टेली कांफ्रेंसिंग से सुनी पब्लिक की परेशानी

2019-06-12T06:00:15+05:30

RANCHI : रांची में लोगों को सरकारी सुविधाएं मिलने में हो रही परेशानी का अब टेली कांफ्रेंसिंग के जरिये समाधान किया जाएगा। मंगलवार को इसकी शुरुआत भी हो गई। पहले दिन एडिशनल कलेक्टर और एसी नक्सल ने जनता की समस्याएं सुनीं। जिले से लोगों ने टेली कांफ्रेंसिंग के जरिए अपर समाहर्ता, रांची से सीधे बात की। सुबह 11 बजे से दोपहर 1 बजे तक लोगों ने राजस्व, आपदा प्रबंधन, भूमि हस्तांतरण, दाखिल खारिज से संबंधित अपनी समस्या और शिकायत अपर समाहर्ता रांची को बताई। इन समस्याओं और शिकायतों को सुनने के बाद अपर समाहत्र्ता ने फरियादियों को उन्हें आवश्यक सुझाव और निर्देश दिए।

57 लोगों को मिला आश्वासन

टेली कांफ्रेंसिंग के दौरान टोटल 57 लोगों ने अपर समाहत्र्ता से लंबित म्यूटेशन, ऑनलाइन रसीद नहीं कटने, दाखिल खारिज कराने में आ रही परेशानी व मुआवजा से जुड़ी समस्या बताई। अपर समाहर्ता ने बताया कि जिन लोगों ने शिकायत की है उसका जल्द निपटारा किया जाएगा।

अफसरों से की सीधी बात

एसी नक्सल राजेश कुमार बरवार ने भी फरियादियों की समस्या को सुना, दोपहर 2 से 4 बजे तक लोगों ने उन्हें नक्सली हिंसा, जनसंवाद, उपायुक्त के स्तर से निर्गत प्रमाण पत्र से संबंधित अपनी समस्या बताई। जिसके बाद उन्होंने इन समस्याओं के निराकरण की बात कही। रांची के विनय कुमार महतो ने उग्रवादी हिंसा से जुड़ी अपनी समस्या उनके सामने रखी तो वहीं कांके की रहने वाली आयशा राज ने इनकम सर्टिफिकेट से जुड़ी समस्या बताई। इस पर एसी नक्सल ने मौके पर ही आयशा राज के इनकम सर्टिफिकेट का स्टेटस पता किया। हेसल अनगड़ा के मुस्तफा अंसारी ने परिवार को मिली सुरक्षा को फिर से बहाल करने की उनसे मांग की।

inextlive from Ranchi News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.