकलन हो गया। साथ ही यह भी पता चला कि आगे बढ़ने के लिए किस लेवल पर तैयारी करनी होगी।

स्टूडेंट्स को आल दि बेस्ट
नॉलेज पाटर्नर पीएसआईटी के साथ हो रहे आईआईटी सीजन-6 के दौरान टीचर्स ने भी संस्थान की ओर से स्टूडेंट्स को बेहतर भविष्य के लिए इनकरेज किया। इस टेस्ट के रिजल्ट्स को लेकर दैनिक जागरण आई नेक्स्ट समय समय पर आपको अपडेट देता रहेगा। आईआईटी का रिजल्ट स्टूडेंट्स को बताएगा कि वह किस क्षेत्र में बेहतर कर सकते हैं और उन्हें किस दिशा में करियर बनाने के लिए आगे बढऩा चाहिए। रिजल्ट से स्टूडेंट्स के साथ-साथ उनके पेरेंट्स की टेंशन भी दूर हो जाएगी।

टेस्‍ट को लेकर क्‍या बोले पेरेंट्स
हर पैरेंट्स का सपना बच्चे के फ्यूचर को संवारने का होता है। यदि, ऐसे में यह पता चल जाए कि आपके बच्चे का इनट्रेस्ट किस सब्‍जेक्ट की ओर है, तो उसे मोटिवेट करने में काफी आसानी रहती है। आईआईटी से मुझे कुछ ऐसा ही मिला है। - गिरिधर दास

सिर्फ बच्चों पर हर वक्त अपना ही दबाव बनाते रहना ठीक बात नहीं है। बच्चों को आईआईटी में पर्टिसिपेट कराने से उनके अंदर से एग्जाम की झिझक तो खत्म होती ही है, साथ में उनके अंदर छिपी प्रतिभा के बारे में भी पता चलता है। - शालिनी आनंद

हर पैरेंट्स को अपने बच्चे को इस टेस्ट में जरूर पर्टिसिपेट कराना चाहिए। हर जगह बात सिर्फ रुपए पैसों की ही नहीं होती है। कई बार हम मामूली से खर्च में काफी अच्छी चीजें पा लेते हैं, जिसकी कीमत का अंदाजा भी नहीं लगाया जा सकता है। - रितिका चतुर्वेदी

स्‍टूडेंट्स को अपने अंदर झांकने का मौका मिला
दैनिक जागरण आईनेक्स्ट की ओर से ऑर्गेनाइज किया गया आईआईटी सच में आपको आपकी असलियत दिखाने का काम करता है। मुझे टेस्ट में पर्टिसिपेट कर काफी अच्छा लगा। आगे भी इस टेस्ट में पर्टिसिपेट करती रहूंगी। - खुशी, स्‍टूडेंट

आईआईटी से आपको अपने अंदर झांकने का मौका मिलता है। पेरेंट्स के लिए भी अच्छा मौका है कि वो अपने बच्चे के अंदर की प्रतिभा को पहचान सकते हैं। लाइफ के लिए कुछ सोचने के बारे में काफी अच्छा मौका मिला है। - हिमनीश शर्मा, स्‍टूडेंट

मैंने इस टेस्ट में पर्टिसिपेट करने के लिए काफी तैयारी की थी। ऑब्‍जेक्टिव सवालों के जवाब हमारे सामने थे, बस सही को पहचानने की देर थी। पेपर हमारे ही स्टैंडर्ड का था। - आदित्य राज गुप्‍ता, स्‍टूडेंट

मैंने आईआईटी के लिए ऑनलाइन अप्लाई किया था। मेरा टेस्ट काफी अच्छा गया है। रिजल्ट से मुझे और पेरेंट्स को कम से कम यह पता चल सकेगा कि मेरी रुचि किसी फील्ड में है। - कवीशा, स्‍टूडेंट

सभी सब्‍जेक्ट पर आधारित सवाल थे। मुझे जिस सब्‍जेक्ट में इनट्रेस्ट है, उसके अधिकांश सवाल मैंने सॉल्व कर लिए हैं। देखते हैं कि रिजल्ट क्या आता है। - अंशिका, स्‍टूडेंट


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.