दो साल से रजिस्ट्रेशन फेल फिर भी चल रहा इलाज का खेल

2019-04-19T06:01:05+05:30

RANCHI: राजधानी में बिना लाईसेंस के धड़ल्ले से हॉस्पिटल और पॉली क्लिनिक का कारोबार चल रहा है। वहां मरीजों की जान से खिलवाड़ कर उनसे भारी भरकम रकम भी वसूली जा रही है। इसमें सिटी के कई बड़े हॉस्पिटलों के अलावा छोटे-बड़े क्लिनिक भी शामिल हैं, जिसका क्लिनिकल इस्टैबलिस्मेंट एक्ट के तहत लाईसेंस फेल हो चुका है। इसके बावजूद स्वास्थ्य विभाग ऐसे संस्थानों पर कार्रवाई नहीं कर रहा है। आरटीआई से मांगी गई जानकारी में इसका खुलासा हुआ, जहां कई हॉस्पिटलों का लाईसेंस दो साल पहले ही खत्म हो गया है। इसके बावजूद वहां पर धड़ल्ले से मरीजों का इलाज जारी है।

दो साल से बिना लाईसेंस मरीजों का इलाज

सिविल सर्जन आफिस से आरटीआई में दी गई जानकारी में बताया गया है कि राजधानी में हॉस्पिटल, पॉली क्लिनिक, डेंटल क्लिनिक, पैथोलॉजी, एक्सरे को मिलाकर सैकड़ों संस्थान हैं, जिसमें से कई का लाईसेंस 2017 और 2018 में फेल हो चुका है। इसके बावजूद वहां पर मरीजों का इलाज किसके परमिशन से चल रहा है कोई बताने को तैयार नहीं है। वहीं विभाग ने भी इस मामले में चुप्पी साध रखी है।

एक ही डेट में रिन्युअल किया लाइसेंस

सिटी के सैकड़ों हॉस्पिटलों का लाईसेंस एक्सपायर हो चुका था। ऐसे में हेल्थ डिपार्टमेंट ने आनन-फानन में उनका लाईसेंस रिन्युअल तो कर दिया। लेकिन उसमें भी विभाग ने उन सभी हॉस्पिटलों का एक ही दिन में लाईसेंस जारी कर दिया। ऐसे हॉस्पिटलों और क्लिनिक की संख्या 100 से अधिक है। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि कैसे चुनिंदा हॉस्पिटलों को छोड़कर विभाग के अधिकारियों ने बड़े हॉस्पिटलों और पॉली क्लिनिक पर विशेष ध्यान दिया। इसके अलावा सबसे चौंकाने वाली बात यह है कि अधिकतर हॉस्पिटलों को एक ही डेट में लाईसेंस रिन्युअल कर दिया गया। वहीं उनका एक्सपायरी डेट भी लगभग एक ही है।

इनका फेल हो गया रजिस्ट्रेशन

सेंटेविटा हॉस्पिटल, एचबी रोड : 28.02.2018

देबुका नर्सिग होम, लालपुर : 30.11.2018

सिटी ट्रस्ट हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर, पिस्का मोड़ : 31.10.2018

हिल व्यू हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर, बरियातू : 31.03.2018

ब्रेन एंड स्पाइन ट्रामा सेंटर, लालपुर : 31.01.2018

हेल्थ प्वाइंट हॉस्पिटल, बरियातू : 30.09.2018

रांची एक्सरे, स्टेशन रोड : 30.06.2018

दृष्टि दान आई क्लिनिक, थड़पखना : 31.01.2018

हेल्थ प्लस, मोरहाबादी : 31.12.2017

रेटिना क्लिनिक, लालपुर : 30.11.2017

रेडियम कैंसर हॉस्पिटल, कांके रोड : 30.11.2017

निक्की नेत्रालय, रेडियम रोड : 31.12.2017

द सेवेन पाम हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर, कटहल मोड़ : 28.02.2017

लाइफकेयर डायग्नॉस्टिक, चुटिया : 31.08.2018

वातसल्य चिल्ड्रेन एंड डेंटल हॉस्पिटल, हिनू : 31.01.2018

शौर्या चिल्ड्रेन हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर, हेहल : 31.08.2018

डॉ.कुमकुम क्लिनिक, बरियातू रोड : 30.04.2018

आसरा बेबी एंड चाइल्ड केयर, चर्च रोड : 30.06.2018

नागेश्वरी डायग्नॉस्टिक सेंटर, बरियातू : 30.09.2018

नाथ हॉस्पिटल, कडरू मेन रोड : 31.12.2018

डॉ.भगत डेंटल क्लिनिक एंड रिसर्च सेंटर, कचहरी चौक : 30.11.2018

डॉ लाल पैथ लैब, बरियातू रोड : 31.12.2018

न्यू बॉर्न एंड चाइल्ड केयर सेंटर, हरमू हाउसिंग कॉलोनी : 31.12.2018

inextlive from Ranchi News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.