एफ़बीआई अमरीका के बॉस्टन में चरमपंथी हमला ?

2013-04-16T11:14:08+05:30

अमरीका के बॉस्टन शहर में मंगलवार रात हुए दो धमाकों में तीन लोगों की मौत हो गई इन धमाकों में क़रीब 100 से ज़्यादा लोग घायल हुए हैं

दोनों धमाके भारतीय समयानुसार सोमवार और मंगलवार की दरम्यानी रात को लगभग 12 बजकर 20 मिनट पर बॉस्टन मैराथन रेस के दौरान हुए. उस समय अमरीका में दिन के दो बजकर 50 मिनट हुए थे.
बॉस्टन के पुलिस प्रमुख के अनुसार शहर की जानी मानी जेएफ़के लाइब्रेरी के बाहर भी एक घटना हुई है लेकिन अभी उसके कारणों का पता लगाया जा रहा है.

पहला धमाका बॉस्टन मैराथन रेस के विजेताओं के रेस ख़त्म होने वाली लाइन पार करने के लगभग दो घंटों बाद उसी लाइन के पास हुआ और दूसरा धमाका भी ठीक उसी के आस-पास कुछ सेकंडों के बाद हुआ.

इन धमाकों की जांच संघीय जांच एजेंसी (एफ़बीआई) को सौंप दी गई है. एफबीआई ने अभी शुरुआती आकलन में कहा है कि यह 'एक चरमपंथी कार्रवाई' हो सकती है.
चुकानी होगी क़ीमत
धमाकों के बाद देश को संबोधित करते हुए अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा कि बॉस्टन धमाकों के ज़िम्मेदार लोगों को इसकी क़ीमत चुकानी होगी. ओबामा ने कहा कि अभी इस बारे में कोई जानकारी नहीं है कि ये धमाके किसने और क्यों किए हैं. लेकिन जिसने भी ये किया है अमरीका उसको खोज निकालेगा.

ओबामा ने कहा,''हमलोग अभी तक नहीं जानते हैं कि ये धमाके किसने और क्यों किए हैं. लोगों को कोई नतीजा नहीं निकालना चाहिए जब तक कि हमारे पास सारे तथ्य न आ जाएं. लेकिन किसी को भी कोई ग़लतफ़हमी नहीं होनी चाहिए. हमलोग इसकी जड़ तक जाएंगे और खोज निकालेंगे कि ये किसने और क्यों किए हैं.''

ओबामा ने कहा कि इसके लिए ज़िम्मेदार व्यक्ति या गुट को इसका हिसाब देना होगा. ओबामा ने कहा कि उन्होंने सदन में दोनों प्रमुख पार्टी के नेताओं से बातचीत की है और ऐसे मामले न तो कोई डेमोक्रेट होता है न रिपब्लिकन, हर कोई सिर्फ़ अमरीकी होता है.

इन धमाकों के बाद पूरे अमरीका में सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाने के आदेश दे दिए गए हैं.

बॉस्टन मैराथन अमरीका के सबसे बड़े खेल आयोजनों से एक है. इस घटना से लोग घबराए हुए बताए जा रहे हैं. इस मैराथन में पूरे अमरीका और 90 देशों से आए क़रीब 28 हज़ार लोगों ने हिस्सा लिया था. मैराथन के रास्ते में लगभग पांच लाख लोगों ने इसे देखा था.

धमाकों के तुरंत बाद घायलों को पास लगे टेंट के भीतर ले जाया गया जिसका इस्तेमाल धावक सुस्ताने के लिए करते हैं. इसके तुरंत बाद इलाक़े में आपात सेवाएँ पहुँच गईं और इलाक़े की घेराबंदी कर ली गई है.

ओबामा ने कहा है कि इसके लिए ज़िम्मेदार लोगों को इसका हिसाब चुकाना होगा.

अपील
धमाकों के कारणों का अभी पता नहीं चल सका है. बॉस्टन के पुलिस प्रमुख इडी डेविस ने लोगों से संयम बरतने और घरों के अंदर रहने की अपील की है. उन्होंने लोगों से अपील की है कि वे एक जगह अधिक संख्या में न जमा हों.

शहर के मेयर के मुताबिक़ घायलों की जानकारी के लिए इमरजेसी हॉटलाइन सेवा शुरू कर दी गई है. टेलीविज़न चैनलों पर दिखाए गए वीडियो में साफ़ देखा जा सकता है कि धावकों के दौड़ते समय सड़क की बाईं ओर धमाका हुआ और घना धुआं छा गया.

जबकि न्यूयॉर्क शहर और आसपास के इलाक़ों में सुरक्षा इंतज़ाम बढ़ा दिए गए हैं. हर वर्ष आयोजित होने वाली बॉस्टन मैराथन में सैंकड़ों धावक भाग लेते हैं जबकि इसे देखने के लिए हज़ारों दर्शक भी पहुँचते हैं.

बॉस्टन मैराथन का इतिहास
>
बॉस्टन मैराथन दुनिया की सबसे पुरानी मैराथन में से एक है. इस बार यह इसका 117वां आयोजन था.

>फ़ुटबाल की प्रतियोगिता सुपर बॉल के बाद यह अमरीका का दूसरा सबसे बड़ा आयोजन है जिसे मीडिया में बड़े पैमाने पर जगह मिलती है.

>26.2 मील की इस दौड़ का आयोजन बॉस्टन एथलेटिक एसोसिएशन करता है.
>इस बार इस आयोजन में 28 हज़ार धावक भाग ले रहे थे, इसमें अमरीका के अलावा 90 देशों के धावक शामिल थे.

>इसे देखने के लिए हर साल क़रीब पांच लाख लोग दौड़ के रास्ते के दोनों तरफ खड़ रहते हैं.

>इस बार प्रतियोगिता के विजेताओं के लिए आठ लाख छह हज़ार डॉलर की पुरस्कार राशि रखी गई थी.

>साल 1975 में व्हील चेयर डिविजन के साथ बॉस्टन मैराथन एक प्रमुख आयोजन बन गया था.

>पिछली 25 सालों में 23 वार किसी किनियाई या इथोपियन धावक ने ही बॉस्टन मैराथन जीती है.

 

 

 

 

 

 


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.