टीम इंडिया में कौन रहेगा या नहीं इसका फैसला सलेक्शन कमेटी नहीं ये शख्स करता है

2018-10-09T09:44:49+05:30

भारतीय क्रिकेट टीम में सलेक्शन प्रक्रिया को लेकर पिछले कुछ समय से काफी विवाद चल रहा है। अब इस मामले पर नया खुलासा हुआ। पूर्व चीफ सलेक्टर रहे सैयद किरमानी ने बताया कि टीम इंडिया में कौन खिलाड़ी खेलेगा या नहीं इसका फैसला ये शख्स करता है।

नई दिल्ली (पीटीआई)। पूर्व चीफ सलेक्टर रहे सैयद किरमानी का कहना है मौजूदा सलेक्शन पैनल काफी अनुभवहीन है। एमएसके प्रसाद वाली चयन समिति भारतीय क्रिकेट टीम के कोच रवि शास्त्री और कप्तान विराट कोहली के फैसले में दखल नहीं कर पाते। पूर्व विकेटकीपर रहे किरमानी ने यह टिप्पणी तब की, जब वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट सीरीज में करुण नायर और मुरली विजय को नहीं रखने से विवाद खड़ा हो गया। नायर और विजय ने टीम में जगह नहीं मिलने पर सलेक्शन कमेटी पर सवाल उठाए थे। इनका कहना था कि प्रसाद ने उन्हें इसलिए टीम से बाहर किया क्योंकि वे अच्छा परफॉर्म नहीं कर रहे थे।
रवि शास्त्री कोच के साथ-साथ हैं मुख्य चयनकर्ता
इस विवाद पर अब सैयद किरमानी भी खुलकर सामने आ गए। किरमानी ने पीटीआई से कहा, 'अगर आप मुझसे पूछे, रवि शास्त्री कोच के साथ-साथ मुख्य चयनकर्ता भी हैं। शास्त्री टीम के कप्तान विराट कोहली और अन्य सीनियर मेंबर्स के साथ बैठकर बातचीत करते हैं कि, किसे टीम में रखा जाए और किसे बाहर किया जाए।' किरमानी मानते हैं कि शास्त्री और कोहली के सामने सलेक्शन कमेटी अनुभवहीन है और उन्हें पता है कि वह कोच और कप्तान से बहस नहीं कर सकते क्योंकि उन्हें खेल की अच्छी समझ है।
अनुभवहीन है सलेक्शन कमेटी
मौजूदा सलेक्शन कमेटी में कुल 5 सदस्य हैं इनका क्रिेकेट करियर देखें तो किसी के पास ज्यादा अनुभव नहीं रहा। मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने कुल 6 टेस्ट और 17 वनडे खेले हैं। वहीं बाकी अन्य सरनदीप सिंह ने 2 टेस्ट, 5 वनडे खेले, देवांग गांधी ने 4 टेस्ट, 3 वनडे, जतिन ने 4 वनडे और गगन खोड़ा ने सिर्फ 2 वनडे खेले हैं। अब इसी से आप अंदाजा लगा सकते हैं कि यह कमेटी शास्त्री और कोहली जैसे दिग्गजों के सामने कहां टिक पाती होगी। किरमानी कहते हैं, 'चयन प्रक्रिया में किस्मत का भी अहम रोल होता है। उदाहरण के तौर पर, मैं अपने करियर के पीक पर टीम से बाहर हो गया था।'
ऋषभ पंत के बारे में किरमानी की यह राय
टीम इंडिया के बेहतरीन विकेटकीपर माने जाने वाले सैयद किरमानी युवा विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत के बारे में अलग राय रखते हैं। उनका कहना है कि, पंत एक अच्छे बल्लेबाज हैं इसमें कोई दोराय नहीं मगर जहां बात कीपिंग की आती है उन्हें और सीखने की जरूरत है। पंत को धोनी से काफी कुछ सीखना चाहिए। एक अच्छे विकेटकीपर के लिए सबसे जरूरी है कि आपकी तेज नजर। विकेट के पीछे आने से पहले आपको अंदाजा लग जाना चाहिए कि गेंद किस दिशा में जाएगी और उसे कैसे पकड़ा जाएगा।
मैच के दौरान अपने एब्स देख रहे थे कोहली, इन 5 भारतीय क्रिकेटरों के भी हैं सिक्स पैक एब्स
हर टाइम अनुष्का के साथ रहना चाहते थे कोहली, बीसीसीआई ने किया मना


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.