टाटाबादामपहाड़ डेमू पैसेंजर की मिली सौगात

2019-01-06T06:00:51+05:30

छ्वन्रूस्॥श्वष्ठक्कक्त्र: टाटा- बादामपहाड़ डेमू पैसेंजर ट्रेन 78029/ 78030 के उद्घाटन पर कई वीवीआईपी ने ट्रेन से हल्दीपोखर तक का सफर किया। इसमें सूबे की राज्यपाल द्रोपदी मुर्मू, जमशेदपुर के सांसद विद्युत वरण महतो, पोटका की विधायक मेनका सरदार समेत रेलवे के कई आला अफसर मौजूद रहे। ट्रेन टाटानगर स्टेशन से दोपहर 3.33 बजे रवाना हुई। ट्रेन का उद्घाटन ओडिशा के बारीपदा से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से किया। टाटानगर स्टेशन में सीएम रघुवर दास, डीआरएम छत्रसाल सिंह, उपायुक्त अमित कुमार, एसएसपी अनूप बिरथरे, सीनियर डीसीएम भास्कर उप विकास आयुक्त बी माहेश्वरी, दक्षिण पूर्व रेलवे के प्रधान मुख्य काíमक अधिकारी जेके साहा, जनसंपर्क अधिकारी गीता सरकार, समेत अन्य उपस्थित थे.

107 साल बाद दूसरी ट्रेन

ट्रेन के शुभारंभ कार्यक्रम का आयोजन 2.55 बजे राज्यपाल द्रोपदी मुर्मू व मुख्यमंत्री रघुवर दास के पहुंचने के साथ प्रारंभ हुआ। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए महामहिम राज्यपाल ने कहा कि इस एकल मार्ग पर 107 वर्षों के बाद दूसरी ट्रेन का संचालन हो रहा हैं। दूसरी ट्रेन के संचालन से बदामपहाड़ जाने वाले सब्जी विक्रेताओं के साथ ही आम नागरिकों को भी इसका लाभ मिलेगा। इस रूट पर दूसरी ट्रेन के संचालन के लिए रेल मंत्रालय के साथ ही क्षेत्रीय लोगों का भी योगदान है। टाटा स्टील के कारखानों के लिए अयस्क बादाम पहाड़, गुरुमहिषानी और सुलईपत से ही आता है। राज्यपाल ने बताया कि इन क्षेत्रों से निकलने वाले लौह अयस्क से ही जमशेदपुर औद्योगिक क्षेत्र का विकास हुआ है। उन्होंने बताया कि 1910 में यह रेलवे लाइन का निर्माण किया गया था। बदामपहाड़ की दूरी शहर से 70- 80 किलोमीटर है। लेकिन यहां के लोगों का जीवन टाटानगर के बाजार पर ही निर्भर हैं.जहां से हर दिन हजारों की संख्या में सब्जी, बक री, मुर्गी आदि का व्यापार होता हैं। राज्यपाल ने कहा कि गुरुमहिषानी में माइंस है। उन्होंने कहा कि अगर रेल लाइन को क्योंझर के साथ जोड़ा जाए तो क्षेत्र के विकास को और गति मिलेगी।

जय श्रीराम के नारों से गूंजा स्टेशन

मुख्यमंत्री रघुवर दास व सांसद विद्युत वरण महतो ने जब कार्यक्रम को संबोधित किया तो लोगों ने जय श्रीराम के नारों के साथ भाषण का स्वागत किया। कार्यक्रम में राज्यपाल व मुख्यमंत्री के आने से सुबह आठ बजे से ही पुलिस कर्मियों की तैनाती कर दी गई थी। कार्यक्रम के छह घंटे पहले ही ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मी भूखे- प्यासे कार्यक्रम स्थल में डटे रहे। दोनों राज्यपाल व मुख्यमंत्री के आगमन को लेकर स्टेशन के चप्पे- चप्पे पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये गए थे। डांग स्क्वायड की मदद से मंच की सुरक्षा- व्यवस्था को जांचा गया।

डबल लाइन की कवायद में जुटे हैं सांसद

जमशेदपुर के सांसद विद्युत वरण महतो टाटा- बादामपहाड़ ¨सगल रेल लाइन को डबल लाइन बनाने की कवायद में जुटे हुए है। सांसद ने कहा कि टाटा- बादामपहाड़ लाइन को क्यूंझर होते हुए भुवनेश्वर तक डबल लाइन करने के लिए 1411 करोड़ रुपये का खर्च आएगा। रेलवे की ओर से डबल लाइन के लिए इस्टिमेट बनाया गया है। उन्होंने कहां कि डबल लाइन होने से शहर के लोगों को भुवनेश्वर या कटक जाने में काफी कम समय लगेगा। वे इस मार्ग को डबल लाइन बनाने के लिए कई वर्षों से लगे हुए हैं।

inextlive from Jamshedpur News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.