जीवन में उमंग भरने के लिए योग जरूरी

2018-05-10T07:00:10+05:30

-नालंदा में बाबा रामदेव के योग शिविर में स्वागत को उमड़े लोग

क्चढ्ढ॥न्क्त्रस्॥न्क्त्रढ्ढस्नस्न/क्कन्ञ्जहृन्: जीवन में उत्साह और उमंग भरने तथा निरोग रहने के लिए योग सबसे जरूरी है। जो लोग योग करते हैं उन्हें आगे बढ़ने से कोई नहीं रोक सकता। यह बातें योग गुरु बाबा रामदेव ने कही। उनके आने से दीपनगर स्थित जिला स्टेडियम की लम्बी-चौड़ी मैदान बुधवार की अहले सुबह योग प्रेमियों से भर गया। बाबा रामदेव निर्धारित समय सुबह 5 बजे योग स्थल पर पहुंचे। स्वामी रामदेव ने योगासन शुरू कराने से पहले शिविरार्थियों को योग-विज्ञान और मेडिटेशन के बारे में कई महत्वपूर्ण जानकारी दी। स्वामी ने बताया कि नालंदा जैसे बौद्धिक और कृषि क्षेत्र में अधिक विकास के लिए आगे कुछ करना है। शहर से 5 किमी दूरी के बाद भी शिविर में 30 हजार से अधिक लोग पहुंचे।

नालंदा का स्वरूप बदलेगा

उन्होंने बताया कि भविष्य में नालंदा का एक नया स्वरूप होगा और दुनियाभर में नालंदा का नाम आध्यात्मिक और बौद्धिक क्षेत्र के रूप में जाना जाएगा। स्वामी रामदेव ने कहा कि स्टेडियम में 10 मई को महिलाओं औरच्बच्चों के लिए विशेष योग-विज्ञान, चिकित्सा एवं ध्यान शिविर का आयोजन शाम 5 बजे से शिविर स्थल जिला स्टेडियम दीपनगर पर किया जाएगा। बीच-बीच में लोगों को खूब हंसाया और सम्पूर्ण योग, प्राणायाम कराया।

ओम से गूंजा पूरा स्टेडियम

नालंदा के इतिहास में पहली बार सुबह पांच बजे जब हजारों लोग बिहारशरीफ जिला स्टेडियम दीपनगर में बाबा रामदेव के साथ योग-आसन किए। पूरा स्टेडियम ओम-नमोकार मंत्र के जाप से गूंज उठा। भारत माता और वंदेमातरम के नारे भी गूंजे। सुबह 5 बजे जैसे ही योग कराने के लिए बाबा मंच पर पहुंचे, लोगों ने तालियों की गड़गड़ाहट से उनका स्वागत किया और मंगल दीप प्रज्ज्वलित कर माल्यार्पण किया। तत्पश्चात बाबा ने योग, प्राणायाम करना शुरू किया। बाबा ने कहा कि योग से मन में अच्छे विचार आते हैं। इसलिए हर मनुष्य को रोज योग करना चाहिए। योग से घातक बीमारियों पर काबू पाया जा सकता है। वर्तमान समय की जीवन शैली के कारण लोगों को बीमारियों ने घेर लिया है। इसलिए बीमारियों से बचने का एक मात्र उपाय योगासन है।

रोज करें बारह आसन

स्वामी रामदेव ने लोगों को 12 आसान रोज करने की सलाह दी। प्रथम दिन कपाल भाति और अनुलोम-विमोल के बारे में विस्तार से बताया। उन्होंने कहा कि योग से डायबिटीज, कैंसर और मोटापा समेत अन्य बीमारियों से छुटकारा पाया जा सकता है। हर व्यक्ति को योग के 12 आसान रोज करने चाहिए। बालक-बालिकाओं को रोजाना योग करने को कहा। योग से विद्यार्थी स्वस्थ रहेंगे साथ ही बुद्धि का विकास भी होगा। बाबा ने योग की एक से बढ़कर एक क्रियाएं की। उन्होंने लोगों से शीर्षासन, दंड आसन, प्राणायाम करावाए, लेकिन अधिकतर लोग इन क्रियाओं को नहीं कर सके। लोग आसनों से थक गए, लेकिन बाबा तेज गति से शीर्षासन और दंड आसान करते रहे, जिसे देख लोग अचंभित रहे। बाबा ने कहा कि योग को दिनचर्या का हिस्सा बनाएंगे तब ही बीमारियों से छुटकारा मिलेगा। बाबा ने कहा कि योग से बीमारी भाग जाती है। मैने देश के लाखों रोगियों को नियमित योग करा कर कैंसर जैसे रोगों से छुटकारा दिलाया है।

योग को जन-जन तक पहुंचाया

नालंदा के एमपी कौशलेन्द्र कुमार, बिहारशरीफ विधायक सुनील कुमार, पतंजलि योग समिति प्रदेश मुख्य प्रभारी अजीत कुमार, प्रदेश संरक्षक उदय शंकर प्रसाद, दक्षिण बिहार प्रभारी अरुणेश कुमार इत्यादी ने दीप प्रज्जवलित कर तीन दिवसीय योग शिविर का उद्घाटन किया। सांसद कौशलेन्द्र ने कहा कि स्वामी बाबा रामदेव जी ने योग-विज्ञान को ऊंचाइया दी है। आज पूरे विश्व में योग की धूम है। उन्होंने कहा कि बाबा ने पतंजलि के माध्यम से जो संस्कार के बीज बिहार में रखे हैं, उनका प्रतिफल नालंदा जिले के लोगों को होगा। विकास की एक नई शुरुआत होगी। बाबा रामदेव देश की जनता को जागरुक करने का सराहनीय कार्य कर रहे हैं। वे देश के उत्थान में लगातार लगे रहते हैं। मंच पर उपस्थित लोगों को बाबा रामदेव ने रुद्राक्ष की माला पहनाई।

inextlive from Patna News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.