सिडनी में भारत के नाम है सबसे बड़ा स्कोर यहां तीसरी बार बनाए 600 रन

2019-01-04T02:54:20+05:30

भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया के बीच सिडनी में खेले जा रहे चौथे और आखिरी टेस्ट में भारत ने पहली पारी 622 रन पर घोषित की। बता दें इस मैदान पर भारत का यह दूसरा सर्वश्रेष्ठ स्कोर है। आपको जानकर हैरानी होगी कि सिडनी में एक पारी में सबसे ज्यादा रन कंगारुओं ने नहीं भारत ने बनाए हैं।

कानपुर। सिडनी में खेले जा रहे सीरीज के आखिरी टेस्ट के दो दिन टीम इंडिया के नाम रहे। एक लंबे अरसे बाद भारत ने टेस्ट में 600 का आंकड़ा छुआ। भारत ने पहली पारी 7 विकेट पर 622 रन पर घोषित की। क्रिकइन्फो पर मौजूद जानकारी के मुताबिक, भारत का सिडनी ग्राउंड पर यह दूसरा हाईएस्ट टेस्ट स्कोर है। इससे पहले सौरव गांगुली की कप्तानी में भारत ने 15 साल पहले इस मैदान पर 705 रन बनाए थे और यह इस मैदान पर किसी भी टीम द्वारा बनाया सबसे बड़ा स्कोर है। यानी कि मेजबान टीम ऑस्ट्रेलिया भी भारत के इस रिकाॅर्ड को तोड़ नहीं पाई है। कंगारु टीम का सिडनी में सर्वाधिक टोटल 659 रन है जो उन्होंने 2012 में भारत के खिलाफ ही बनाया था।
तीसरी बार सिडनी में 600 पार
विराट सेना ने मौजूदा सिडनी टेस्ट में अपनी पकड़ मजबूत बना ली है। बता दें ऑस्ट्रेलिया के सिडनी में भारत ने तीसरी बार 600 का आंकड़ा छुआ है। टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलियाई जमीं पर सबसे पहली बार 600 रन साल 1986 में बनाए थे। उसके बाद साल 2004 में भारत ने 705 रन बनाए और अब भारत ने कंगारुओं के सामने 622 रन का स्कोर खड़ा कर दिया।
भारत ने कितनी बार बनाए टेस्ट में 600 या उससे ज्यादा रन
टीम इंडिया ने टेस्ट मैच की एक पारी में कुल 32 बार 600 या उससे ज्यादा का स्कोर बनाया है। इसमें सबसे ज्यादा ऑस्ट्रेलिया और श्रीलंका के खिलाफ 7-7 बार यह कारनामा किया है। भारत का टेस्ट में हाईएस्ट स्कोर 759 रन है जो इंग्लैंड के खिलाफ 2016 में बनाया गया था।

विरोधी टीम कितनी बार 600 या उससे ज्यादा रन ऑस्ट्रेलिया 7 श्रीलंका 7 इंग्लैंड 5 पाकिस्तान 5 वेस्टइंडीज 3 साउथ अफ्रीका 2 बांग्लादेश 2 जिंबाब्वे 1

72 सालों में ऑस्ट्रेलिया में शतक लगाने वाले पहले भारतीय विकेटकीपर बने रिषभ पंत

5 मैचों के बराबर गेंद अकेले पुजारा खेल गए, बना दिया विश्व रिकाॅर्ड


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.