आईफोन XS और XS मैक्‍स फोन्‍स में खूबियां ही नहीं बल्कि हैं ढेर सारी खामियां भी खरीदने से पहले जानिए जरूर

2018-10-03T08:46:07+05:30

हाल ही में भारत में लॉन्च हुए हैं ऐपल आईफोन के दो जानदार और कीमती मॉडल। यूं तो शायद ज्यादातर लोग आईफोन के नए मॉडल्‍स को खरीदना चाहते हैं क्‍योंकि उन्‍हें तो सिर्फ इनमें खूबियां ही नजर आती है खामिया नहीं। यहां हमसे जानिए ऐसी 10 वजहें जिनसे यह साफ हो जाएगा कि ये नए आईफोन आपको खरीदने चाहिए या नहीं।

कानपुर। आईफोन XS और XS मैक्‍स खरीदने के पीछे की बड़ी वजहें

1- आईफोन के इन दोनों मॉडल्स में अब तक का सबसे तेज a12 बायोनिक प्रोसेसर लगा हुआ है यानी कि स्‍मार्टफोन में स्पीड के दीवानों के लिए यह फोन दिल खुश कर देने वाले हैं।

2- आईफोन में पहली बार 6.5 इंच डिस्प्‍ले लगाया गया है। आईफोन की सीरीज में यह अब तक का सबसे बड़े आकार का फोन डिस्पले है, जो किसी भी स्‍टैंडर्ड टैबलेट से आधा इंच ही कम होगा।

3- ऐपल आईफोन के XS और XS मैक्स मॉडल में अब तक की सबसे पावरफुल बैटरी दी गई है। कंपनी का दावा है कि इन दोनों ही फोन्‍स की बैटरी सबसे ज्यादा लॉन्ग लाइफ है।

4- आईफोन के इन नए मॉडल्स में पहली बार गोल्ड कलर ऑप्शन भी उपलब्‍ध कराया गया है। सच बताएं तो यह कलर सच में दिल चुरा लेने वाला है।

आईफोन XS और XS मैक्‍स न खरीदने के पीछे की बड़ी वजहें

1- आईफोन के हाल ही में लॉन्च हुए मॉडल्स यानी आईफोन XS और XS मैक्स की कीमतें एक साल पहले लॉन्‍च हुए आईफोन एक्‍स की कीमतों से भले ही काफी ज्‍यादा हों लेकिन इन तीनों के ही फीचर्स और लुक में कोई बड़ा बदलाव नजर नहीं आता। सभी फोन्‍स कन्फिगरेशन के लेवल पर एक जैसे ही दिखाई देते हैं। नए मॉडल्‍स में सिर्फ बढ़ाई गई स्टोरेज स्पेस ही सबसे काम ही है।

2- आईफोन एक्स की तुलना में रिसेंटली लांच हुए आईफोन XS और XS मैक्स की कैमरा पावर लगभग एक-सी है। आईफोन एक्‍स और नए मॉडल्‍स द्वारा ली गई तस्वीरें बिल्कुल एक सी नजर आती हैं। दरअसल इन कैमरों की सेटिंग्स और क्‍वालिटी भी एक जैसी ही है।

3- आईफोन के इन नए मॉडल्स में 3.5 एमएम ऑडियो कनेक्टर लगाना एक नया झमेला है। आईफोन के नए मॉडल्‍स में यूजर सीधे ही अपना ईयर फोन कनेक्‍ट नहीं कर पाएंगे, बल्कि अपना ईयरफोन कनेक्‍ट करने के लिए उन्‍हें अलग से 1500 रुपए खर्च करके एक नया कनेक्‍टर खरीदना होगा, तब जाकर आईफोन से उनका ईयरफोन कनेक्‍ट हो सकेगा।

4- फोन के नए मॉडल में फास्‍ट चार्जिंग की सुविधा तो जरूर है, लेकिन कंपनी ने नए मॉडल्स के साथ फास्ट चार्जिंग एडॉप्टर नहीं दिया है। यानी अगर यूजर अपने फोन को फास्ट चार्ज करना चाहे तो उन्हें अलग से फास्ट चार्जिंग एडॉप्टर खरीदने होंगे इससे फोन की कीमत और भी ज्यादा बढ़ जाएगी।

5- आईफोन के नए मॉडल्स में मौजूद खूबियां एंड्रॉयड बेस्‍ड सैमसंग, ओप्‍पो, वनप्लस या वीवो के फ्लैगशिप मॉडल्स में भी लगभग उसी लेवल पर मौजूद हैं। सैमसंग गैलेक्सी नोट 9, गैलेक्सी S9 प्लस और वनप्लस 6 जैसे हाइटेक स्मार्टफोन के नए मॉडल वैसी ही खूबियां प्रदान करते हैं लेकिन ये फोन आपको आईफोन की तुलना में 30 से 35 हजार कम कीमत में मिल जाएंगे।

6- अगर नए आईफोन मॉडल्‍स में से किसी फोन की डिस्प्ले स्क्रीन टूट जाए, तो उसे ठीक कराने के लिए आपको करीब ₹25000 खर्च करने होंगे वहीं दूसरी ओर अगर आपके आई फोन का बैक ग्लास टूट जाए तो उसे ठीक कराने में तकरीबन ₹40000 का खर्चा आएगा। इस भारी भरकम खर्चे के रिस्‍क को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता।

यह सभी इम्पॉर्टेंट प्वाइंट्स पढ़कर आप जान ही गए होंगे कि अब आपको आईफोन्‍स के यह नए मॉडल खरीदने चाहिए या कोई दूसरा फोन खरीदने में ही समझदारी है।

झूमकर चलेगा आपके घर का वाईफाई, अगर अपनाएंगे ये 5 टिप्‍स

गूगल ला रहा है ऐसी टैबलेट जिसमें होंगे 2 ऑपरेटिंग सिस्‍टम, विंडोज 10 का भी होगा साथ

हाथ से टाइपिंग करना भूल जाइए... बोलकर अपनी भाषा में कीजिए टाइप, ये ऐप्‍स दिल खुश कर देंगी


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.