फ्लिप्कार्ट को खरीदने वाली वालमार्ट कैसे बनी दुनिया की सबसे बड़ी रिटेलर

2018-05-11T11:02:41+05:30

वालमार्ट इंक ने भारत की प्रमुख ईकॉमर्स कंपनी फ्लिपकार्ट के साथ 16 बिलियन डॉलर में 77 फीसद हिस्सेदारी खरीदने के लिए पक्का सौदा कर लिया है। बुधवार को हुई इस डील के बाद सचिन बंसल ने अपनी हिस्सेदारी बेचकर कंपनी से किनारा कर लिया है। आइये जानें वालमार्ट की पूरी कहानी।

वालमार्ट की कहानी
कानपुर। अमरीकी मल्टीनेशनल कंपनी वॉलमार्ट इंक ने भारत की चर्चित ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिपकार्ट के साथ 16 बिलियन डॉलर में 77 फीसद हिस्सेदारी खरीदने के लिए पक्का सौदा कर लिया है। कंपनी के आधिकारिक वेबसाइट के मुताबिक, वालमार्ट की शुरुआत सैम वाल्टन ने 44 वर्ष की उम्र में 1962 में की थी। उन्होंने कंपनी का पहला स्टोर अमरीका में स्थित आर्कान्सा के रोजर्स में खोला था। बता दें कि वालमार्ट को बड़े लेवल तक पहुंचाने क लिए सैम ने काफी मेहनत की है। आइये कंपनी की टाइमलाइन पर एक खास नजर डालें।
1962
2 जुलाई, 1962 को सैम वाल्टन ने आर्कान्सा के रोजर्स में पहला वॉलमार्ट स्टोर खोला।
1967
कंपनी को इन पांच सालों में काफी मुनाफा हुआ। वाल्टन परिवार के पास अब 24 स्टोर्स हो गए और कंपनी की बिक्री 12.7 मिलियन डॉलर तक पहुंच गई।
1969
कंपनी आधिकारिक तौर पर वॉल-मार्ट स्टोर्स इंक के रूप में जानी जाने लगी।

1970

वॉलमार्ट ने इस दौर में खूब ग्रोथ किया। मिस्टर सैम ने 1970 में ही वॉलमार्ट को राष्ट्रीय स्तर पर पहुंचा दिया। इस समय वालमार्ट सार्वजनिक रूप से कारोबार करने वाली कंपनी बन गई।
1972
वॉलमार्ट न्यूयॉर्क स्टॉक एक्सचेंज (डब्लूएमटी) के लिस्ट में शामिल हो गया। इस समय तक कंपनी के 51 स्टोर्स हो गए और इसी साल वालमार्ट ने 78 मिलियन डॉलर की बिक्री रिकॉर्ड की।
1979
वॉलमार्ट फाउंडेशन की स्थापना की गई।

1980

वाल्टन परिवार ने वाल्टन फैमिली फाउंडेशन की स्थापना की। इस समय तक वॉलमार्ट के 276 स्टोर्स हो गए और 21,000 कर्मचारी इसमें काम करने लगे। अन्य कंपनी की तुलना में वॉलमार्ट की सालाना बिक्री में 1 बिलियन डॉलर तक पहुंच गई।
1988
वाशिंगटन के मिसौरी में पहला वालमार्ट सुपरसेंटर खोला गया और इसके सीईओ डेविड ग्लास बनाए गए।
1990
1990 तक, वालमार्ट अमरीका का नंबर 1 रिटेलर बन गया।

1994

वालमार्ट ने कनाडा तक अपने बिजनेस को बढ़ाया। वहां शुरुआत में 122 वूल्को स्टोर्स खोले गए।
1996
वालमार्ट ने चीन में अपने पहला स्टोर खोला।
2007
Walmart.com ने अपनी साइट टू स्टोर सर्विस लॉन्च की, जिससे ग्राहकों को ऑनलाइन खरीदारी करने और स्टोर में मर्चेंडाइज लेने में काफी मदद मिली।
2009
माइक ड्यूक कंपनी के सीईओ बने।
2012
वालमार्ट ने अपने 50 साल पूरे होने पर भव्य जश्न मनाया।
2015
डौग मैकमिलन ने कंपनी में माइक ड्यूक की जगह ली, वे नए सीईओ बने। इस साल कंपनी के दुनियाभर में 2.3 मिलियन कर्मचारी हो गए। कंपनी के आधिकारिक वेबसाइट के मुताबिक 2015 तक वालमार्ट के 27 देशों में 11,000 से अधिक स्टोर हो गए।
2017
जॉन फर्नर सैम क्लब के नए अध्यक्ष और सीईओ बन गए।
2018
कंपनी ने वाल-मार्ट स्टोर्स इंक की जगह वॉलमार्ट इंक अपना कानूनी नाम रखा।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.