Surgical Strike 2 भारतीय वायुसेना के तरकश में मिराज ही नहीं ये तीर भी हैं

2019-02-27T10:04:06+05:30

इंडियन एयरफोर्स ने 12 मिराज 2000 विमानों से जैशएमोहम्मद के ठिकानों पर हमला कर करीब 300 से अधिक आतंकियों ढेर किर दिया। मिराज एयरफोर्स को ताकतवर बनाने में खास भूमिका निभाता है। हालांकि इंडियन एयरफोर्स के तरकश में मिराज ही नहीं यह तीर भी हैं जो दुश्मन को अच्छे से भेदने का काम करते हैं

कानपुर। इंडियन एयरफोर्स ने पाकिस्तान में कल मंगलवार को 12 मिराज 2000 विमानों से जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों पर हमला कर करीब 300 से अधिक आतंकियों को मार गिराया है। एक घंटे में 2495 किलोमीटर की दूरी तय करने वाले फाइटर एयरक्राफ्ट मिराज 2000 ने पलक झपकते आतंकियों के कई लाॅन्च पैड भी तबाह कर दिए। यह बाहरी स्टेशनों पर दो  30 mm इंटीग्रल तोप और दो मैट्रा सुपर 530D मीडियम रेंज तथा आमने-सामने की लड़ाई के लिए दो R-550 मैजिक II क्लाेज कॉम्बेट मिसाइलें ले जाने में सक्षम है। वहीं अधिकारिक वेबसाइट के मुताबिक इंडियन एयरफोर्स के पास मिराज के अलावा और  सुखोई, मिराज, मिग और जगुआर जैसे भी मजबूत तीर हैं।
सुखोई-30 एमकेआई
इंडिया एयरफोर्स के बेड़े में शामिल सुखोई-30 एमकेआई काफी ताकतवर है।  यह दो सीटों और दो इंजन वाला मल्टी रोल फाइटर एयरक्राफ्ट है। सुखोई की रफ्तार 2500 किलोमीटर प्रति घंटे के हिसाब से है। सुखोई एक  X 30mm GSH गन के अतिरिक्त यह करीब 8,000 किलोग्राम के हथियारों का वजन और ढो सकता है। यह एक्टिव अथवा सेमी एक्टिव रडार या इन्फ्रा रेड होमिंग क्लोज रेंज मिसाइलों के साथ ही मीडियम रेंज में हवा से हवा में मार करने वाली मिसाइलों को भी ले जाने में सक्षम है।
मिग-29
इंडियन एयरफोर्स के तरकश में मिग-29 भी शामिल है। एयरफोर्स इसका इस्तेमाल समुद्री तटरेखा से सुदूर इलाकों पर नजर रखने के लिए करती है। यह एयरक्राफ्ट भी रुस में ही तैयार हुआ है। इसमें डबल इंजन लगे हैं। यह वन सीटर विमान भी मल्टी रोल में है। इसकी समाघाती रेंज 17 किलोमीटर है। यह विमान भी एक घंटे में करीब 2445 किलोमीटर की दूरी पूरी करता है। मिग-29 भी 30 mm की तोप के साथ ही आमने-सामने की लड़ाई के लिए चार R-60 क्लोज काॅम्बेट मिसाइल और और दो R-27 मीडियम रेंज की रडार निर्देशित मिसाइलों को ले जाने में सक्षम है।

मिग-27

इंडियन एयरफोर्स को ताकतवर बनाने में मिग-27 की भी विशेष भूमिका है। यह फाइटर एयरक्राफ्ट भी रूस में ही तैयार हुआ है। मिग-27 में एक इंजन है। यह सिंगल सीटर विमान है।  यह विमान 1700 किलोमीटर प्रति घंटे के हिसाब से दूरी तय करता है। यह 23 mm की करीब 6 तोपे रख सकता है। इसके अलावा करीब 4000 किलोग्राम के अन्य हथियार रखने की क्षमता रखता है।
मिग-21
यह विमान मिग-21 भी सिंगल इंजन वाला है। इसमें भी एक सीट है और यह भी मल्टी राेल वाला फाइटर एयरक्राफ्ट है। रूस में निर्मित हुआ मिग-21 ग्राउंड पर अटैक करने वाला एयरक्राफ्ट है। यह इंडियन एयरफोर्स बैक बोन कहा जाता है। यह 2230 किलोमीटर प्रति घंटे के हिसाब से दूरी तय करता है।यह एक बार में एक 23mm की डबल बैरल की तोपे रख सकता है। इसके अलावा आमने-सामने की लड़ाई के लिए यह चार R-60 क्लोज काॅम्बेट मिसाइल भी ले जाने में सक्षम है।
जगुआर
एंगलो-फ्रांस निर्मित जगुआर फाइटर एयरक्राफ्ट डबल इंजन वाला सिंगल सीटर स्ट्राइक फाइटर प्लेन है। मिराज की तरह यह भी काफी मल्टीरोल वाला है। यह काफी अंदर तक जाकर मार करता है। यह एक घंटे में 1350 किलोमीटर की दूरी तय कर सकता है। यह 30 mm की दो गन और 350 मैजिक CCMs रख सकता है। इसके अलावा 4750 किलोग्राम के बम और ईंधन का अतिरिक्‍त भार वहन कर सकता है।

 

Surgical Strike 2 : दुश्मन पर वार के लिए इसलिए IAF ने चुना मिराज 2000

Surgical Strike 2 : जैश के आतंकी ठिकानों पर IAF का बड़ा हमला, पाकिस्तानी सेना ने पुष्टि कर जारी की तबाही की तस्वीरें


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.