चेन स्मोकर्स सावधान जा सकती है आंखों की रौशनी स्टडी का दावा

2019-02-19T08:45:30+05:30

अधिक स्मोकिंग करने वाले लोग सावधान हो जाएं क्योंकि उनकी आंखों की रौशनी जा सकती है। एक स्टडी में इस बात का दावा किया गया है।

वाशिंगटन (पीटीआई)। बहुत ज्यादा धूमपान करने वाले लोग सावधान हो जाएं। यह लत आपकी आंखों के लिए घातक साबित हो सकती है। एक अध्ययन में आगाह किया गया है कि रोजाना 20 से ज्यादा सिगरेट पीने से आंखों की रौशनी को नुकसान पहुंच सकता है। इतने सिगरेट पीने से रेटिना में रक्त वाहिनियों और न्यूरॉन्स पर असर पड़ने का खतरा रहता है, जिससे आंखों की रोशनी कमजोर पड़ सकती है। अमेरिका की रटगर्स यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं के अनुसार, यह निष्कर्ष रोजाना 15 से ज्यादा सिगरेट पीने वाले 71 स्वस्थ लोगों और प्रतिदिन 20 सिगरेट पीने वाले 63 लोगों पर किए गए अध्ययन के आधार पर निकाला गया है।
सही कलर की पहचान नहीं कर पाते स्मोकिंग करने वाले
25 से 45 साल की उम्र वाले इन प्रतिभागियों की रंगों में भेद करने की क्षमता धूमपान नहीं करने वाले लोगों की तुलना में कमजोर पाई गई। रटगर्स के शोध निदेशक स्टीवन सिल्वरस्टेन ने कहा, 'सिगरेट के धुंए में कई ऐसे कंपाउंड होते हैं, जो स्वास्थ्य के लिए नुकसानदायक हैं।' निष्कर्षों ने संकेत दिया कि सिगरेट में न्यूरोटॉक्सिक रसायनों का सेवन करने से कलर ब्लाइंडनेस की समस्या हो सकती है। इसके साथ शोधकर्ताओं ने यह भी पाया कि बहुत ज्यादा धूम्रपान करने वालों की तुलना में स्मोकिंग ना करने वाले किसी भी कलर की पहचान अच्छे से कर सकते हैं। इसका मतलब है कि स्मोकिंग करने वालों में कलर पहचानने की क्षमता भी काम हो जाती है।

शोधकर्ताओं का दावा, एक दिन में बच्चें सिर्फ दो घंटे करते हैं माता-पिता से बातचीत और 4 घंटे चलाते हैं फोन

 


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.