सुल्तानपुर का नाम हो कुशभवनपुर गवर्नर ने सीएम को लिखा लेटर

2019-04-01T10:16:36+05:30

राज्यपाल ने सुल्तानपुर जिले का नाम बदलकर कुशभवनपुर करने के लिए मुख्यमंत्री को लेटर लिखा है।

- मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से किया अनुरोध
- विधानसभा में आ चुका है नाम बदलने का प्रस्ताव

lucknow@inext.co.in
LUCKNOW: राज्यपाल राम नाईक ने सुल्तानपुर जिले का नाम बदलकर कुशभवनपुर करने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को लेटर लिखा है। विगत 28 मार्च को मुख्यमंत्री को भेजे अपने लेटर में राज्यपाल ने लिखा कि राजपूताना शौर्य फाउंडेशन के प्रतिनिधिमंडल द्वारा मुझसे मुलाकात कर एक पुस्तक 'सुल्तानपुर इतिहास की झलक' तथा ज्ञापन दिया गया था जिसमें उन्होंने सुल्तानपुर जिले के प्राचीन इतिहास का उल्लेख करते हुए सुल्तानपुर जिले को हेरिटेज सिटी में शामिल किए जाने तथा उसका नामांतरण कर प्राचीन नाम 'कुशभवनपुर' किए जाने का अनुरोध किया है। राज्यपाल ने यह पुस्तक भी योगी को भेजी है।

विधानसभा में आया था प्रस्ताव

इससे पहले विधानसभा में सुल्तानपुर का नाम बदलकर कुशभवनपुर करने का प्रस्ताव पेश किया जा चुका है पर इस पर चर्चा नहीं हो सकी थी। सुल्तानपुर की लंबुआ सीट से भाजपा विधायक देवमणि द्विवेदी ने यह प्रस्ताव रखा था। वहीं जनवरी 2018 में सुल्तानपुर नगर पालिका बोर्ड की बैठक में भी इसका एजेंडा मंजूर किया जा चुका है। ऐसी मान्यता है कि गोमती नदी के किनारे बसे इस जिले को भगवान श्रीराम के बेटे कुश ने बसाया था। महाराज कुश का सबसे बड़ा भवन भी यहीं स्थित है जिसके चलते इस जगह का नाम कुशभवनपुर रखे जाने की मांग की जा रही है। इसका सुल्तानपुर नाम अलाउद्दीन खिलजी ने रखा था।
बदले जा चुके हैं कई नाम
योगी सरकार पहले भी कई नाम बदल चुकी है। सबसे पहले मुगलसराय जंक्शन का नाम बदलकर पंडित दीनदयाल उपाध्याय जंक्शन किया गया तो इसके बाद इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज और फैजाबाद का नाम बदलकर अयोध्या किया जा चुका है। साथ ही सूबे के कई एयरपोर्ट के नाम भी बदले गये हैं।

जिले के बाद मंडल हुआ 'प्रयागराज'


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.