फैंसी नंबरो के प्रति बढ़ती लोगों की दीवानगी

2019-04-17T06:01:01+05:30

- इसीलिए लकी नंबरों के प्रति दिल खोलकर लगाते हैं बोली

- इससे पहले भी लोग मनचाहे नंबरों के लिए लगाते रहे हैं जुगाड़

- सफल होने और किसी तरह की अड़चन से बचने के लिए लोग लेते हैं लकी नंबर

- वाहनों के नंबर लेने के लिए लोग ज्योतिषाचार्य से भी पूछते हैं लोगग

LUCKNOW: सिर्फ वीआईपी दिखने की चाहत में ही लोग फैंसी नंबरों के लिए दिल खोल कर बोली नहीं लगाते हैं, बल्कि ग्रहों के साथ अंकों के गणित को देखते हुए वाहनों पर मनचाहे नंबर हासिल करने की जुगत लगाई जाती है। वाहन खरीदने के साथ वाहन मालिक यह देखते हैं कि कौन सा नंबर उन्हें सूट करेगा और उन्हें आगे सफलता मिलेगी। कहीं कोई नंबर उनके लिए अशुभ ना हो जाए। ऐसे में लोग ज्योतिषाचार्यो से ना केवल वाहन लेने का शुभ लगन पूछते हैं बल्कि उनके लिए उसके नंबर क्या होने चाहिए, यह भी जानकारी लेते हैं।

सफलता को लगा रहे दिल खोलकर बोली

ज्योतिष के अनुसार वाहन का नंबर किसी व्यक्ति के लिए लकी होता है, तो वह दिन दूनी और रात चौगुनी तरक्की करता है। वहीं यदि किसी गलत नंबर का चयन हो जाता है तो उसे कई तरह की अड़चनों का सामना करना पड़ता है। इसी के चलते आरटीओ ऑफिस में फैंसी नंबरों की ऑनलाइन नीलामी में बोली लगाने वाले अपने लिए लकी नंबरों के लिए दिल खोलकर बोली लगाते हैं। यही वजह है कि हाल ही में 0001 के लिए बोली 11 लाख 50 हजार तक जा पहुंची।

पायलट प्रोजेक्ट के तहत शुरू हुई थी बोली

ट्रांसपोर्टनगर स्थित आरटीओ ऑफिस के कर्मचारियों के अनुसार फैंसी नंबरों की ऑनलाइन प्रक्रिया पहली बार पायलट प्रोजेक्ट की तर्ज पर राजधानी में शुरू हुई थी। उस समय अंदाजा नहीं था कि लोग इसके लिए इतनी ऊंची कीमतें लगाएंगे। कई वाहनों के लिए तो बोली इतनी अधिक लगाई कि उनमें दो पहिया क्या चार पहिया वाहन आसानी से खरीदा जा सकता हैं।

कोट

फैंसी नंबरों के लिए ही नहीं सामान्य नंबरों के लिए भी लोग कई बार सिफारिश लगाते हैं। फैंसी नंबरों के लिए तो लोग दिल खोल कर बोली लगा रहे हैं। जब से व्यवस्था ऑनलाइन शुरू हुई है तब से कुछ खास नंबरों के प्रति लोगों की दीवानगी देखने को मिल रही है।

राघवेन्द्र सिंह

एआरटीओ प्रशासन

ट्रांसपोर्टनगर

बॉक्स

मूलांक को ध्यान में रख लेते हैं नंबर

लोग अपने मूलांक या भाग्यांक को ध्यान में रखकर वाहनों के नंबर खरीदते हैं। कई बार इसके लिए लोग संपर्क भी करते हैं कि उन्हें अपने नए वाहन में कौन सा नंबर लेना चाहिए। लोग ऐसा नंबर चाहते हैं जिससे उनकी तरक्की हो।

ज्योतिषाचार्य

पंडित प्रवीण वाजपेयी

अब तक सबसे महंगे बिके नंबर

फैंसी नंबरों की ऑनलाइन नीलामी की शुरुआत यूपी 32 केएल सीरीज से हुई

नंबर धनराशि रुपये में

9000- 62,000

0001- 56 000

9999- 38500

यूपी 32 केएम

0001-115000

1111-48500

9999- 41000

यूपी 32 केपी

0001- 3,10,500

0707-1,00,000

5000- 40500

यूपी 32 केआर

0001-11,50,000

0009- 49000

0002- 15500

0999- 15500

3232 -15500

नोट अगर इन नंबरों की नीलामी नहीं लगती तो इनका बेस प्राइज 15000 हजार में ही मिल जाता।

राशि के अनुसार लेते हैं नंबर

पंडित राधे श्याम शास्त्री ने बताया कि अधिकांश लोग अपनी राशि के शुभ अंक के योग वाला नंबर ही वाहनों के नंबर में लेना पसंद करते हैं।

बॉक्स

मोबाइल और वाहन नंबर एक

आरटीओ ऑफिस के कर्मचारियों ने बताया कि कई लोग तो ऐसे हैं जिनके पास पुराने वाहनों के जो नंबर हैं वहीं वह अपने नए वाहनों पर भी चाहते हैं। वह उसे अपने लिए लकी मानते हैं। कई लोग ऐसे हैं जिनके मोबाइल के लास्ट डिजिट के चार अंक और वाहनों पर पड़े चार अंक सेम हैं।

पंडित प्रवीण वाजपेयी के अनुसार

मूलांक एक

जिस व्यक्ति का जन्म 1, 10, 19 या 28 तारीख को हुआ है, उनके लिए 1 और 9 अंक शुभ होता है। मूलांक एक में जन्म लेने वाले व्यक्ति के लिए भी यह नंबर शुभ फलदायक होगा। ऐसे लोगों को 4 और 8 अंक से दूरी बनाए रखी चाहिए।

मूलांक दो

जिनका जन्म दो, 11, 20 या 29 तारीख को हुआ है, उनके लिए नंबर 2 लकी होता है। इन्हें अंक 7 से दूर रहना चाहिए। मूलांक दो वालों को ऐसा नंबर लेना चाहिए जिसका मूलांक दो आए।

मूलांक तीन

3, 12, 21 और 30 तारीख को जन्म लेने वाले व्यक्ति का मूलांक 3 होता है। इनकेलिए अंक 3,6 और 9 लकी है। इनके वाहन का नंबर का योग 3, 6 या 9 हो तो वाहन शुभ फलदायक होता है।

मूलांक चार

4, 13, 22 और 31 तारीख को जन्म लेने वालों का मूलांक 4 होता है। इस मूलांक वाले व्यक्ति के लिए 1 और 4 अंक लकी होता है। इन लोगों को 9 के अंक से दूरी बनाए रखनी चाहिए।

मूलांक पांच

5, 14 और 23 तारीख में जन्म लेने वाले व्यक्तियों का मूलांक 5 होता है। ऐसे लोगों के वाहन का नंबर ऐसा होना चाहिए जिसका योग 5 या फिर 8 हो। 9 और 2 के योग वाले नंबरों से इन्हें दूर रहना चाहिए।

मूलांक छह

6, 15 और 24 तारीख को जन्म लेने वाले व्यक्तियों का मूलांक 6 होता है। इस मूलांक के व्यक्ति को वाहन का ऐसा नंबर लेना चाहिए जिसका योग 9 या 6 हो। 1 और 5 नंबर के योग वाले वाहन से इन्हें दूर रहना चाहिए।

मूलांक सात

7, 16 और 15 तारीख को जन्म लेने वालों का मूलांक 7 होता है। इनके लिए 7 और 2 योग वाला नंबर लकी होता है। इन्हें 1 और 9 अंक के योग वाला नंबर नहीं लेना चाहिए।

मूलांक आठ

8, 17 और 26 तारीख को जन्म लेने वाले व्यक्तियों का मूलांक 8 होता है। इनके लिए 8 और 4 योग वाला नंबर लकी होता है। 1 नंबर से इन्हें दूरी रखनी चाहिए।

मूलांक नौ

9, 18 और 27 तारीख को जन्म लेने वालों के लिए 9 और 1 अंक शुभ फलदायक होता है। ऐसे में यह अपने वाहन के 9 नंबर का योग वाले नंबर को प्राथमिकता दे सकते हैं। 1 अंक से इन्हें दूरी रखनी चाहिए।

inextlive from Lucknow News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.